Breaking News
nanda devi
nanda devi temple

अल्मोड़ाः नंदा देवी मेले की तैयारियों को दिया अंतिम रूप, जानें इस बार क्यों यादगार होने जा रहा यह मेला

अल्मोड़ाः ऐतिहासिक व पौराणिक मां नंदा देवी मेले का बुधवार यानि कल से आगाज होने जा रहा है। यह मेला 31 अगस्त से 7 सितंबर तक चलेगा। मेले को भव्य रूप देने के लिए मंदिर समिति द्वारा सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। दो साल कोरोना संक्रमण के चलते मेले का भव्य आयोजन नहीं हो सका था। लेकिन इस बार यह मेला भव्य व यादगार होने जा रहा है। मां नंदा देवी मंदिर को विद्युत मालाओं, तोरण  व ऐंपण से सजाया गया है।

मेले की तैयारियों को लेकर नंदा देवी मेला समिति के पदाधिकारियों व सदस्यों की बैठक आयोजित की गई। इस दौरान मुख्य संयोजक मनोज सनवाल द्वारा अ्वगत कराया गया कि 31 अगस्त को नंदा देवी मंदिर में पूजा अर्चना के बाद मंदिर प्रांगण में प्रायोजक निपोन रिलायंस इंश्योरेंस प्राइवेट लिमिटेड द्वारा अपरान्ह 12 बजे से ऐपण एवं मेहंदी प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। 1 सितंबर को नंदा देवी मंदिर प्रांगण में सुबह 11 बजे से डांस एवं फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता के कार्यक्रम होंगे।

1 सितंबर को ही रंगारंग कार्यक्रमों के साथ शाम 4 बजे मेले का उद्धघाटन होगा। उन्होंने बताया कि सांस्कृतिक कार्यक्रम नंदा देवी प्रांगण एवं एडम्स गर्ल्स इंटर कॉलेज मैदान में होंगे। इस वर्ष मेले में नगर व आसपास क्षेत्रों के स्थानीय कलाकारों सहित बाहरी अनेकों नामचीन कलाकारों द्वारा भी प्रस्तुतियां दी जायेगी।

पौराणिक नंदा देवी मेले की सांस्कृतिक धरोहर छबीली, नयोली, झोड़ा, चाचरी आदि कार्यक्रमों के सफल आयोजन करवाने के लिए वरिष्ठ रंगकर्मी नवीन बिष्ट एवं नारायण थापा को कार्यक्रम का संयोजक बनाया गया है। मेला समिति के अध्यक्ष मनोज वर्मा ने नगर एवं आसपास क्षेत्र के सभी लोगों से मेले व कदली वृक्ष यात्रा में अधिक संख्या में पहुंचने की अपील की है।

मन्दिर व्यवस्थापक नरेंद्र वर्मा ने कहा कि मूर्ति निर्माण के लिए इस वर्ष कदली वृक्ष कर्नाटक खोला निवासी कमलेश कर्नाटक के आवास से लाए जाएंगे। 2 सितंबर को शाम 4 बजे नंदा देवी मंदिर परिसर से समस्त श्रद्धालु ढोल नगाड़ों एवं निशानों के साथ कदली वृक्ष को लाए जाने हेतु कर्नाटक खोला पहुंचेंगे। जिसके बाद विधि विधान से पुजारियों द्वारा पूजा कर कदली वृक्षों को आमंत्रित किया जाएगा। 3 सितंबर की सुबह 6 बजे नंदा देवी मंदिर परिसर से श्रद्धालु ढोल नगाड़ों एवं निशानों के साथ कदली वृक्ष कर्नाटक खोला से ड्योढ़ीपोखर होते हुए बाजार मार्ग से मां की जयकारे के साथ नंदा देवी मंदिर में लाए जाएंगे।

इस दौरान नगर व्यापार मंडल अध्यक्ष सुशील साह ने कहा कि बाजार मार्ग में निकलने वाली सांस्कृतिक शोभायात्रा के दलों की जलपान की व्यवस्था नगर व्यापार मंडल द्वारा की जाएगी। वही, कदली वृक्षों को निमंत्रण देने के दिन व कदली वृक्षों को लाए जाने के दिन समस्त श्रद्धालुओं की जलपान की व्यवस्था सभासद अमित साह मोनू द्वारा की जाएगी।

बैठक की अध्यक्षता मंदिर समिति के अध्यक्ष मनोज वर्मा व संचालन मुख्य संयोजक मनोज सनवाल ने किया। बैठक में मुख्य सांस्कृतिक संयोजक ताराचंद जोशी, अर्जुन बिष्ट, रवि गोयल, हर सिंह बिष्ट, राजकुमार बिष्ट, सह सांस्कृतिक संयोजक एवं मीडिया प्रभारी अमरनाथ सिंह नेगी, अमन, हरीश कनवाल, संजय साह, दिनेश चंद्र मठपाल, जीवन गुप्ता, नरेंद्र वर्मा, गीता मेहरा, गीता आर्य, गंगा पांडे, निर्मला जोशी, मीना भैंसोंड़ा, हिमांशु परगाईं, पंकज परगाईं, कुलदीप मेर, राजेश पलनी, धनंजय साह, रवि गोयल, सुशील कर्नाटक, रक्षित साह, रवि कनौजिया, नवीन बिष्ट, संतोष मिश्रा, देवेंद्र सिंह चौहान, मनोज भंडारी, शंकर उप्रेती, राजेश, सुनील कनार्टक, किशन गुुरुरानी, जीवन नाथ वर्मा आदि मौजूद रहे।

 

हमसे व्हाट्सएप पर जुड़ें

https://chat.whatsapp.com/IZeqFp57B2o0g92YKGVoVz

हमसे यूट्यूब पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

Check Also

महिला की बच्चेदानी में था 8 किलो का ट्यमूर… अल्मोड़ा जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने भगवान बनकर ऐस बचाई जान

🔊 इस खबर को सुने अल्मोड़ा: अकसर आपने यह कहावत सुनी होगी कि डॉक्टर भगवान …