Breaking News

अल्मोड़ाः नाबालिग छात्रा से छेड़छाड़ के आरोप में दिल्ली सचिवालय में तैनात अफसर के खिलाफ मुकदमा, गुस्साएं ग्रामीणों ने स्कूल पहुंचकर की नारेबाजी

अल्मोड़ाः दिल्ली सचिवालय में तैनात एक संयुक्त सचिव पर नाबालिग छात्रा से छेड़छाड़ व दुराचार का प्रयास करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। पीड़िता भी दिल्ली की रहने वाली है। नाबालिग छात्रा की शिकायत के बाद राजस्व पुलिस ने पॉक्सो एक्ट समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

शिकायत लेकर एडीएम के पास पहुंची पीड़िता

दरअसल, बीते सोमवार को पीड़िता व उसकी मां अपर जिलाधिकारी सी.एस मर्तोलिया से मिले। इस दौरान पीड़िता ने एडीएम को पूरे घटना की जानकारी दी। एडीएम मर्तोलिया ने मामले का तत्काल संज्ञान लेते हुए राजस्व उपनिरीक्षक गोविंदपुर को मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए।

प्लीजेंट वैली फाउंडेशन स्कूल का फाउंडर मेंबर है आरोपित

दरअसल, अल्मोड़ा तहसील के राजस्व पटवारी क्षेत्र गोविंदपुर में प्लीजेंट वैली फाउंडेशन स्कूल नाम से एक स्कूल संचालित होता है। बताया जा रहा है कि आरोपित ए.वी प्रेमनाथ इस स्कूल का फाउंडर मेंबर है। आरोपित वर्तमान में दिल्ली सचिवालय में संयुक्त सचिव के पद पर कार्यरत बताया जा रहा है। आरोपित पर डांडाकांडा क्षेत्र जहां पर यह स्कूल स्थापित है, के आस पास क्षेत्र में अतिक्रमण व अवैध निर्माण के आरोप भी लगे है। यही नहीं ए.वी प्रेमनाथ व उनकी पत्नी और एक अन्य महिला पर पूर्व में अल्मोड़ा के तत्कालीन सिविल जज सीनियर डिविजन के खिलाफ हाईकोर्ट में झूठी शिकायत करने और साजिश रचने का मामला भी सामने आ चुका है। तब इन लोगों की शिकायत पर सिविल जज को निलंबित कर दिया गया था। हालांकि, बाद में विजिलेंस हल्द्वानी की जांच में शिकायत झूठी पाई गई।

दिल्ली में शिकायत के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई

पीड़िता की मां ने मीडिया को बताया कि वह दिल्ली में नौकरी करती है। आरोपित उसका बास रहा। उन्होंने बताया कि 2020 आरोपित नौकरी देने के बहाने अपने स्कूल में लाया। बाद में आपसी विवाद के बाद उसने झूठा केस कर उसे जेल भिजवा दिया। 23 फरवरी से 26 मार्च तक जेल में रही। महिला ने बताया कि उसकी 17 साल की बेटी दिल्ली में 12वी कक्षा में पढ़ती है। आरोपी उसे 21 मार्च को अल्मोड़ा लाया। 22 मार्च को उसने उसकी बेटी के साथ छेड़खानी की। दुराचार का प्रयास किया। इसके बाद आरोपी मई माह में दिल्ली में उसके घर गया। यहां पर भी उसने छेड़खानी की। पीड़िता ने दिल्ली पुलिस से शिकायत की। लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसके बाद वह 17 जून को अल्मोड़ा में पटवारी चौकी में गई। वहां पटवारी उसे नहीं मिले। जिसके बाद वह 3 अक्टूबर यानि बीते सोमवार को अल्मोड़ा एडीएम से मिली।

इधर तहसीलदार कुलदीप पांडे ने बताया कि नाबालिग ने मामले की शिकायत दर्ज कर ली है। राजस्व पुलिस मामले की जांच कर रही है। आरोपी के खिलाफ 7/8 पॉक्सो एक्ट पॉक्सो, आईपीसी की धारा 354 व आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। संसाधनों के अभाव व मामला आईटी एक्ट से जुड़ा होने के कारण मामला रेगुलर पुलिस को ट्रांफर करने की कवायद शुरू कर दी है।

ग्रामीणों ने स्कूल पहुंचकर की नारेबाजी

इधर मंगलवार को मामला सामने आने के बाद डांडाकांडा, मजखाली व आस पास क्षेत्र के ग्रामीण आरोपित ए.वी प्रेमनाथ के स्कूल में जा धमके। जहां ग्रामीणों ने ए.वी प्रेमनाथ के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और मामले की निष्पक्ष जांच कर दोषी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। हालांकि, प्रशासनिक अधिकारियों से फोन में बातचीत व मामले की जांच गतिमान होने की बात पर ग्रामीण स्कूल से लौट आए।

 

हमसे व्हाट्सएप पर जुड़ें

https://chat.whatsapp.com/IZeqFp57B2o0g92YKGVoVz

हमसे यूट्यूब पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

Check Also

नियमों की अनदेखी: गणतंत्र दिवस पर अल्मोड़ा के इस सरकारी स्कूल में नहीं हुआ ध्वजारोहण… पढें पृरी खबर

🔊 इस खबर को सुने अल्मोड़ा: गणतंत्र दिवस के दिन शिक्षा विभाग से एक बड़ी …