Breaking News

अल्मोड़ा-(बड़ी खबर): प्रसूता ने डॉक्टरों पर लगाया मारपीट का आरोप, नवजात की मौत

अल्मोड़ा। स्वास्थ्य सेवाएं चुस्त दुरुस्त व गर्भवती महिलाओं को बेहतर सुविधा देने का दंभ भरने वाली भाजपा की डबल इंजन की सरकार में सरकारी अस्पतालों में व्यवस्थाएं तो दूर मरीजों के साथ व्यवहार तक ठीक नहीं किया जाता। जिले से एक ऐसा ही बड़ा मामला सामने आया है। जहां एक प्रसूता व उसके परिजनों ने डॉक्टरों पर प्रसव के दौरान मारपीट व अभद्रता करने का आरोप लगाया है। वही, हायर सेंटर रेफर करने के दौरान नवजात ने अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया।

दरअसल, बीते रविवार को बागेश्वर जिले के ग्राम गैरीगाड़ काफलीगैर निवासी ख्याली राम व उनकी पत्नी कमला लोहनी प्रसव पीड़ा होने पर अपनी बहू पूजा लोहनी 24 साल को पीएचसी ताकुला लाएं। जहां रात करीब 12 बजे उसने बेटे को जन्म दिया। जिसके बाद डॉक्टरों ने जच्चा बच्चा दोनों को हायर सेंटर रेफर कर दिया। परिजन रात करीब 3 बजे एंबुलेंस से दोनों को महिला अस्पताल, अल्मोड़ा लाए। जहां चिकित्सकों ने नवजात को मृत घोषित कर दिया।

पी​ड़िता व उसके परिजनों ने डॉक्टरों पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया है। पीड़िता का आरोप है कि प्रसव से पहले डॉक्टरों ने उसके साथ मारपीट की। वही, पीड़िता के ससुर ख्याली राम ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया है। उन्होंने नवजात की मौत के लिए लापरवाही बरतने का आरा घटना की जानकारी के बाद ​जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से पैरालीगल वॉलिंटियर्स भावना तिवारी ने सोमवार को महिला अस्तपाल पहुंच पीड़िता व उसके परिजनों से मामले की जानकारी ली।

इस घटना के बाद पीड़िता व उसके परिजन डरे सहमे हुए है। फिलहाल पीड़ित पक्ष की ओर से पुलिस में तहरीर नहीं सौंपी गई है। इधर मामले में महिला अस्पताल की प्रभारी सीएमएस डॉ. प्रीति पंत कुछ कहने से बचती नजर आई।

परिजनों पर धमकी देने का आरोप

इधर पीएचसी ताकुला के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. शुभम सिंह राजपूत ने बताया कि प्रसव के दौरान महिला ने बिल्कुल भी सहयोग नहीं दिया गया। जबकि रेफर के दौरान जच्चा बच्चा को कोई दिक्कत न हो इसके लिए उनके साथ पीएचसी ताकुला से एक डॉक्टर भी साथ में भेजा गया। डॉ. शुभम ने बताया कि प्रसूता के परिजनों द्वारा अस्पताल में आग लगाने व उन्हें देख लेने की धमकी दी गई।

Check Also

महिला की बच्चेदानी में था 8 किलो का ट्यमूर… अल्मोड़ा जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने भगवान बनकर ऐस बचाई जान

🔊 इस खबर को सुने अल्मोड़ा: अकसर आपने यह कहावत सुनी होगी कि डॉक्टर भगवान …