Breaking News
Uksssc
Uksssc

बिग ब्रेकिंगः Uksssc पेपर लीक मामले में एक और गिरफ्तारी, STF ने अब शिक्षक को किया अरेस्ट

देहरादून। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग पेपर लीक मामले में स्पेशल टास्क फोर्स (STF) के हाथ बड़ी सफलता लगी है। पुलिस ने मामले में एक शिक्षक को अरेस्ट किया है। बताया जा रहा है कि आरोपित शिक्षक मास्टमाइंड तनुज शर्मा का साथी है। पेपर लीक मामले में एसटीएफ अब तक 17 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।

एसटीएफ के मुताबिक गिरफ्तार आरोपी तनुज शर्मा निवासी रायपुर चौक का रहने वाला है और उत्तरकाशी के राजकीय इंटरमीडिएट कॉलेज नेटवाड़ में शिक्षक के रूप में काम करता है। एसटीएफ ने आरोपी को पूछताछ के लिए बुलाया था और उसके बयानों के आधार पर एसटीएफ ने उसे गिरफ्तार कर लिया है।

इस तरह दिया गया था घटना को अंजाम

अभियुक्त अभिषेक वर्मा निवासी सीतापुर (कर्मचारी प्रिंटिंग प्रेस) ने प्रिंटिंग प्रेस से पेपर चुराया था। उसने परीक्षा से 4-5 दिन पहले 29 नवंबर 2021 को प्रश्नपत्र के तीनों पालियों के सेट विभिन्न माध्यम से जयजीत दास को भेजे। जयजीत दास (प्रोग्रामर प्रिंटिंग प्रेस) ने यह प्रश्नपत्र मनोज जोशी पीआरडी पूर्व संविदा कर्मचारी और दीपक चैहान को दिया। मनोज जोशी पीआरडी ने ये प्रश्नपत्र मनोज जोशी कनिष्ठ सहायक गौरव नेगी और अपने साले हिमांशु काण्डपाल को दिए। मनोज जोशी कनिष्ठ सहायक और गौरव नेगी ने ये प्रश्नपत्र रामनगर में एक रिसॉर्ट और काशीपुर में एक वैंकट हॉल और घर में सॉल्व कराया। मनोज जोशी कनिष्ठ सहायक ने ही कुलवीर और शूरवीर चैहान के साथ मिलकर कुछ अन्य अभ्यर्थियों को यह प्रश्नपत्र उपलब्ध कराया।

हिमांशु काण्डपाल ने ये प्रश्नपत्र अपने साथी महेन्द्र चैहान, दीपक शर्मा, अमरीश कुमार के साथ मिलकर कुछ अन्य अभ्यर्थियों को उपलब्ध कराया। मनोज जोशी सितारगंज ने यह प्रश्नपत्र गौरव चैहान अपर निजी सचिव के कुछ अभ्यर्थी तुषार चौहान आदि को उपलब्ध कराया। दीपक चौहान ने यह प्रश्नपत्र अपने साथी भावेश जगूडी के साथ मिलकर कुछ अन्य अभ्यर्थियों को उपलब्ध कराया। अब तक की जांच में सभी अभियुक्तों की इस अपराध में संलिप्तता पाई गई है और उनके विरूद्ध पर्याप्त साक्ष्य प्राप्त हो गए है।

 

Check Also

DA

केंद्रीय कर्मचारियों की हुई बल्ले-बल्ले, DA में इतना फीसदी इजाफा

🔊 इस खबर को सुने नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की …