Breaking News

सेवानिवृत्त केंद्रीय कल्याण समिति ने अल्मोड़ा को रेल लाइन से जोड़ने की उठाई मांग, कुमाउं क्षेत्र की उपेक्षा का लगाया आरोप

अल्मोड़ा। सेवानिवृत्त केंद्रीय कल्याण समिति ने अल्मोड़ा को रेल लाइन से जोड़ने की मांग की है। इस मामले को लेकर समिति ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ज्ञापन भेजा है। वही, समिति के सदस्यों ने केंद्र सरकार पर कुमाऊं की उपेक्षा करने का आरोप भी लगाया है।

ज्ञापन में समिति के सदस्यों ने कहा कि अल्मोड़ा सांस्कृतिक नगरी के साथ ही एक महत्वपूर्ण ऐतिहासिक नगर है। पर्यटन के लिहाज से भी एक महत्वपूर्ण स्थान है और सीमांत क्षेत्र पिथौरागढ़ जिले से भी मिला है। हल्द्वानी-अल्मोड़ा एनएच बार बार मलबा आने से अकसर बाधित रहता है। जिससे लोगों को कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। कहा कि आधुनिक युग में सभी पर्वतीय स्थलों जैसे लेह लद्दाख, जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तर पूर्वी राज्यों को रेल लाईनों से जोड़ा जा चुका है। उत्तराखण्ड में भी कर्णप्रयाग रामनगर तथा चार धाम को रेल मार्ग से जोड़ने की बात की जा रही है। लेकिन महत्त्वपूर्ण कुमाऊं क्षेत्र की उपेक्षा की जा रही है।

ज्ञापन में कहा कि पिछले 75 साल से काठगोदाम से रेलवे लाईन आगे नहीं बनायी गयी। सेवानिवृत्त केन्द्रीय कर्मचारी कल्याण समिति वर्ष पिछले कई सालों से अल्मोड़ा को रेल मार्ग से जोड़ने की की मांग कर रही है। इस सम्बन्ध में रेल मंत्री तथा अध्यक्ष रेलवे बोर्ड को पत्र भेजे गये। लेकिन न तो कोई कार्यवाही हुई न ही कोई उत्तर ही दिया गया।

समिति के सदस्यों ने कहा कि पूर्व में अल्मोड़ा दौरे पर आए सीएम पुष्कर सिंह धामी ने विधान सभा चुनाव के समय नगर स्थित रैमजे स्कूल की जनसभा व हवालबाग में आयोजित आजिविका महोत्सव के दौरान इस मुद्दे पर सहमति प्रकट की है। समिति के सदस्यों ने प्रधानमंत्री से आजादी के अमृत महोत्सव वर्ष में आगामी 15 अगस्त को अल्मोड़ा क्षेत्र में रेल लाईन बिछाने की घोषणा करने की अपील की है।

ज्ञापन देने वालों में नवीन चंद्र जोशी, त्रिलोक सिंह कड़ाकोटी, महेश चंद्र आर्या, रूप सिंह बिष्ट, गंगा सिंह फर्त्याल, ए.एस. कार्की, के.वी पांडे, देवेंद्र आदि मौजूद रहे।

Check Also

Featured Video Play Icon

Crime news: युवक की हत्या, नदी किनारे मिली लाश, जांच में जुटी पुलिस

🔊 इस खबर को सुने पुलिस को मिली कई महत्वपूर्ण जानकारियां इंडिया भारत न्यूज़ डेस्क(IBN): …