Breaking News

अल्मोड़ा में ‘पैड बैंक’ शुरू… जरूरतमंद महिलाओं व युवतियों को मुफ़्त में मिल सकेंगे सेनेटरी पैड

अल्मोड़ा: आपने ब्लड बैंक, वॉटर बैंक, फूड बैंक का नाम ही सुना होगा। लेकिन जिला मुख्यालय सोच संस्था (socch ngo) की अच्छी पहल से सेनेटरी पैड बैंक शुरू किया गया है। जहां से आर्थिक रूप से कमजोर जरूरतमंद बालिकाओं, छात्राओं व महिलाओं को फ्री में सेनेटरी पैड की सुविधा मिल सकेगी।

एसएसजे विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर जगत सिंह बिष्ट और विभागाध्यक्ष समाजशास्त्र प्रोफेसर इला साह ने संयुक्त रूप से सोच संस्था द्वारा शुरू किए गए पैड बैंक व कार्यालय का उद्घाटन किया। इस अवसर पर सोच संस्था के संस्थापक आशीष पंत, राहुल जोशी और मयंक पंत समेत सभी वॉलिंटियर्स मौजूद रहे।

 

 

इस मौके पर आशीष, राहुल और मयंक ने बताया कि पैड बैंक बनाने का मकसद बीपीएल परिवारों की महिलाओं, छात्राओं व बालिकाओं को निशुल्क रूप से सेनेटरी पैड उपलब्ध कराना है। ऐसी जरूरतमंद महिलाए, युवतियां व छात्राएं उनके कार्यालय, खम्पा मार्केट, नियर भैरव मंदिर में आकर निशुल्क सेनेटरी पैड ले सकते है।

इस अवसर पर कुलपति प्रो. जगत सिंह बिष्ट ने सोच संस्था द्वारा किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा की और उन्होंने सोच संस्था द्वारा शुरू किए गए पैड बैंक की मुहिम को सराहा और उन्होंने सभी लोगों से अपील की कि, वह भी संस्था द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रमों में उनका आर्थिक और अन्य संसाधनों के माध्यम से सहयोग करें।

प्रो. इला साह ने कहा की इस पैड बैंक को हमेशा भरे रहने की जिम्मेदारी हम सभी की है और वह स्वयं भी हमेशा इस समाज सेवा के कार्य में सोच संस्था के साथ है।

नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी ने कहा की भविष्य में नगर पालिका सोच संस्था के साथ मिलकर समाज कार्यों के लिए काम करेगी। उन्होंने कहा की हम सभी को सामाजिक कार्य में अपना योगदान देना चाहिए और उन्होंने आशीष के द्वारा किए जा रहे शोध कार्य की भी प्रसंशा की।

प्रो. भीमा मनराल ने कहा की पिछले 3 वर्षो से आशीष और राहुल के द्वारा मासिक धर्म विषय पर किए जा रहे कार्यक्रमों से समाज में काफी बदलाव देखने को मिल रहा है। उन्होंने कहा की सोच संस्था का साथ देने की हम सभी की व्यक्तिगत जिम्मेदारी है और सभी पीरियड्स विषय पर कार्य करने में संस्था का सहयोग करें।

कार्यक्रम में सोच संस्था के वोलेंटियर हिमांशी, विद्या, प्रियंका, ऋतिक, दीपाली, मनदीप, सोनी, नीलम, कल्पना, सुचेता, शाहरुख, अभिषेक, मनोज आदि मौजूद रहे।

इस अवसर पर पी. सी. तिवारी, प्रो. शेखर जोशी, धीरेंद्र सिंह गैलाकोटी, योगेश मैनाली, वैभव पांडे, कमल कोरंगा, अखिलेश टम्टा, संदीप नयाल, विनय किरौला, कैलाश गुरुरूरानी, अजीत कार्की, गोकुल सिंह खनी, संदीप तरागी, नितिन आदि मौजूद रहे।

महिलाओं के मुश्किल दिनों को आसान करेगा पैड बैंक

आधुनिकता के युग में भी माहावारी को लेकर जागरूकता का अभाव है। खासतौर पर ग्रामीण अंचल में आज भी महिलाए, किशोरियां व युवतियां माहावारी के दौरान स्वच्छता को लेकर बहुत ज्यादा जागरूक नहीं है। मेडिकल स्टोर्स में जाने और इसे खरीदने में आज भी लोग संकोच करते है, इसलिए माहवारी आने पर बालिकाओं व महिलाओं को कई परेशानियों से जूझना पड़ता है। सामान्य कपड़े का उपयोग करते है। जो बाद में घातक भी साबित हो सकता है। सोच संस्था के संस्थापक आशीष पंत ने बताया कि इसी को ध्यान में रखकर महिलाओं व बालिकाओं के हित में पैड बैंक शुरू किया गया है। सोच संस्था का मुख्य उद्देश्य महिलाओं व बालिकाओं को माहावारी के दौरान स्वच्छता को लेकर जागरूक करना है।

 

हमसे व्हाट्सएप पर जुड़ें

https://chat.whatsapp.com/IZeqFp57B2o0g92YKGVoVz

हमसे यूट्यूब पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

 

Check Also

Schools closed:: भारी बारिश का अलर्ट, कुमाऊं मंडल के इन जिलों में कल बंद रहेंगे स्कूल व आंगनबाड़ी केंद्र, देखें आदेश

इंडिया भारत न्यूज डेस्क: उत्तराखंड के कुमाऊं मंडल में भारी बारिश के अलर्ट को देखते …