Breaking News
Featured Video Play Icon

Almora: कुलदेवी मां नंदा-सुनंदा की शोभायात्रा में उमड़ा आस्था का सैलाब, मां के जयकारों से गूंज उठा शहर

अल्मोड़ाः ऐतिहासिक व पौराणिक 7 दिवसीय नंदा देवी मेले का आज समापन हो गया है। मेले के अंतिम दिन कुमाउं की कुलदेवी मां नंदा-सुनंदा की भव्य शोभायात्रा निकाली गई। मां के दर्शन करने के लिए ऋद्धालुओं का हुजूम उमड़ पड़ा। इस दौरान लोगों ने एक बेटी की तरह मां नंदा सुनंदा को मायके से ससुराल के लिए विदा किया। बेटी की विदाई के लिए पहुंची कई महिलाएं भावुक हो उठी।

नगर भर में विभिन्न स्थानों पर मौजूद महिलाओं ने अक्षत डाल व पुष्पा वर्षा कर डोले का अभिनंदन किया। घरों की बालकनी, छत, मुख्य बाजार व माल रोड में सड़क किनारे दोनों ओर हर जगह भारी तादात में लोग मां के दर्शन के लिए लंबी-लंबी कतारो में खड़े रहे। इस दौरान पूरा नगर मां नंदा-सुनंदा के जयकारों से गुंजायमान हो उठा।

शोभा यात्रा में शामिल लोगों में भारी उत्साह नजर आया। मां के जयकारों के साथ नंदा देवी मंदिर परिसर से शोभा यात्रा की शुरूआत हुई। जो लाला बाजार, बसंल गली, ड्योड़ीपोखर तल्ला महल स्थ्ज्ञित भगवती मंदिर के बाद मुख्य बाजार में प्रवेश किया। जिसके बाद डोला कारखाना बाजार, कचहरी बाजार, जौहरी बाजार, मल्ली बाजार, पलटन बाजार होते हुए दुगालखोला स्थित डोबा नौला पहुंचा। जहां मां नंदा-सुनंदा की मूर्ति का विधिवत विसर्जन किया गया।

हजारों ऋद्धालु बने विदाई बेला के गवाह

बुधवार को मां नंदा-सुनंदा की विदाई में शहर समेत आसपास के इलाकों से श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ आया है। शोभायात्रा के दौरान लोगों में खासतौर पर युवाओं में काफी उत्साह देखने को मिला। इसके अलावा स्थाथीय महिलाओं ने पारंपरिक परिधान में सजधज कर शोभायात्रा में हिस्सा लिया। शोभा यात्रा के पीछे दूर-दूर कर श्रद्धालु ही नजर आए।

दो साल के बाद हुआ भव्य मेले का आयोजन

पिछले दो साल कोरोना संक्रमण के चलते नंदा देवी मेले को सादगी के साथ मनाया गया। लेकिन कोरोना संक्रमण की रफ्तार थमते ही इस बार सात दिनों तक भव्य मेले का आयोजन किया गया। मेले के दौरान कई प्रतियोगिताओं, झोड़ा, चांचरी समेत देर रात रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए गए। जिसमें कई स्टार कुमाउंनी गायकों ने शिरकत की।

पुलिस व प्रशासन की चाक चौबंद व्यवस्था के बीच निकाली गई शोभायात्रा

नंदा देवी मेले के अंतिम दिन मां नंदा-सुनंदा की भव्य शोभायात्रा के दौरान किसी प्रकार की चूक न हो, इसके लिए पुलिस व प्रशासन के आला अधिकारी शोभायात्रा के दौरान मौजूद रहे। पुलिस द्वारा शोभायात्रा के लिए पहले से व्यवस्थाएं चाक चौबंद की गई थी। इसके अलावा शोभायात्रा वाले स्थानों में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा। एसडीएम गोपाल सिंह चौहान व सीओ विमल प्रसाद शोभायात्रा के बीच मोर्चा संभाले रहे।

ये रहे मौजूद-

इस मौके पर करन चंद्र सिंह (केसी सिंह बाबा), युवराज नरेंद्र चंद्र सिंह, राज पुरोहित नागेश पंत, हरीश पंत, दिनेश पंत, देवाशीष पंत, स्थानीय विधायक मनोज तिवारी, पूर्व राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा, नगरपालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी, नंदा देवी मंदिर कमेटी के अध्यक्ष मनोज वर्मा, संयोजक व सचिव मनोज सनवाल, मुख्य सांस्कृतिक तारा चंद्र जोशी, मंदिर व्यवस्थापक नरेंद्र वर्मा, कोषाध्यक्ष हरीश बिष्ट, परितोष जोशी, कुलदीप मेयर, अमित साह मोनू, महेंद्र बिष्ट, नगर व्यापार मंडल अध्यक्ष सुशील साह, वैभव पांडे, कमलेश पांडे, अमरनाथ सिंह नेगी, रवि कन्नौजिया, सीपी वर्मा, रवि गोयल, देवेंद्र जोशी, दीपेश जोशी, शैलेंद्र वर्मा, रक्षित साह, किशन गुरुरानी, दिनेश गोयल, अर्जुन सिंह बिष्ट, एल.के पंत, प्रदेश उपाध्यक्ष भाजपा कैलाश शर्मा, जिलाध्यक्ष कांग्रेस पीतांबर पांडे, डीसीबी अध्यक्ष ललित लटवाल, पूरन रौतेला, त्रिलोचन जोशी, दीपक साह, बिट्टू कर्नाटक, संजय साह, पंकज वर्मा, मनीष जोशी, कैलाश गुरुरानी, जगत भट्ट, गीता मेहरा, मीना भैसोड़ा, हीरा कनवाल, गंगा बिष्ट, राधा बिष्ट, लीला बोरा, लता तिवारी, अंजली बाणी, मेलाधिकारी एसडीएम गोपाल चैहान, तहसीलदार कुलदीप पांडे, सीओ विमल प्रसाद, प्रभारी निरीक्षक कोतवाली राजेश कुमार यादव, मेला प्रभारी एसएसआई विनोद कापड़ी समेत कई लोग मौजूद रहे।

 

हमसे व्हाट्सएप पर जुड़ें

https://chat.whatsapp.com/IZeqFp57B2o0g92YKGVoVz

हमसे यूट्यूब पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

Check Also

दो अक्टूबरः कांग्रेस ने जयंती पर गांधी-शास्त्री को किया याद

🔊 इस खबर को सुने अल्मोड़ा। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री …