Breaking News

Adhir Ranjan के निलंबन के बाद आग बबूला हुई कांग्रेस, कहा- तानाशाही रवैया अपनाकर लोकतंत्र की आवाज दबा रही सरकार

अल्मोड़ा: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अधीर रंजन चौधरी के निलंबन के बाद सियासी संग्राम छिड़ गया है। कार्यवाही से गुस्साएं कांग्रेसियों ने आज चौघानपाटा में केंद्र सरकार का पुतला फूंका। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने मोदी सरकार पर तानाशाही रवैया अपनाने व लोकतंत्र की आवाज दबाने का आरोप लगाया और जमकर नारेबाजी की।

कांग्रेस जिलाध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह भोज ‘गुडडू’ ने कहा कि पूर्वोत्तर राज्य मणिपुर पिछले 4 माह से भी अधिक समय से जातीय हिंसा के कारण जल रहा है। सैकड़ों लोग मणिपुर हिंसा में अपनी जान गंवा चुके है। हजारों लोग बेघर हो चुके है। सैकडों के मकान हिंसा की भेंट चढ़ चुके है। मणिपुर की हिंसा को राज्य में सत्तारूढ़ बीजेपी सरकार रोकने में हर मोर्चे पर विफल हो चुकी है।

भोज ने कहा कि देश की जनता मणिपुर की हिंसा की विफलता पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लोकसभा के भीतर जवाब मांग रही हैं। मणिपुर हिंसा पर देश के प्रधानमंत्री से कांग्रेस नेता सदन अधीर रंजन चौधरी द्वारा जवाब देने की माँग पर प्रधानमंत्री मोदी के इशारे पर लोकसभा अध्यक्ष द्वारा चौधरी को निलम्बित करना लोकतंत्र का गला घोटना जैसा अपराध हैं।

जिलाध्यक्ष भोज ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अहंकार में डूबकर देश की संसदीय लोकतंत्र की गरिमा को चोट पंहुचाकर संवैधानिक गरिमा को तार-तार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद देश मंहगाई, बेरोजगारी, महिलाओं का उत्पीड़न, किसानों का उत्पीड़न, बदहाल कानून व्यवस्था के शीर्ष में पँहुच चुका हैं। केन्द्र की मोदी सरकार कीमणिपुर की बड़ी हिंसा पर चुप्पी देश को भविष्य में विभाजन की ओर धकेल रही हैं।

कांग्रेस जिला महामंत्री (संगठन) त्रिलोचन जोशी ने कहा कि आजादी के 76वें वर्ष में विगत दिवस लोकसभा की घटना ने अंग्रेजी हुकूमत की यादों को फिर से ताजा कर दिया है। कांग्रेस नेता सदन को निलम्बित करना अंग्रेजों के काला कानून की यादों को फिर से ताजा करना जॆसी घटना है। उन्होंने कहा कि धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र की अवधारणा को कमजोर करके हिटलरशाही कानून को थोपना देश को कमजोर करने की बड़ी साजिश है।

महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष राधा बिष्ट ने कहा कि ‘बेटी बचाओ-बेटी पढा़ओ’ का राष्ट्रव्यापी नारा देने वाले देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मणिपुर हिंसा में महिलाओं, लड़कियों के साथ दुष्कर्म, बर्बरता पर जवाब नहीं देना महिला उत्पीड़न को बढा़वा देने का निंदनीय कृत्य हैं।

नगर अध्यक्ष तारा चन्द्र जोशी ने कहा कि देश के इतिहास में लोकतंत्र में विपक्ष की आवाज को दमनात्मक तरीके से दबाना केन्द्र की मोदी सरकार की सत्ता से उलटी गिनती का संदेश है। देश के प्रधानमंत्री द्वारा लोकसभा के भीतर विपक्ष के प्रश्न पर जवाब नहीं देना लोकतंत्र की मर्यादा को ठेस पहुंचाने जैसा कदम है। केन्द्र की मोदी सरकार देश में हिटलरशाही कानून पैदाकर जनता में सिर्फ डर और भय का वातावरण पैदा कर रही है। आने वाले लोकसभा चुनाव में इनको सत्ता से हटाने के लिए एकजुटता के साथ मुकाबला करना जरूरी है।

इस मौके पर ब्लाक अध्यक्ष हवालबाग देवेन्द्र सिंह बिष्ट, ब्लाक अध्यक्ष ताकुला विक्रम बिष्ट, जिला मंत्री रोहित रौतेला, जिला मंत्री सुनील कर्नाटक, सोशल मीडिया प्रदेश उपाध्यक्ष शरद चन्द्र साह, पूर्व नगर अध्यक्ष पूरन सिंह रौतेला, महिला जिला महामंत्री जया जोशी, धीरा तिवारी, तारा तिवारी, कैलाश तिवारी, मनोज बिष्ट, राजेन्द्र प्रसाद, सूबेदार अमर सिंह, अमरनाथ सिंह रावत, शहाबुद्दीन, दानिश खान, संदीप तड़ागी, नितिन रावत, छात्रसंघ उपाध्यक्ष रूचि कुटौला, ललित सतवाल, अमन लटवाल, लोकेश सुप्याल, गौरव वर्मा, प्रधान संगठन जिलाध्यक्ष धीरेन्द्र गैलाकोटी, एड. मोहन देवली, निजाम कुरॆशी, मयंक बिष्ट,विशाल साह अमित नेगी, गोलू सतवाल, अमित बिष्ट, बालविक्रम सिंह रावत, संजीव सिंह, हरेन्द्र प्रसाद, संजीव कर्मयाल, आशीष कुमार, अमित कनवाल सहित अनेक कार्यकर्ताओं मौजूद रहे।

 

हमसे whatsapp पर जुड़े

हमसे youtube पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

Check Also

Almora breaking:: दो लाख रुपए से अधिक कीमत की गांजा के साथ एक तस्कर गिरफ्तार, पढ़ें पूरी खबर

  अल्मोड़ा: मादक व नशीले पदार्थों की तस्करी करने वालों की धरपकड़ के लिए पुलिस …