Breaking News

अल्मोड़ाः मां के जयकारों के साथ कर्नाटकखोला से नंदा देवी मंदिर लाए गए कदली वृक्ष, बही आस्था की बयार

अल्मोड़ाः ऐतिहासिक नंदा मंदिर परिसर में मेले के तीसरे दिन कदली वृक्षों को विधि विधान से नगर के विभिन्न बाजारों से होते हुए नंदादेवी मंदिर परिसर में लाया गया। इस बीच नगर मां के जयकारों से गुंजायमान हो उठा। पारंपरिक वेशभूषा में शामिल महिलाओं की टोली ने भजन गाए। चंद वंशज राजा करन चंद्र सिंह और युवराज नरेंद्र चंद्र सिंह व मंदिर के मुख्य पुजारी लीलाधर जोशी ने कदली वृक्षों की पूजा-अर्चना की।

 

 

शनिवार को सप्तमी के दिन मंदिर समिति के सदस्य, पुजारी समेत कई श्रद्धालु कर्नाटकखोला पहुंचे। जहां से कदली वृक्षों को नंदादेवी मंदिर परिसर में लाया गया। मंदिर परिसर में कदली वृक्षों की पूजा अर्चना की गई। उसके बाद दिन में मां नंदा सुनंदा की मूर्तियों का निर्माण शुरू हुआ। मां नंदा सुनंदा की मूर्तियों का निर्माण कर देर रात्रि में उनकी प्राण प्रतिष्ठा की गई। मूर्ति निर्माण में रवि गोयल, सीपी वर्मा, देवेंद्र जोशी, शैलेंद्र वर्मा, रक्षित साह, रवि कन्नौजिया आदि ने सहयोग किया।

इस दौरान लक्ष्मेश्वर वार्ड के सभासद अमित साह मोनू द्वारा कर्नाटकखोला में श्रद्ालुओं के लिए जलपान की व्यवस्था की गई। जबकि बाजार में नगर व्यापार मंडल द्वारा जलपान की व्यवस्था की गई।

नंदादेवी मेले में देर रात तक विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन हो रहा है। जिसमें लोक कलाकारों द्वारा कुमाऊंनी और गढ़वाली गीतों और नृत्यों की प्रस्तुति दी जा रही है।

झोड़ा गायन कार्यक्रम में मंत्री रेखा आर्य ने की शिरकत

नंदा देवी मंदिर परिसर में महिलाओं की ओर से झोड़ा गायन कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में महिला एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्य ने भी शिकरत की। मंत्री रेखा आर्य ने झोड़ा कार्यक्रम का उद्घाटन किया और मेले के सफल आयोजन के लिए उन्होंने मेला समिति के सभी पदाधिकारियों व सदस्यों को धन्यवाद दिया। इस दौरान गीता मेहरा ने मंत्री रेखा आर्या को शाॅल ओढ़ाकर व नंदा देवी मेला समिति के अध्यक्ष मनोज वर्मा ने प्रतीक चिन्ह देकर उन्हें सम्मानित किया। झोड़ा गायन में नगर की 18 टीमों ने हिस्सा लिया। इस मौके पर महिलाओं ने पारंपरिक वेशभूषा में सज धज विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों की शानदार प्रस्तुति दी है। झोड़ा कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाली प्रत्येक टीम को कार्यक्रम की प्रायोजक गीता मेहरा की ओर से 2400 रुपये का ईनाम पुरस्कार स्वरूप दिया गया।

ये रहे मौजूद

मंदिर समिति के अध्यक्ष मनोज वर्मा, मुख्य संयोजक व सचिव मनोज सनवाल, मुख्य सांस्कृतिक संयोजक तारा चंद्र जोशी, कोषाध्यक्ष हरीश बिष्ट, किशन गुरुरानी, अमित साह मोनू, अर्जुन बिष्ट, दिनेश गोयल, धन सिंह मेहता, नरेंद्र वर्मा, एलके पंत, संजय साह, राजकुमार बिष्ट, परितोष जोशी, गीता मेहरा, मीना भैसोड़ा, कुलदीप मेर, महेंद्र बिष्ट, हिमांशु परगाईं, वैभव पांडे, कमलेश पांडे, रवि गोयल, अमर नाथ सिंह नेगी, अंजली बाणी, देवेंद्र जोशी, सीपी वर्मा समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

 

हमसे व्हाट्सएप पर जुड़ें

https://chat.whatsapp.com/IZeqFp57B2o0g92YKGVoVz

हमसे यूट्यूब पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

Check Also

अल्मोड़ा-(बिग ब्रेकिंग): गीतकार के मकान में लगी आग… 6 लाख से अधिक कीमत का सामान चढ़ा आग की भेंट

🔊 इस खबर को सुने मकान में आग लगने से मची अफरा तफरी, ग्रामीणों ने …