Breaking News

Almora: समस्याओं के समाधान के लिए लोनिवि के कर्मचारियों ने दिया अल्टीमेटम, बड़े आंदोलन की दी चेतावनी, जानिए पूरा मामला

अल्मोड़ा: लोक निर्माण विभाग के फील्ड कर्मचारियों में उनकी समस्याए नही सुनी जाने पर भयंकर आक्रोश है। पूर्व से नियत बैठक में समस्याओं के समाधान के लिए वार्ता न करने से गुस्साए कर्मचारियों ने शनिवार को लोअर माल रोड स्थित लोक निर्माण विभाग के क्षेत्रीय कार्यालय में प्रदर्शन कर विरोध में नारे लगाए। वही, अधिकारियों पर तानाशाही रैवय्या अपनाने एवं कर्मचारियों की पेंशन के संबंध में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए चेतावनी दी कि एक सप्ताह के अंदर उनकी मांगें नहीं मानी गई तो वह क्षेत्र के सभी कार्यालयों में धरना प्रदर्शन कर आंदोलन करेंगे। वहीं अधिकारियों का घेराव करेंगे। पेंशन प्रकरण में हीलाहवाली करने वाले अधिकारियों के खिलाफ न्यायालय में वाद दायर करेंगे।

प्रदर्शन के दौरान कर्मचारियों ने कहा कि फील्ड कर्मचारियों की समस्याओं के समाधान के संबंध में मुख्य अभियता ने बैठक बुलाई थी। जिसमें सभी अधीक्षण अभियंता व अधिशासी अभियंताओं को भी आना था। लेकिन बैठक में कर्मचारियों की कोई समस्या नहीं सुनी गई। बैठक की औपचारिकताएं तक पूरी नहीं की गई। मुख्य अभियंता ने विना वार्ता के पहले से ही पत्र बनाकर रखा था जो संगठन को गुमराह करने की मंशा से था।

संघ के क्षेत्रीय अध्यक्ष ललित मोहन शर्मा ने कहा कि उनकी मुख्य मांग कर्मचारियों की पेंशन प्रकरण के संबंध में थी। विभाग के कर्मचारी जो एक वर्ष पूर्व सेवानिवृत्त हो चुके हैं उनके पेंशन के कागजात अधिशासी अभियंता की लेटलतीफी के कारण कोषागार तक नहीं पहुंचे। जिससे अब वह सेवानिवृत्त कर्मचारी पेंशन से वंचित हो गए हैं। सेवानिवृत्ति के बाद मिलने वाली सुविधाओं का कोई लाभ भी उन्हें नहीं मिल सकेगा।

संगठन ने मांग की है कि जिन अधिकारियों की लापरवाही से सेवानिवृत्त कर्मचारी अपने पेंशन से वंचित हुए है सरकार या मुख्य अभियंता उन लापरवाह अधिकारियों की जिम्मेदारी तय करते हुए उनसे वसूली कर सेवानिवृत्त कर्मचारियों को उनकी धनराशि उपलब्ध कराए। पदाधिकारियों ने कहा कि ऐसा नहीं होने पर संगठन न्यायालय की शरण जाएगा और लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ न्यायालय में व्यक्तिगत वाद भी दायर करेगा।

इसके अलावा कर्मचारियों ने कहा कि पदाेन्नति के मामले में भी हीलाहवाली की जा रही है। बैठक में इस संबंध में वार्ता होनी थी लेकिन मुख्य अभियंता बिना वार्ता किए तीन मिनट में बैठक से चले गए और कर्मचारियों की बात नहीं सुनी। कर्मचारियों ने तुरंत एक नोटिस तैयार कर मुख्य अभियंता कार्यालय में दिया और चेतावनी दी कि एक सप्ताह में मांगों पर सकारात्मक निर्णय नहीं लिया गया तो वह धरना प्रदर्शन कर आंदोलन करेंगे और अधिकारियों का घेराव करेंगे। प्रदेश स्तर तक आंदोलन किया जाएगा।

बैठक के लिए अल्मोड़ा सहित पिथौरागढ़, बागेश्वर व चंपावत से कर्मचारी पहुंचे हुए थे।

इस दौरान क्षेत्रीय ललित मोहन शर्मा, महामंत्री हरीश चंद्र जोशी, जिलाध्यक्ष ललित पेटशाली, बागेश्वर जिलाध्यक्ष आनंद टाकुली, अल्मोड़ा जिला महामंत्री मुकेश चंद्र सिंह, पिथौरागढ़ जिलाध्यक्ष नंद किशोर जोशी, बागेश्वर जिला महामंत्री कुंदन सिंह, उमेश बिनवाल, धन सिंह, मनोज कुमार, कुंदन सिंह, बबलू आदि मौजूद रहे।

 

हमसे whatsapp पर जुड़े

हमसे youtube पर जुड़ें

Check Also

breaking

Road accident:: अल्मोड़ा में सड़क हादसा, यात्रियों में मची चीख पुकार, पढ़ें पूरी खबर

-आमने-सामने टक्कर में दोनों वाहनों के आगे का हिस्सा हुआ क्षतिग्रस्त अल्मोड़ा: नगर से लगे …