Breaking News

डीडीएम नाबार्ड ने विकास कार्यों का किया स्थलीय निरीक्षण

अल्मोड़ा: एकीकृत आदिवासी विकास निधि परियोजना के अंतर्गत संजीवनी विकास एवं जनकल्याण समिति रानीखेत के संयुक्त तत्वाधान में नाबार्ड द्वारा वित्त पोषित जनजाति विकास निधि के कार्यों का डीडीएम नाबार्ड गिरीश पंत ने चयनित गांवों में पहुंचकर बगीचे, फेसिंग, बाढ़ सुरक्षा, पौंधों का निरीक्षण किया। इस दौरान सहायक प्रबंधक दीपक भी मौजूद रहे।

डीडीएम ने चौड़ा, फरशाली पल्ली, मल्लादेश, तिमलबगड़ गांव में योजना के अंतर्गत बाड़ी (बगीचे) के रूप में लगाये गये कीवी, आड़ू, नेक्टरीन, पुलम व सुरक्षा के रूप में लगाये गये फेंसिंग, बाढ़ सुरक्षा के साथ ही पौधों का निरीक्षण किया।

सबसे पहले ग्राम सभा चौड़ा का निरीक्षण किया। जहां किसानों द्वारा सामूहिक रूप से 6 हेक्टेयर में एक कलस्टर में लगे पौधों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने सभी किसानों से पौधों व फलों से होने वाली आजीविका के संबंध में जानकारी ली। फरशाली पल्ली, मल्लादेश व तिमलबगड़ गांव में निरीक्षण भी किया। इस बीच संस्था के बागवानी तकनीकी सलाहकार डॉ. रमेश बिष्ट जी द्वारा सभी किसानों को पौंधरोपण से सम्बंधित जानकारी उनके खेतों में जाकर दी गयी। डीडीएम ने निरीक्षण के दौरान कार्य को सराहा और आगे के कार्य की तैयारी करने को कहा गया।

इस मौके पर संजीवनी संस्था के सचिव महेश घुघतियाल, बागवानी सलाहकार डॉ. रमेश बिष्ट, संस्था के संतोष कुमार जोशी, विनोद सिंह, दीवान सिंह कपकोटी, जनजाति परियोजना विकास समिति के अध्यक्ष हीरा सिंह, रेखा देवी, चौड़ा के ग्राम प्रधन चंदन सिंह, नारायण सिंह, रेनू, ममता,​ जितेंद्र, नैना, कपिल सिंह, शीला, बसंती, मल्लादेश की प्रधान विमला देवी, कविता देवी, केदार सिंह, पूजा, देवकी देवी, केलाश सिंह समेत कई किसान मौजूद रहे।

Check Also

Almora-(big breaking): बीच सड़क पर पलटा बोलेरो वाहन, पढ़ें पूरी खबर

  अल्मोड़ा: जिले में आज एक बड़ा सड़क हादसा होने टल गया। सेराघाट के पास …