Breaking News

सांस्कृतिक नगरी पहुंचने पर विश्वनाथ जगदीशिला डोली यात्रा का हुआ भव्य स्वागत, ये है यात्रा का उद्देश्य

अल्मोड़ा। विश्वनाथ जगदीशिला डोली यात्रा सांस्कृतिक नगरी अल्मोड़ा पहुंची। प्रसिद्ध चितई ग्वल गोल्ज्यू देवता मंदिर में स्थानीय लोगों ने फूल मालाओं से यात्रा का भव्य स्वागत किया। इसके बाद यात्रा सिद्धनौला से मुख्य बाजार होते हुए ऐतिहासिक नंदोदवी मंदिर पहुंची। यात्रा संयोजक पूर्व मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी डोली यात्रा की अगुवाई कर रहे है।

यात्रा संयोजक पूर्व कैबिनेट मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी (Former cabinet minister minister Prasad Naithani) ने कहा कि यात्रा विगत 23 वर्षों से संचालित की जा रही है। इसका मुख्य उद्देश्य इस यात्रा का मुख्य उद्देश्य विश्व में शांति की कायम रखना व देवसंस्कृति को जिंदा रखना है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड तीर्थाटन प्रदेश बने इसके लिए 1 हजार शक्तिपीठों के चिन्हीकरण, एक हजार संस्कृत विद्यालय व ध्यान केंद्र बनाने का संकल्प है।

यात्रा की शुरुआत टिहरी जिले के विकासखंड भिलंगना के ग्यारह गांव हिंदाव के विशौन पर्वत से हुई है। जगदीशिला डोली विभिन्न पड़ावों से होकर प्रदेशभर में भ्रमण कर रही है। बता दे कि कोरोना वायरस संक्रमण के चलते विश्वनाथ जगदीशिला यात्रा दो साल से नहीं हो पाई थी।

विश्वनाथ जगदीशिला डोली यात्रा में गंगा जोशी, प्रताप सिंह सत्याल, जंग बहादुर थापा, पूरन रौतेला, गणेश सिंह बिष्ट, नवीन चंद्र जोशी, नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी, सचिन टम्टा, प्रकाश रावत, पंकज वर्मा, नगर व्यापार मंडल अध्यक्ष सुशील साह, व्यापार मंडल उपाध्यक्ष प्रतेश कुमार पांडे, रेड क्रॉस सोसाइटी के अध्यक्ष मनोज सनवाल, कांग्रेस जिलाध्यक्ष पीतांबर पांडे, डॉ. जेसी दुर्गापाल, मंगल सिंह बिष्ट, वैभव पांडे, प्रवीण मनोज भंडारी, अमर सिंह कार्की, नवीन त्यागी, त्रिलोक सिंह, शोभा जोशी, चंद्रा अग्रवाल, रेनू नेगी, भगवती देवी आदि मौजूद रहे।

Check Also

अल्मोड़ा: प्रभारी मंत्री ने सुनी जनता की समस्याएं… Bjp नेता ने अधिकारी के व्यवहार को लेकर जताई नाराजगी

🔊 इस खबर को सुने अल्मोड़ा: सरकार जनता के द्वार तथा प्रशासन गांव की ओर …