Breaking News

अल्मोड़ाः विधायक मोहन सिंह मेहरा के आश्वासन पर माने छात्र, धरना समाप्त

अल्मोड़ा। राजकीय महाविद्यालय गुरुड़बाज में छात्र-छात्राओं व अभिभावकों का बीते एक अगस्त से चल रहा धरना बुधवार को समाप्त हो गया है। स्थानीय विधायक मोहन सिंह मेहरा के आश्वसान के बाद छात्रों ने अपना धरना समाप्त कर दिया है।

पूर्व में स्वीकृत अंग्रेजी, अर्थशास्त्र एवं शिक्षाशास्त्र विषय के पद सृजन व सत्र 2022-23 से कला संकाय के अंतर्गत हिंदी, संस्कृत, राजनीतिशास्त्र, इतिहास, समाजशास्त्र, अर्थशास्त्र एवं शिक्षाशास्त्र एम.ए. विषय की मान्यता एवं प्रक्रिया प्रारंभ किए जाने एवं महाविद्यालय में एम.काॅम की मान्यता प्रदान किए जाने आदि की मांगो को लेकर छात्र-छात्राएं बीते एक अगस्त से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कुमाऊ सह सयोजक दीपक भैंसोडा के नेतृत्व में धरना चल रहा था।

बुधवार को भी छात्र-छात्राओं व अभिभावकों ने राजकीय महाविद्यालय गरुडॉबाज में धरना प्रदर्शन किया और सांकेतिक तालाबन्दी की। जिसके बाद छात्र-छात्राएं महाविद्यालय से रोड मार्च कर तहसील भनोली में धमक पड़ें। छात्रों के उग्र प्रदर्शन को देखते हुए स्थानीय विधायक मोहन सिंह मेहरा मौके पर वहां पहुंचे।

छात्रों को संबोधित करते हुए विधायक ने कहा कि मांगों को मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री से बातचीत कर चुके है। वह छात्रों के साथ है। जल्द ही सभी मांगों पर उचित कार्यवाही होगी। विधायक के आश्वासन के बाद छात्रों ने अपना धरना समाप्त कर दिया। साथ ही छात्रों ने विधायक का आभार जताया।

इस दौरान जिला पंचायत सदस्य खोला नंदन सिंह नेगी, राजेंद्र प्रसाद प्रधान काफली, कैलाश राम क्षेत्र पंचायत सदस्य नौगांव, हरीश बिष्ट पंचायत सदस्य, विशन भैसोड़ा क्षेत्र पंचायत सदस्य काफली, प्रकाश आर्य प्रधान कला ग्रहण, दिनेश पांडे प्रधान धसपद, किशन सिंह बिष्ट प्रधान गुरुडा, पंकज आर्य लधोली, मनोज कुमार प्रधान माडम, कृष्णा गेड़ा सरपंच गरुड़बाज, गौरव नैनवाल भाजपा मीडिया प्रभारी, लाल सिंह नगर मंत्री अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, भावना डसीला, सोनिया आर्य, प्रेमा साह, पिंकी बिष्ट, देवकी गेड़ा, जगदीश आर्य, शेर सिंह, कमल लाल शाह, रोहित सिंह, अनीता प्रकाश समेत अन्य कई लोग मौजूद रहे।

Check Also

महिला की बच्चेदानी में था 8 किलो का ट्यमूर… अल्मोड़ा जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने भगवान बनकर ऐस बचाई जान

🔊 इस खबर को सुने अल्मोड़ा: अकसर आपने यह कहावत सुनी होगी कि डॉक्टर भगवान …