Breaking News

अल्मोड़ा: स्कूल सेफ्टी प्रोग्राम के तहत स्टूडेंट को बताए आपदा में बचाव के तरीकें

अल्मोड़ा: उत्तराखंड राज्य आपदा की दृष्टि से बेहद संवेदनशील है। आपदा के दौरान स्कूली बच्चे व शिक्षक कैसे अपना बचाव कर सकते है। इसको लेकर आपदा प्रबंधक प्राधिकरण द्वारा स्कूलों में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे है।

इसी क्रम में शनिवार को स्कूल सेफ्टी प्रोग्राम (school safety program) के तहत 15वी वाहिनी एनडीआरएफ (National Disaster Response Force)  द्वारा राजकीय इण्टर कालेज बमनस्वाल (Government Inter College Bamanswal) में छात्र-छात्राओं को आपदा दौरान, भूकंप, बाढ़, आग, भूस्खलन आदि से कैसे बचाव किया जा सकता है इसके सम्बन्ध प्रशिक्षण प्रदान किया गया। साथ ही छात्र-छात्राओं को आपदा के समय काम आने वाले उपकरणों की जानकारी दी गई।

प्रशिक्षण में वाहिनी के इंस्पेक्टर प्रकाश चन्द्र पाण्डे (Inspector Prakash Chandra Pandey) व उनकी टीम ने छात्र-छात्राओं व शिक्षकों को ब्लड कन्ट्रेलिंग, अग्निशमन, बाढ़ से सुरक्षा, रोप क्लाईबिंग, इमरजेन्सी मूवमेन्ट, इम्प्रोवाइज स्ट्रेचर बनाने की जानकारी दी। इस दौरान स्कूल को एनडीआरएफ टीम की ओर से आपदा प्रबन्धन से सम्बन्धित एक आपदा प्रबन्धन व्यवस्था किट भी उपलब्ध कराया गया।

जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी विनीत पाल (District Disaster Management Officer Vineet Pal) ने बताया कि यह प्रशिक्षण कार्यक्रम काफी उत्साहवर्धक रहा। जिले के अलग-अलग स्कूलों में यह प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके तहत संबंधित स्कूलों के शिक्षकों और बच्चों को बताया जाएगा कि उनका क्षेत्र किस तरह की आपदा के लिहाज से संवेदनशील है। इसके लिए स्कूल में उपलब्ध संसाधन का किस तरह इस्तेमाल कर सकते हैं।

इस कार्यक्रम में विद्यालय के प्रधानाचार्य राजेन्द्र सिंह, जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी विनीत पाल, मास्टर ट्रेनर आलोक वर्मा, स्कूल के शिक्षक, कर्मचारी व छात्र-छात्राएं आदि मौजूद रहे।

 

हमसे व्हाट्सएप पर जुड़ें

https://chat.whatsapp.com/IZeqFp57B2o0g92YKGVoVz

हमसे यूट्यूब पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

Check Also

महिला की बच्चेदानी में था 8 किलो का ट्यमूर… अल्मोड़ा जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने भगवान बनकर ऐस बचाई जान

🔊 इस खबर को सुने अल्मोड़ा: अकसर आपने यह कहावत सुनी होगी कि डॉक्टर भगवान …