Breaking News

Canada Open Badminton: लक्ष्य सेन ने जीता कनाडा ओपन बैडमिंटन का खिताब, फाइनल में चीनी शटलर को दी मात

अल्मोड़ा: भारतीय युवा शटलर लक्ष्य सेन ने रविवार को कैलगरी में हुए कनाडा ओपन 2023 के पुरुष एकल फ़ाइनल में ऑल इंग्लैंड चैंपियन ली शी फ़ेंग को हराकर चैंपियनशिप जीत ली। बैडमिंटन विश्व रैंकिंग के 19वें स्थान पर काबिज़ लक्ष्य सेन ने 50 मिनट तक चले मैच में चीन के शटलर को 21-18, 22-20 से हराया।

आपको बता दें, यह लक्ष्य का इस साल का पहला और उनके करियर का दूसरा BWF वर्ल्ड टूर टाइटल है। लक्ष्य ने इससे पहले इंडिया ओपन का ख़िताब अपने नाम किया था।

कनाडा ओपन 2023 के सेमीफाइनल मुकाबले में लक्ष्य सेन ने जापान के 11वीं रैंकिंग के खिलाड़ी केंटो निशिमोतो को 21-17 और 21-14 से मात देने के साथ फाइनल में अपनी जगह को पक्का किया था। भारतीय शटलर का पिछले कुछ सालों में बेहतर प्रदर्शन ना होने की वजह से वह रैंकिंग के मामले में 19वें स्थान पर पहुंच गए हैं।

प्रकाश पादुकोण एकेडमी(Prakash Padukone Academy) के मुख्य कोच विमल कुमार पूरे टूर्नामेंट के दौरान लक्ष्य के प्रदर्शन से काफी खुश है। उन्होंने लक्ष्य की इस उपलब्धि के तुरंत बाद लक्ष्य की माता निर्मला धीरेन सेन को बधाई प्रेषित की।

लक्ष्य की इस उपलब्धि पर उत्तरांचल राज्य बैडमिंटन संघ की अध्यक्ष डॉ. अलकनंदा अशोक, सचिव बी.एस मनकोटी समेत समस्त उत्तराखंड बैडमिंटन परिवार, खिलाड़ियों व खेल प्रेमियों के साथ ही उनके गृह जनपद से विधायक मनोज तिवारी, नगरपालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी, जिला बैडमिंटन संघ के चेयरमैन व उत्तराखंड बैडमिंटन के कोषाध्यक्ष राम अवतार, अध्यक्ष प्रशांत जोशी, उपाध्यक्ष प्रशासनिक गोकुल सिंह मेहता, उपाध्यक्ष राकेश जायसवाल, सचिव डॉ. संतोष बिष्ट, सह सचिव संजय नज्जौन, कोषाध्यक्ष नंदन रावत समन्वयक विजय प्रताप सिंह, मीडिया प्रभारी डी.के. जोशी, सुरेश कर्नाटक, जगनमोहन सिंह फर्त्याल, शेखर लखचौरा, एन.एस. रजवार, हेम तिवारी, राजू तिवारी, प्रतीक महरा, जग्गू वर्मा, ज़िला खेल अधिकारी अरुण बंग्याल आदि ने उनकी माता निर्मला धीरेन सेन तथा कोच व पिता डी.के. सेन को बधाई प्रेषित की है।

 

हमसे whatsapp पर जुड़े

हमसे youtube पर जुड़ें

Check Also

अल्मोड़ा-(बिग ब्रेकिंग):: एक स्मैक खरीदकर लाता था तो दूसरा पुड़िया बनाकर बेचता था; लाखों रुपये कीमत की स्मैक के साथ दो तस्कर गिरफ्तार

अल्मोड़ा: पहाड़ में नशे का कारोबार तेजी से बढ़ रहा है। आलम ये है कि …