Breaking News

पद्मश्री बसंती बहन बोली- समाज को नशे से मुक्त करने का संघर्ष उत्तराखंड के लिए आवश्यक.. लोगों से की यह अपील

अल्मोड़ा। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य पर उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी की महिला शाखा की ओर से ‘साधारण महिलाएं-असाधारण अनुभव’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में पद्मश्री बसंती बहन ने भी शिरकत की। इस दौरान बसंती बहन समेत समाज एवं जन आंदोलनों में योगदान ​देने वाली महिलाओं को स्मृति चिन्ह व शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया।

पद्मश्री बसंती बहन ने अपने संबोधन में कहा कि समाज को नशे से मुक्त करने का संघर्ष उत्तराखंड के लिए आवश्यक है। समाज को नशा मुक्त करने के हर अभियान को उनका सक्रिय समर्थन रहेगा। बसंती बहन ने अपने जीवन के अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि पिथौरागढ़ के एक गांव से लक्ष्मी आश्रम कौसानी व उनके साथ ग्रामीण क्षेत्र में काम करते हुए उन्होंने शिक्षा, पर्यावरण, महिला सशक्तिकरण व नदियों को बचाने के अभियानों में हिस्सा लिया। उन्होंने युवा पीढ़ी व समाज से समाज को नशा मुक्त करने परिवार व समाज में सामंजस्य के साथ परिवर्तन के अभियान में शामिल होने की अपील की।

इस मौके पर उपपा के केंद्रीय अध्यक्ष पी.सी तिवारी ने कहा कि घर परिवार, समाज व अपने अधिकारों के लिए सत्ता से भी टकराने वाली साधारण महिलाओं के असाधारण अनुभवों से आज की सामाजिक, राजनीतिक परिस्थितियों को बदलने की ताकत मिल सकती है।

कार्यक्रम में नशा नहीं रोजगार दो आंदोलन व उत्तराखंड राज्य निर्माण के लिए, हिमालयन कार रैली रोकने में जेल जाने वाली प्राध्यापिका डॉ. रेखा जोशी ने कहा कि लैंगिग विभेद की जड़ें हमारे परिवार व समाज में हैं। जिसे बदलने के लिए घर परिवार समाज व राजनीति में महिलाओं की निर्णायक भूमिका प्राप्त करने हेतु भी आगे बढ़ना होगा।

शिक्षिका दीपा तिवारी ने कहा कि अच्छी व बुरी स्थितियां हर व्यक्ति के जीवन में आती रहती हैं यदि हम दृढ़ता, धैर्य एवं साहस से उनका सामना करते हैं तो उससे व्यक्ति व समाज को बदलने का रास्ता मिलता है। हेमलता तिवारी ने गिर्दा के साथ जिए अपने अनुभवों को बांटते हुए कहा कि उत्तराखंड के आंदोलन में रचना व संघर्ष ने उन्हें समाज को समझने की नई दृष्टि दी। इसके अलावा जया जोशी, कृतिका, दिव्या, प्रेम समेत अनेक वक्ताओं ने अपने विचार रखें।

इस मौके पर विहान सांस्कृतिक संस्था के कलाकारों ने इस कार्यक्रम में जनगीत व महिला आंदोलन से जुड़े कार्यक्रम प्रस्तुत किए। विहान सांस्कृतिक संस्था की प्रमुख ममता वाणी को भी सांस्कृतिक क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए उन्हें सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता उपपा की केंद्रीय सचिव आनंदी वर्मा व संचालन उत्तराखंड छात्र संगठन की भारती पांडे व हेमा कांडपाल ने संयुक्त रूप से किया। कार्यक्रम में उत्तराखंड छात्र संगठन की दीक्षा सुयाल, सरिता मेहरा, मीना देवी, गोपाल राम, हीरा देवी, एड. वंदना कोहली, सुनीता, हिमानी जोशी, आशा शर्मा, जया जोशी, चंपा सुयाल, राजू गिरी, गिरधारी कांडपाल, नीता टम्टा, भावना मनकोटी, लीला आर्य, हेमा पांडे, सिमरन नेगी, किरन, चंद्रा देवी, हरीश राम, अमीनुर्रहमान, भावना जोशी, बलवंत नगरकोटी, दीपांशु पांडे, मंजू पंत, ज्योति, गंगा पांडे, मोनिका तुहिन तिवारी, प्रेम कुमार, दिव्या अधिकारी, अंजली तिवारी, ईशा बिष्ट, ममता वाणी, अमित बुधोरी समेत अनेक लोग मौजूद थे।

Check Also

उक्रांद ने मुजफ्फरनगर कांड के शहीदों को किया याद, दोषियों को सजा नहीं मिलने पर कही यह बात

🔊 इस खबर को सुने अल्मोड़ाः उक्रांद एवं राज्य आंदोलनकारियों द्वारा रविवार को गांधी पार्क …