Breaking News

राज्यपाल का अल्मोड़ा दौरा, अफसरों संग बैठक कर इन बातों पर दिया जोर

अल्मोड़ा। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेवानिवृत्त) बुधवार को अल्मोड़ा पहुंचे। यहां सर्किट हाउस में उन्होंने अधिकारियों के साथ बैठक की। इस दौरान राज्यपाल ने अधिकारियों से जिले की ज्वलंत समस्याओं की जानकारी ली और उनके समाधान को लेकर अधिकारियों को निर्देशित किया।

बैठक में मौजूद जिलाधिकारी वंदना, प्रभारी एसएसपी अमित श्रीवास्तव, प्रभागीय वनाधिकारी महातिम यादव, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. आर.सी पंत व सीडीओ नवनीत पांडेय मौजूद रहे। इस दौरान राज्यपाल ने डीएम से जिले के विभिन्न विभागों के अंतर्गत संचालित विकास योजनाओं की प्रगति व चुनौतियों की जानकारी ली। साथ ही नगर की ज्वलंत समस्या पेयजल के लिए प्रशासन की ओर से किए जा रहे प्रयासों के बारे में जाना। राज्यपाल ने डीएफओ महातिम यादव ने वनाग्नि की घटनाओं को लेकर जानकारी ली।

 

राज्यपाल गुरमीत सिंह ने सर्किट हाउस में भूतपूर्व सैनिकों के साथ बैठक कर उनकी समस्याएं सुनी। इस दौरान रेडक्रॉस सोसायटी के सदस्यों ने राज्यपाल को पुष्प गुच्छ भेंट कर उनका स्वागत किया। राज्यपाल ने सर्किट हाउस में लगाये गए महिला स्टालों का भी अवलोकन किया।

इस दौरान मीडिया से बातचीत में ले. जनरल गुरमीत सिंह (सेवानिवृत्त) ने कहा ​जिले में पेयजल की समस्या व वर्तमान में वनाग्नि की घटना मुख्य समस्या है। राज्यपाल ने कहा कि प्रशासन द्वारा पेयजल की समस्या का समाधान ढूंढ लिया गया है। जल्द ही इस समस्या का निदान कर दिया जाएगा। वही, जंगलों में सामने आ रही वनाग्नि की घटनाओं पर चिंता जताते हुए राज्यपाल ने कहा कि वरदान स्वरूप पहाड़ के लोगों को जंगल मिले है। इसलिए सामाजिक भागीदारी के तहत लोगों को वनाग्नि की घटनाओं से निपटने को आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा कि वन विभाग भी वनाग्नि को लेकर ​अपनी जिम्मेदार का निर्वहन भलीभांति कर रहा है।

वही, पलायन को लेकर भी राज्यपाल ने चिंता जाहिर की। राज्यपाल ने कहा कि अल्मोड़ा जिले से कई लोग रोजी रोटी, व्यवसाय व अलग—अलग कार्यों के चलते यहां से पलायन कर चुके है। जबकि जिले में पर्यटन, कृषि समेत अन्य क्षेत्रों में रोजगार की अपार संभावनाएं है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि वह अपनी मातृभूमि की ओर वापस लौटे और स्वरोजगार अपनाये।

राज्यपाल ने कहा कि आज महिलाएं भी स्वरोजगार की ओर तेजी से बढ़ रही है और आज यहां आकर उन्हें ऐसी महिलाओं से मिलकर बेहद खुशी हुई। जिन्होंने न सिर्फ स्वरोजगार अपनाया है बल्कि हर साल अपनी आय को दोगुनी करने का संकल्प भी लिया है। राज्यपाल ने कहा कि ऐसी उन्नत महिलाएं इस डिजिटल दौर में कैसे अपने स्वरोजगार की ब्रांडिंग, पैकेजिंग व डिजिटल मार्केंट तैयार कर सके, इस संबंध में अधिकारियों को महिलाओं को तैयार करने को लेकर निर्देशित किया गया है।

Check Also

दो अक्टूबरः कांग्रेस ने जयंती पर गांधी-शास्त्री को किया याद

🔊 इस खबर को सुने अल्मोड़ा। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री …