Breaking News

सार्वजनिक अवकाश घोषित करने में गंभीरता दिखाएं सरकारः पाठक

अल्मोड़ाः उत्तरांचल पर्वतीय कर्मचारी शिक्षक संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष धीरेन्द्र कुमार पाठक ने कहा कि सार्वजनिक अवकाश को परिवर्तन करते समय शासन को समय का ध्यान रखना चाहिए। उत्तराखंड में अवकाश के मामलों में अफरातफरी की स्थिति उत्पन्न हो गई है। जन्माष्टमी पर पहले अवकाश 18 अगस्त को घोषित किया गया था लेकिन 17 को लगभग आठ बजे शासन का पत्र वायरल होता है कि अवकाश 18 अगसत के स्थान पर 19 अगस्त को होगा। ऐसे में जिन विद्यालयों में अवकाश की घोषणा हो गई है उन बच्चों को रात्रि में कौन बताएगा कि स्कूल बंद नहीं हुआ खुल रहा है।

उत्तराखंड सरकार को अपने फैसलों में गंभीरता दिखानी होगी और फैसले दिन में ही लेने चाहिए ताकि जानकारी सार्वजनिक हो सकें। अवकाश सार्वजनिक है तो सूचना भी सार्वजनिक तरीके से दिन में ही हो जानी चाहिए थी ताकि सभी अवगत होते।

वही, 19 को एक जहां एक ओर सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया है दूसरी ओर दूसरा पत्र भी जारी किया गया है जिसमें सद्भावना दिवस मनाने के निर्देश दिए गए हैं। एक तरफ सार्वजनिक अवकाश दूसरी ओर शपथ ग्रहण आदेश। शासन को इस प्रकार से आदेश जारी कर अफरातफरी का माहौल नहीं बनने देना चाहिए।

वर्तमान स्थिति विद्यालयों के छात्र-छात्राओं अधिकारियों, शिक्षकों, कार्मिकों किसी के लिए भी उचित नहीं है। जिस दिन सार्वजनिक अवकाश घोषित कर दिया गया है तो उसी दिन दूसरे कार्यक्रम मनाने के आदेश देना भी लोकतांत्रिक मूल्यों के खिलाफ है।

Check Also

Ankita Murder Case: क्यों हुई अंकिता भंडारी की हत्या? डीजीपी ने किया बड़ा खुलासा

🔊 इस खबर को सुने इंडिया भारत न्यूज डेस्कः ऋषिकेश में 19 साल की अंकिता …