Breaking News

अल्मोड़ा: मंत्री सौरभ बहुगुणा बोले- जो ड्यूटी दी है अधिकारी उसे निभाये, वरना होगा एक्शन

अल्मोड़ा: दुग्ध संघ में प्रधान प्रबंधक की तैनाती के विरोध में कर्मचारी पिछले कई दिनों से कार्य बहिष्कार पर है। वही, इस मामले को लेकर दुग्ध विकास मंत्री सौरभ बहुगुणा ने बड़ा बयान दिया है। मंत्री बहुगुणा ने कहा कि अल्मोड़ा दुग्ध संघ सोसायटी को भंग करने के बाद सीडीओ को चार्ज दिया गया है और नए जीएम की तैनाती की गई है। अगर जीएम ठीक काम नहीं करेंगे तो उन्हें भी हटाया जाएगा।

मंत्री ने कहा कि जो अधिकारी ठीक से काम नहीं करेगा उसे रहने का कोई अधिकार नही है। धामी सरकार पूर्व में यह स्पष्ट आदेश कर चुकी है कि अधिकारी अपना काम ठीक से करें, जो अधिकारी काम नहीं करेगा उस पर एक्शन लिया जाएगा।

नए जीएम पर भ्रष्टाचार के आरोप के सवाल पर मंत्री सौरभ बहुगुणा ने कहा कि इस संबंध में उनका एक डेलीगेशन कर्मचारियों से बात करने के लिए गया है। इसका निष्कर्ष अभी उनके सामने नही रखा गया है। जो भी निष्कर्ष निकलेगा उस पर चर्चा की जाएगी। वे खुद भी कर्मचारियों से बात करेंगे।

दुग्ध समितियों की देनदारी व कर्मचारियों के वेतन के भुगतान को लेकर कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा ने कहा कि कई ऐसी डेरी थी जो पिछली सरकार से नुकसान में थी, उन्हें पुनर्जीवित करने का काम किया जा रहा है। मंत्री ने कहा कि कर्मचारियों की सैलरी को लेकर अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर ली है। जल्द ही पेंडिंग सैलेरी जारी कर दी जाएगी।

ये है मामला-

अल्मोड़ा के पातालदेवी स्थित दुग्ध संघ की प्रबंध समिति पर कई आरोप लगे थे। जिसके बाद प्रबंध कमेटी को भंग कर दिया गया था। वही, दुग्ध समिति के प्रधान प्रबंधक को हटाकर राजेश मेहता को दुग्ध संघ का प्रधान प्रबंधक बनाया गया। राजेश मेहता इससे पहले दुग्ध संघ, पिथौरागढ़ में प्रबंधक के पद पर कार्यरत थे। उनकी तैनाती के बाद दुग्ध संघ के कर्मचारी कार्यबहिष्कार पर है। कर्मचारियों का आरोप है कि राजेश मेहता के खिलाफ पहले से घोटाले व वित्तीय अनियमितताओं के मामलों में जांच चल रही है। साथ ही कर्मचारियों का कहना है कि नये प्रबंधक राजेश मेहता यूसीडीएफ स्टाफ है। जिनका सालाना करीब 15 लाख का वेतन संस्था से ही आहरण होगा। जबकि संस्था इतना भारी भरकम वेतन, भत्ता आदि वहन करने में सक्षम नहीं है। कर्मचारियों की मांग है कि किसी राजकीय विभागीय अधिकारी को दुग्ध संघ का प्रधान प्रबंधक बनाया जाए।

बताते चले कि अल्मोड़ा दुग्ध संघ से जुड़े समितियों का वर्तमान में करीब 2 करोड़ का भुगतान लम्बित है। वही, दुग्ध संघ के कर्मचारियों को पिछले 3 माह से वेतन नहीं दिया गया है।

 

हमसे व्हाट्सएप पर जुड़ें

https://chat.whatsapp.com/IZeqFp57B2o0g92YKGVoVz

हमसे यूट्यूब पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

Check Also

Uttarakhand Forest Fire:: उत्तराखंड के सुलगते जंगलों पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, केंद्र और राज्य सरकार को लगाई फटकार, चीफ सेक्रटरी तलब

नई दिल्ली: उत्तराखंड के सुलगते जंगलों (Uttarakhand Forest Fire) ने हर किसी को गंभीर कर …