Breaking News

Almora: डोल आश्रम में 23 अप्रैल से शुरू होगी श्रीमद्भागवत कथा, सुप्रसिद्ध संत रमेशभाई ओझा करेंगे कथावाचन

-1 मई को वार्षिकोत्सव का होगा आगाज

अल्मोड़ा: श्री कल्याणिका हिमालय देवस्थानम डोल आश्रम(Sri Kalyanika Himalaya Devasthanam Dol Ashram) में आगामी 23 से 30 अप्रैल तक श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान यज्ञ का आयोजन होने जा रहा है। जिसमें जाने माने कथावाचक रमेशभाई ओझा कथावाचन करेंगे। भागवत कथा को लेकर आश्रम में इन दिनों तैयारियां जोरों से चल रही है। बाहर से आने वाले संतों, आचार्यों व अन्य अतिथियों को कोई दिक्कत न हो, इसके लिए सभी जरूरी व्यवस्थाओं को चाक चौबंद किया जा रहा है।

शुक्रवार को श्री कल्याणिका हिमालय देवस्थानम न्यास, कनरा, डोल आश्रम के संस्थापक बाबा कल्याण दास महाराज(Baba Kalyan Das Maharaj) ने पत्रकार वार्ता में बताया कि रायपुर, छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध उद्योगपति स्व. निरंजनलाल अग्रवाल की स्मृति में गंगादेवी अग्रवाल, वंदना ग्रुप के सुभाष अग्रवाल व उनके परिजनों की ओर से डोल आश्रम में भागवत कथा का आयोजन किया जा रहा है। जिसकी शुरूआत 23 अप्रैल यानि रविवार को भव्य शोभायात्रा के साथ होगी। भागवत कथा 30 अप्रैल तक आयोजित होगी। जिसमें देश के कई हिस्सों से हजारों की तादात में श्रद्धालु हिस्सा लेंगे। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के दूर दराज इलाकों से लोगों के लिए बस सेवा चलाई जाएगी। ताकि लोगों को आश्रम तक पहुंचने में कोई दिक्कत न हो।

प्रख्यात संत रमेशभाई ओझा करेंगे कथावाचन

आठ दिन तक आयोजित होने वाली श्रीमद्भागवत कथा के वाचन के लिए जाने माने कथावाचक रमेशभाई ओझा डोल आश्रम पहुंचेंगे। 23 अप्रैल अक्षय तृतीया को काशी से आए आचार्यों द्वारा देवार्चन क्रम का शुभारंभ किया जाएगा। प्रतिदिन सुबह साढ़े 10 बजे से दोपहर डेढ़ बजे तक संत रमेशभाई ओझा द्वारा कथा का वाचन किया जाएगा। 25, 26 व 27 अप्रैल को प्रतिदिन शाम 6 से 8 बजे तक भारत के सुप्रसिद्ध देवकीनंदन शर्मा (वृंदावन वाले) रासलीला मंचन करेंगे।

वार्षिक महोत्सव में आएंगे CM धामी

श्रीमद्भागवत कथा के बाद 1 मई से 5 मई तक डोल आश्रम में वार्षिकोत्सव कार्यक्रम का आयोजन होगा। जिसमें सूबे के सीएम पुष्कर सिंह धामी का कार्यक्रम प्रस्तावित है। सीएम 5 मई को वार्षिक महोत्सव कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। इस दिन सुबह क्षेत्र की करीब 1500 से अधिक महिलाओं द्वारा भव्य कलश यात्रा निकाली जाएगी। साथ ही 1000 से अधिक कन्याओं का पूजन, धर्म ध्वज की स्थापना, पूजन आरती आदि कार्यक्रम होंगे। महोत्सव में 1 से 4 मई तक प्रतिदिन उत्तराखंड सांस्कृतिक विभाग द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। जिसमें कलाकारों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी जाएगी। विशाल भंडारे के साथ कार्यक्रम का समापन होगा।

अध्यात्म के दृष्टिकोण से पर्यटन को बढ़ावा दे सरकार

डोल आश्रम के संस्थापक बाबा कल्याण दास महाराज ने कहा कि उत्तराखंड को आज आध्यात्मिक पर्यटन से जोड़ने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में चार धाम समेत अनेक धार्मिक स्थल हैं। जिस कारण इसे देवभूमि कहा जाता है। बाहर से आने वाले पर्यटकों को यहां के प्राकृतिक सौंदर्य व हिमालय दर्शन के बाद उनमें आध्यात्मिक भाव जागृत होता है। सरकार को चाहिए कि वह धार्मिक स्थलों के आस पास पर्यटकों की जरूरत के अनुरूप व्यवस्थाएं अच्छी करें। जिससे उसके आस पास के बड़े क्षेत्र में समृद्धि आ सकती है।

बाबा कल्याण दास महाराज ने कहा कि डोल आश्रम का मुख्य उद्देश्य भारतीय संस्कृति व परंपराओं का प्रचार प्रसार करना है। संस्था द्वारा निर्धन व असहाय बच्चों को अच्छी शिक्षा के साथ साथ संस्कारवान बनाने का काम किया जा रहा है। जरूरतमंद लोगों को निशुल्क दवाई, मरीजों को एंबुलेंस सेवाएं उपलब्ध कराई जा रही है। जल्द ही डोल आश्रम में महाविद्यालय की स्थापना पर विचार किया जा रहा है।

पत्रकार वार्ता में वंदना ग्रुप के सुभाष अग्रवाल, विनोद अग्रवाल के अलावा पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल, विधायक मनोज तिवारी, कांग्रेस नगर अध्यक्ष तारा चंद्र जोशी, गोपाल सिंह चौहान, रमेश मेलकानी आदि लोग मौजूद रहे।

 

 

हमसे व्हाट्सएप पर जुड़ें

https://chat.whatsapp.com/IZeqFp57B2o0g92YKGVoVz

हमसे यूट्यूब पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

Check Also

बेरोजगार संघ का CM आवास कूच, पुलिस व प्रदर्शनकारियों के बीच धक्का-मुक्की

  देहरादूनः उत्तराखंड बेरोजगार संघ के बैनर तले बेरोजगारों ने शनिवार केा सीएम आवास कूच …