Breaking News

पुलिस की बड़ी सफलता, गुलदार की खाल के साथ तस्कर दबोचा, पुलिस की पूछताछ में हुआ चौंकाने वाला खुलासा

अल्मोड़ा: नवनियुक्त एसएसपी रचिता जुयाल ने पदभार संभालते ही तस्करों की धरपकड़ के लिए कार्यवाही शुरू कर दी है। इसी क्रम में पुलिस के हाथ एक बड़ी सफलता लगी है। गुलदार की खाल के साथ एक तस्कर को पुलिस ने​ गिरफ्तार किया है। पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने जो बताया वह बेहद चौंकाने वाला है।

गुरुवार को पत्रकार वार्ता में एसएसपी रचिता जुयाल ने बताया कि सोमेश्वर पुलिस टीम, एसओजी व एएनटीएफ ने कोसी के पास दौलाघट पुल पर आरोपी नंदकिशोर (28) पुत्र प्रेम राम, निवासी फल्याटी, अमसरकोट, बागेश्वर से एक खाल बरामद की। जिसके बाद पुलिस ने मौके पर वन विभाग के अधिकारियों को बुलाया तो उन्होंने गुलदार के खाल के रूप में इसकी पुष्टि की। नापने पर गुलदार की खाल की नाक से पूंछ तक की लंबाई 160 सेंटीमीटर, चौड़ाई 58 सेंटीमीटर निकली। इसके अलावा गुलदार के दांत व नाखून भी खाल में मौजूद थे। पुलिस ने आरोपी नंदकिशोर के खिलाफ धारा 2/9/39/49b/50/51/57 वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 व 429 भादवि के तहत मुकदमा दर्ज कर आवश्यक कार्यवाही शुरू कर दी है।

मांस में जहर मिलाकर गुलदार को मारा

एसएसपी जुयाल ने कहा कि आरोपी बेहद शातिर किस्म का तस्कर है। आरोपी ने अपने गांव में ही गुलदार को मारने के लिए मांस में जहर मिलाया। प्वाजिनिंग मांस खाने से जब गुलदार की मौत हुई, फिर सिर से पूछ तक उसकी खाल उतारी। आरोपी गुलदार की खाल को ऊंचे दाम में बेचने के लिए तराई की ओर ले जा रहा था। लेकिन पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। एसएसपी ने कहा कि आरोपी ने इस कार्य को बेहद पेशेवर ​तरीके से अंजाम दिया है। सिर से पूंछ तक खाल ​में एक भी निशान नहीं है।

वन्य जीव तस्करी के अन्य अपराध होने का अंदेशा

इस मामले के सामने आने के बाद पुलिस को अंदेशा है कि जिले में इस तरह के अन्य क्राइम होते होंगे या हो सकते है। जिसके लिए पुलिस अब सतर्क हो चुकी है। एसएसपी रचिता जुयाल ने कहा कि आगे वन्य जीव अपराध न हो और ऐसे अपराधों पर अंकुश लग सके, इसके लिए पुलिस इंटेलिजेंस को और मजबूत ​किया जाएगा। एसएसपी ने कहा कि आरोपी गुलदार की खाल को तराई में कहां बेचने जा रहा था। इस तरह के कोई नेटवर्क का लिंक अगर पुलिस को मिलता है तो उस पर ठोस कार्रवाई की जाएगी।

एसएसपी ने गिरफ्तारी टीम को दिया नगद ईमान

एसएसपी रचिता जुयाल ने कहा कि इससे पहले वर्ष 2019 में गुलदार की खाल की तस्करी का मामला सामने आया था। ऐसे में पुलिस के लिए यह एक बड़ी सफलता है। एसएसपी ने तस्कर को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को 8,700 रुपये के नगद ईनाम से पुरस्कृत किया है।

पुलिस टीम में ये रहे मौजूद

थानाध्यक्ष सोमेश्वर विजय नेगी, प्रभारी एसओजी सुनील धानिक, प्रभारी एएनटीएफ सौरभ भारती, सोमेश्वर थाने से हेड कांस्टेबल गोपाल गिरी, कांस्टेबल सूरज सिंह व एसओजी से कांस्टेबल राकेश भट्ट व पवन थ्वाल आदि मौजूद रहे।

 

 

हमसे व्हाट्सएप पर जुड़ें

https://chat.whatsapp.com/IZeqFp57B2o0g92YKGVoVz

हमसे यूट्यूब पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

Check Also

bjp logo

Uttarakhand Byelection Results:: उपचुनाव में बीजेपी को बड़ा झटका, जानिए दोनों सीटों पर हार की बड़ी वजह

देहरादून: उत्तराखंड उपचुनाव 2024 में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। बीजेपी मंगलौर और बदरीनाथ …