Breaking News

अल्मोड़ा: डायट में स्कूल रीडीनेस प्रशिक्षण आज से शुरू, स्कूलों में इस तिथि से होगा शुरू

अल्मोड़ा। जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान में निपुण भारत मिशन के अंतर्गत शिक्षकों का स्कूल रीडीनेस प्रशिक्षण आज से शुरू हो गया है। मुख्य शिक्षा अधिकारी सुभाष चंद्र भट्ट ने शुभारंभ अवसर पर अपने संबोधन में कहा कि नई शिक्षा नीति के अंतर्गत निपुण भारत के तहत स्कूल रेडीनेस के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए शिक्षा अधिकारियों व शिक्षकों को पूर्ण मनोयोग वह तत्परता से कार्य करने की आवश्यकता है।

डाइट प्राचार्य डॉ राजेंद्र सिंह ने कहा कि शिक्षकों को इस कार्यक्रम में बच्चों को शत प्रतिशत लाभ पहुंचाया जाए। जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक सत्यनारायण ने कहा कि निपुण भारत के तहत संचालित कार्यक्रम को जन-जन तक पहुंचाने की आवश्यकता है।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के अंतर्गत डाइट अल्मोड़ा में स्कूल रीडीनेस कार्यक्रम आरोही एवं हंड्रेड डेज रीडिंग कंपेन अभियान चलाया जा रहा है। आरोही कार्यक्रम के जिला समन्वयक डॉ. हेम जोशी ने कहा कि बाल वाटिका में प्रवेश करने वाले एवं कक्षा एक में नवप्रवेशी बच्चों के लिए 90 दिनों का यह कार्यक्रम सीखने पढ़ने और लिखने की बुनियादी दक्षताओं को प्राप्त करेगा। इसी प्रकार नई शिक्षा नीति 2020 में 100 दिन के पढ़ने के अभियान को भी 1 अप्रैल से जनपद के सभी विद्यालयों में संचालित किया जाएगा।

इस कार्यशाला में एससीईआरटी उत्तराखंड देहरादून के राज्य समन्वयक डॉ केएन बिजलवान ने नई शिक्षा नीति के प्रमुख बिंदुओं पर प्रकाश डाला। डॉ. बिजलवाण ने कहा कि बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए उनकी मूलभूत भाषाई एवं संख्या ज्ञान के कौशलों पर अध्यापक एवं अभिभावक दोनों को ध्यान देने की आवश्यकता है।

कार्यक्रम के मुख्य संदर्भदाता डॉ. हेम चन्द्र जोशी, डॉ. दीपा जलाल, डॉ. बी.सी पाण्डेय, जी. जी गोस्वामी, एमएस भंडारी, जीएस गैड़ा , डॉ. हरीश चंद्र जोशी, चंपा देवली तथा इस कार्यक्रम में खंड शिक्षा अधिकारी श्याम सिंह बिष्ट, विनय कुमार आर्य, पुष्कर लाल टम्टा, भारत जोशी, तारा सिंह, डीके आर्य, हिमांशु नौगाई, विकास खंडों के 54 संकुल प्रभारियों व प्रत्येक संकुल से एक शिक्षक सहित कुल 108 शिक्षकों द्वारा प्रतिभाग किया गया।

इस कार्यक्रम में ईपीएफ के लोकेश ठाकुर, संदीप, डाइट के पुष्पा बोरा, एल. एम पांडे, अशोक बनकोटी, अदितीय, शिवा सैनी, अभिनव दीपक, नृपेंद्र, सुनीता, राजेंद्र कुमार आदि ने कार्यक्रम में सहयोग किया। कार्यक्रम का संचालन डॉ हेम जोशी और डॉ वी. सी. पांडे ने संयुक्त रुप से किया।

Check Also

कुमाऊं में दिल दहला देने वाली वारदात, 12वीं के छात्र को चाकू से गोदा, जान बचाने को दौड़ता रहा छात्र

🔊 इस खबर को सुने इंडिया भारत न्यूज डेस्क: देवभूमि उत्तराखंड में आपराधिक घटनाओं में …