Breaking News

Uttarkashi Avalanche: मिसिंग चले रहे अल्मोड़ा के अजय का मिला शव, अब तक 26 की मौत, 3 प्रशिक्षु अब भी लापता

अल्मोड़ाः उत्तरकाशी जिले के द्रौपदी डांडा-टू में एवलॉन्च हादसे में मिसिंग चल रहे अल्मोड़ा निवासी अजय बिष्ट का शुक्रवार को शव बरामद हुआ है। शव मिलने की सूचना के बाद मृतक के स्वजनों में कोहराम मचा हुआ है। युवा पर्वतारोही अजय बिष्ट की मौत के बाद नगर में शोक की लहर है।

6 माह पहले हुआ था विवाह

बीते मंगलवार को एवलॉन्च हादसे के बाद से नगर के गोपालधारा निवासी डी.एस बिष्ट के पुत्र अजय बिष्ट लापता चल रहे थे। इस घटना की सूचना के बाद परिजन व नगर के लोग उनकी सकुशल बरामदगी की दुआ कर रहे थे। लेकिन हादसे के चौथे दिन अजय के शव मिलने की खबर सामने आई। इस दुखद घटना के बाद उनके स्वजनों में कोहराम मच गया। अजय शुरू से ही पर्वतारोहण के शौकीन अजय बिष्ट का इसी साल अप्रैल माह में विवाह हुआ था। वह कसार देवी क्षेत्र में एक कैफे चलाते थे। उनके पिता का नगर में रेस्टोरेंट है। अजय ने पूर्व में नेहरू पर्वतारोहण संस्थान ‘निम’ से एडवेंचर में एडवांस कोर्स करने के लिए संस्थान में दाखिला लिया था।

नगर व्यापार मंडल ने जताया शोक

युवा पर्वतारोही अजय बिष्ट की मौत से हर कोई स्तब्ध है। इस दुखद घटना पर नगर व्यापार मंडल ने गहरा दुख प्रकट किया है तथा ईश्वर से परिवार को इस असीम दुख को सहने की शक्ति देने की प्रार्थना की है। नगर व्यापार मंडल अध्यक्ष सुशील साह ने कहा कि अजय युवा पर्वतारोही के रूप में तेजी से उभर रहे थे। लेकिन आज इस घटना ने सभी को झकझोर कर रख दिया।

अब तक 26 लोगों की मौत

उत्तरकाशी एवलॉन्च में रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। एडवांस बेस कैंप दुर्घटना स्थल पर अभी तक 26 शव बरामद किये गए हैं। आज शुक्रवार को 7 और पर्वतारोहियों के शव बरामद हुए हैं। आज सुबह हर्षिल से 2 हेलीकाप्टर ने घटनास्थल की ओर उड़ान भरी, एडवांस बेस कैंप में तैनात रेस्क्यू टीम द्वारा लापता शेष 10 ट्रेनी की खोजबीन की जा रही थी। इनमें से 7 के शव मिले हैं। अब 3 लोग मिसिंग हैं।

 

सविता के पार्थिव शरीर को दिया गार्ड आफ आनर

इस हादसे में उत्तरकाशी के लौंथरू गांव की एवरेस्ट विजेता सविता कंसवाल की मौत हो गई। वह प्रशिक्षु के तौर पर दल के साथ मौजूद थी। शुक्रवार को बरामद हुए 7 शवों में सविता कंसवाल का शव भी बरामद हुआ। जिला अस्पताल परिसर में एवरेस्ट विजेता सविता कंसवाल के पार्थिव शरीर को गार्ड आफ आनर दिया गया।

उत्तरकाशी एवलॉन्च में क्या हुआ

गौरतलब है कि उच्च हिमालयी क्षेत्र में प्रशिक्षण के लिए निकला नेहरू पर्वतारोहण संस्थान का 42 पर्वतारोहियों का दल मंगलवार सुबह द्रौपदी का डांडा 2 पर्वत चोटी के पास हिमस्खलन की चपेट में आ गया था। 42 सदस्यीय एडवांस दल में से 13 लोगों का रेस्क्यू हो गया था और कुल 29 लोग फंसे रह गए थे। वायुसेना, एसडीआरएफ, एनडीआरएफ के अलावा जम्मू कश्मीर हाई एल्टीट्यूड वारफेयर स्कूल गुलमर्ग की टीम भी रेस्क्यू कार्य में जुटी है। द्रौपदी का डांडा पर्वत चोटी उत्तरकाशी के भटवाड़ी ब्लॉक में भुक्की गांव के ऊपर स्थित है।

 

हमसे व्हाट्सएप पर जुड़ें

https://chat.whatsapp.com/IZeqFp57B2o0g92YKGVoVz

हमसे यूट्यूब पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

 

Check Also

विस सत्र 2 दिन में खत्म करने पर बिफरे विधायक मनोज तिवारी, सरकार पर लगाये यह आरोप

🔊 इस खबर को सुने अल्मोड़ा: उत्तराखंड का शीतकालीन विधानसभा सत्र 2 दिन में खत्म …