Breaking News

ब्रेकिंग: अचानक निरीक्षण में पहुंचे कुमाऊं कमिश्नर तो खुली अधिकारी-कर्मचारियों की पोल… तहसीलदार समेत अन्य अधिकारियों की लगाई क्लास

तहसीलद में अनियमितताएं देख बिफरे कुमाऊं कमिश्नर, तहसीलदार से मांगा स्पष्टीकरण

इंडिया भारत न्यूज डेस्क: कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत (Kumaon commissioner Deepak Rawat) ने उधमसिंह नगर के रुद्रपुर तहसील का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्हें कई गंभीर लापरवाही व अनियमितताएं मिली। यह सब देख कुमाऊं कमिश्नर बिफर पड़े। उन्होंने मौके पर तहसीलदार समेत अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों को जमकर फटकार लगाई। साथ ही स्पष्टीकरण लेने के निर्देश दिए।

बुधवार को कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत के अचानक तहसील पहुंचने पर अधिकारियों व कर्मचारियों में हड़कंप मच पड़ा। करीब दो से ढाई घंटे तक कुमाऊं कमिश्नर ने पत्रावलियों व अन्य फाइलों की जांच की। जिसमें कई प्रकार की खामियां पाई गई। वर्ष, 2020-21 की फाइलें अव्यवस्थित मिली। उन्होंने फाइलें उथल पुथल और पुरानी फाइल टेबल पर पड़ी होने का कारण पूछा। जिसपर कोई भी अधिकारी जवाब नही दे सके। विवादित मामलों की संख्या और निस्तारण लंबे समय से न होने पर नाराजगी व्यक्त की। तमाम शिकायत वाली फाइलों पर तहसीलदार के हस्ताक्षर न होने पर उन्हें फटकार लगाई।

इसके बाद एक फाइल में शिकायतकर्ता के 16 आवेदनों पर भी समस्या का निस्तारण न होने पर बिफर पड़े। तीन पुरानी फाइल निकाल उनके निस्तारण न होने, सभी फाइलों को आरसीएमएस पोर्टल पर अपलोड न करने पर उन्होंने आशुलिपिक को लताड़ लगाई।
इसके साथ ही 143 के लिए पहुंची फाइलों को संज्ञान में लेने पर कई गड़बड़ी सामने आई। जिसमें फाइलों पर हस्ताक्षर न होना, फोटो स्पष्ट न होना, बिना किसी अधिकृत अधिकारी के आदेश के मौका मुआयना और रिपोर्ट लगाना, फाइलों में हस्ताक्षर के बिना ही प्रेषित करना आदि। सभी अनियमितताओं पर तहसीलदार नीतू डागर, नाजिर अख्तर अली, एओ मनोज व दोनों कानूनगो तथा नयाब तहसीलदार को जमकर फटकार लगाई।

कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत ने कहा कि निरीक्षण के दौरान कई प्रकार की खामियां​ पाई गई है। जिसको लेकर अधिकारियों व कर्मचारियों की जिम्मेदारी तय की जा रही है और मामले की जांच कराई जा रही है। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसे दंडित किया जाएगा। लापरवाही पर तहसीलदार से स्पष्टीकरण मांगा गया है। साथ ही जिलाधिकारी व एसडीएम को नियमित रूप से तहसील के कार्यों की जांच को निर्देशित किया है।

कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत अपने तेज तर्रार रवैये और तुरंत एक्शन के लिए जाने जाते है। अपनी कार्यशैली की वजह से वह सोशल मीडिया में अक्सर सुर्खियों में रहते है। इंटरनेट की दुनिया ही नहीं ​बल्कि जमीनी स्तर पर भी सख्त मिजाज व अपने एक्शन के लिए वह चर्चाओं में रहते है।

 

 

हमसे व्हाट्सएप पर जुड़ें

https://chat.whatsapp.com/IZeqFp57B2o0g92YKGVoVz

हमसे यूट्यूब पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

Check Also

जीआईसी लोधिया में PTA-SMC का हुआ गठन, राजेंद्र व हरीश अध्यक्ष पद पर हुए मनोनीत

अल्मोड़ा: नगर से लगे राजकीय इंटर कालेज लोधिया में विद्यालय प्रबंधन समिति (SMC) तथा शिक्षक-अभिभावक …