Breaking News

अल्मोड़ा में 1 सितंबर से शुरू होगा प्रसिद्ध नंदा देवी मेला, इस बार ये रहेगा खास.. पढ़ें पूरी खबर

अल्मोड़ा। ऐतिहासिक व पौराणिक मां नंदा देवी मेले का आगामी 1 सितंबर से आगाज होने जा रहा है। 200 वर्ष से अधिक पुराने इस मेले को भव्य रूप देने के लिए तैयारियां जोरों पर है। मेले के लिए सदस्यों व अन्य लोगों की जिम्मेदारियां तय कर दी गई है। इन दिनों मंदिर प्रांगण को ऐपण व रंगोली से सजाया जा रहा है।

शनिवार को नंदा देवी मंदिर कमेटी के सदस्यों ने प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि इस वर्ष मेला 1 सितंबर से शुरू होगा। जो कि 7 सितंबर तक चलेगा। कोरोना संक्रमण के चलते पिछले दो सालों से मेले को भव्य स्वरूप नहीं दिया जा सका। लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम होने के चलते मेले को भव्य बनाने की तैयारी की जा रही है। जिसके लिए कमेटी प्रयासरत है। परंपरागत रीति रिवाजों के साथ 1 सितंबर से मंदिर में कार्यक्रम शुरू हो जाएंगे।

मुख्य सांस्कृतिक संयोजक तारू जोशी ने कहा कि मेले को खास व आकर्षक बनाने के लिए सांस्कृतिक जुलूस, सांस्कृतिक कार्यक्रम, झोड़ा, चांचरी, मेहंदी, ऐपण समेत कई प्रतियोगिता के अलावा कुमाउंनी व हिंदी में हास्य व्यंग प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। इस प्रतियोगिता का उद्देश्य जहां एक ओर दर्शकों का मनोरंजन करना है वही, दूसरी ओर बच्चों व युवाओं की प्रतिभा को मंच के माध्यम से बाहर लाना है। उन्होंने बताया रैमजे व एडम्स इंटर काॅलेज के मैदान में सांस्कृतिक कार्यक्रम कराएं जाएंगे। इसके अलावा स्टार नाइट कार्यक्रम भी कराना सुनिश्चित हुआ है।

मेले के मुख्य संयोजक सचिव मनोज सनवाल ने कहा कि मेले में कार्यक्रम 31 अगस्त से शुरू हो जाएंगे। 2 सितंबर को कर्नाटक खोला निवासी कमलेश कर्नाटक के आवास पर कदली वृक्षों को निमंत्रण दिया जाएगा और 3 सितंबर को कदली वृक्ष को बाजार भ्रमण कर मंदिर परिसर में लाया जाएगा। जिसके बाद विधि विधान के साथ पूजा अर्चना कर उनसे मां नंदा-सुनंदा की मूर्ति का निर्माण किया जाएगा। 7 सितंबर को मां नंदा-सुनंदा की भव्य शोभा यात्रा निकाली जाएगी।

नंदा देवी मंदिर कमेटी के अध्यक्ष मनोज वर्मा ने कहा कि मां नंदा देवी उत्तराखंड का सबसे प्राचीन मेला है। सदियों से इस मेले का अल्मोड़ा में धूमधाम से आयोजन किया जाता रहा है। लेकिन विगत 2 वर्ष कोरोना के कारण इस मेले को सादगी के साथ मनाया गया। उन्होंने बताया कि इस वर्ष इस मेले को फिर से धूमधाम से मनाया जाएगा।

कुमाउंनी एवं हिन्दी गायन प्रतियोगिताओं के लिए 20 अगस्त को ऑडिशन

मुख्य सांस्कृतिक संयोजक तारू जोशी ने बताया मंच के माध्यम से प्रतिभाओं को उभारने के लिए पिछले वर्षों की भांति इस वर्ष भी कुमाउंनी एवं हिन्दी गायन प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। जिसके लिए 20 अगस्त 2022 को नंदा देवी गीता भवन में दोपहर 12 बजे से ऑडिशन होगा। चयनित प्रतिभागियों को अभ्यास कराया जाएगा। यह प्रतियोगिता जूनियर वर्ग एवं सीनियर वर्ग में की जाएगी। इस क्रम में हास्य व्यंग्य, कुमाउनी एवं हिन्दी प्रतियोगिता की जाएगी एवं मेंहदी, ऐपण, डांस, फैंसी ड्रैस आदि प्रतियोगिताएं मंच में की जाएगी।

उन्होंने प्रतिभागियों से अपील की है कि वह 25 अगस्त 2022 तक अपना नामांकन मंदिर परिसर में आकर करा लें। इस अवसर पर विद्यालय सांस्कृति जलूस, झोड़ा प्रस्तुति एवं सांस्कृतिक शोभा यात्रा, स्वांग एवं माता की चौकी व विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम नंदा देवी एवं एडम्स गर्ल्स इण्टर कॉलेज में सम्पन्न किए जाएगें।

प्रेसवार्ता में ये रहे मौजूद

प्रेसवार्ता में नंदा देवी मंदिर कमेटी के अध्यक्ष मनोज वर्मा, मुख्य संयोजक सचिव मनोज सनवाल, मंदिर व्यवस्थापक मुन्ना वर्मा, मुख्य सांस्कृतिक संयोजक तारू जोशी, कोषाध्यक्ष हरीश बिष्ट, नगर व्यापार मंडल अध्यक्ष सुशील साह, दिनेश गोयल, जीवन नाथ वर्मा, कुलदीप, मीडिया प्रभारी अमरनाथ सिंह नेगी, अर्जुन बिष्ट, रवि गोयल, परितोष जोशी, वैभव पांडे, मीना भैसोड़ा, बिमला बोहरा, गीता मेहरा, लता तिवारी, राधा तिवारी, गंगा जोशी, पुष्पा सती, गीता पांडे, जया पंत आदि मौजूद रहे।

Check Also

बिग ब्रेकिंग-(हल्द्वानी): पिस्टल का खेल पड़ा भारी..फायरिंग होने से युवक का जबड़ा उड़ा

🔊 इस खबर को सुने हल्द्वानी: शहर में एक बार फिर से गोली चलने का …