Breaking News

Almora: देश-विदेश में पहुंच रही अल्मोड़ा के ‘बिच्छू घास’ से बनी चाय की महक, यहां महिलाएं कर रही तैयार

अल्मोड़ा। उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में बेकार समझे जानी बिच्छू घास महिलाओं को आत्मनिर्भर बना रही है। जी हां, सुनने में जरूर अटपटा लगे लेकिन यह हकीकत है। दरअसल, अल्मोड़ा के हवालबाग में आजीविका मिशन के तहत महिलाएं बिच्छू घास, बुरांश के फूल से चाय और मडुए के बिस्कुट समेत अन्य उत्पाद बना रही है। जिसकी डिमांड न केवल देशभर में बल्कि विदेशों में भी होने लगी है। आजीविका मिशन के तहत चल रहे इस काम मे 35 से 40 महिलाओं को जहाँ सीधे रोजगार मिल रहा है। वही सैकड़ो ग्रामीणों को अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिला हुआ है।

दरअसल, हवालबाग में आजिविका परियोजना में महिलाओं द्वारा साल 2018 से बिच्छु घास की चाय, बुरांश की चाय सहित आठ से अधिक प्रकार की हर्बल टी यहां पर तैयार की जा रही है। यह चाय दिल्ली समेत अन्य महानगरों को आर्डर पर भेजी जाती है। बीते छह माह में हर माह 30 हजार की चाय यहां से बेची जा रही है। यही नहीं देहरादून सचिवालय में भी यहां से चाय भेजी जाती है। क्षेत्र की महिलाएं ही यह चाय तैयार करती हैं। पहाड़ी उत्पादों से खाली चाय के विभिन्न फ्लेवर तैयार करने में यहाँ 30 से अधिक महिलाएं जुटी हुई हैं।

आजिविका मिशन के तहत महिलाएं मडुवे से बिस्किट, पिज्जा समेत विभिन्न पौष्टिक उत्पाद भी तैयार कर रही हैं। जिसकी देशभर से खासी डिमांड आ रही है। आजीविका में तैयार होने वाली चाय समेत अन्य उत्पाद स्वास्थ्य के लिए भी काफी लाभदायक है।

मडुए के बिस्कुट बनाने का काम कर रही महिलाओं ने बताया कि दिल्ली, देहरादून, मुंबई, पश्चिम बंगाल, केरल, हिमाचल राज्य से बिस्किट की काफी डिमांड आ रही है। वही, आजीविका परियोजना में तैयार होने वाले उत्पादों को मुंबई समेत कई बड़े शहरों के कंपनियां खरीद रही है। इसके अलावा एक खास बात यह भी है कि परियोजना के तहत जो भी उत्पाद तैयार किये जा रहे हैं। उसमें सभी उत्पाद महिलाओं की ओर से तैयार किये जा रहे हैं।

कोरोना काल में जहां एक ओर कई लोगों के व्यवसाय ठप पड़ चुके थे वही, हवालबाग में आजिविका परियोजना में महिलाओं द्वारा तैयार किए जा रहे उत्पादों की डिमांड और अधिक बढ़ चुकी थी। कोविड काल में आजीविका मिशन से काढ़ा, हर्बल टी, हल्दी मिक्स आदि उत्पाद भारी मात्रा में सप्लाई किए गए। जिससे आजीविका मिशन को काफी अच्छा आर्थिक लाभ हुआ।

 

Check Also

Road accident:: अल्मोड़ा-हल्द्वानी हाईवे में चौसली के पास KMOU बस दुर्घटनाग्रस्त, यात्रियों की मची चीख पुकार

अल्मोड़ा: अल्मोड़ा-हल्द्वानी हाइवे में चौसली के पास एक सड़क हादसा हो गया। बागेश्वर से हल्द्वानी …