Breaking News
अल्मोड़ा जीबी पंत राष्ट्रीय हिमालयी पर्यावरण एवं सतत विकास संस्थान में ऑनलाइन मौन पालन प्रशिक्षण शुरू

जीबी पंत में 10 दिवसीय मौन पालन प्रशिक्षण शुरू

अल्मोड़ा। गोविंद बल्लभ पंत राष्ट्रीय हिमालयी पर्यावरण एवं सतत विकास संस्थान के इनविस केंद्र में हरित कौशल विकास कार्यक्रम शुरू किया गया। इसके तहत वन्य मौन पालन और प्रसंस्करण का ऑनलाइन प्रशिक्षण प्रारंभ हुआ। मंगलवार से शुरू हुए इस दस दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में उत्तराखंड के दस जिलों से तीस चयनित प्रशिक्षणार्थी शामिल हैं ।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डा. एसी तिवारी ने वन्य मौन पालन एंव प्रसंस्करण प्रशिक्षण कार्यक्रम को ग्रामीण समुदायों की आजीविका संवर्धन एवं जैव विविधता संरक्षण के लिए एक प्रमुख कार्यक्रम बताया। उन्होंने वनों से प्राप्त होने वाले अकाष्ठीय जैव संसाधन उत्पादों एवं उनके मूल्य संर्वधन से आजीविका के विकल्पों की भी जानकारी दी। प्रशिक्षण में स्पर्धा संस्था अल्मोड़ा के दीपक बिष्ट ने मौन पालकों को मौन पालन की तकनीकी के बारे जानकारी दी। वह स्थानीय स्तर पर भी मौन पालकों को लंबे समय से मौन पालन की तकनीक की जानकारी देते आ रहे है।

संस्थान के निदेशक किरीट कुमार ने कहा कि इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्​देश्य जहां युवाओं को स्वरोजगार के लिए प्रेरित करना है वहीं कौशल विकास के माध्यम से जीवनयापन के नए आयाम देने का प्रयास है। प्रशिक्षण संयोजक व इनविस केंद्र के प्रभारी वैज्ञानिक डा. गिरीश नेगी ने स्लाइड शो के माध्यम से मौन पालन में बरती जाने वाली विभिन्न प्रकार की सावधानियों सहित उससे आय अर्जित करने के बारे में विस्तार से बताया।

इससे पूर्व प्रशिक्षण कार्यक्रम का उदघाटन मुख्य अतिथि राजकीय मौन पालन केंद्र ज्योलीकोट नैनीताल के निदेशक डा. एचसी तिवारी, जीबी पंत संस्थान के निदेशक किरीट कुमार एवं पंतनगर विश्वविद्यालय के प्रो. प्रमोद मल्ल ने किया। कार्यक्रम में इनविस केंद्र के डा. महेशानंद, डा. रविद्र जोशी, कमल किशोर, हिमांशु बरगली, विजय बिष्ट सहित संस्थान के वैज्ञानिक व कर्मचारी मौजूद रहे।

Check Also

दो अक्टूबरः कांग्रेस ने जयंती पर गांधी-शास्त्री को किया याद

🔊 इस खबर को सुने अल्मोड़ा। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री …