Breaking News

अल्मोड़ा: अतिक्रमण कार्रवाई के विरोध में सड़क पर उतरे व्यापारी, जनप्रतिनिधियों ने दिया समर्थन

अल्मोड़ा: लोअर माल रोड में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू होते ही व्यापारी इसके विरोध में उतर आए हैं। अतिक्रमण हटाने पर रोक लगाने की मांग पर गुरुवार को व्यापारियों ने बेस में धरना प्रदर्शन किया। जहां जनप्रतिनिधियों ने व्यापारी हित में इस फैसले को लेकर सरकार से हाईकोर्ट में पैरवी करने की मांग की। वही, व्यापारी नेताओं ने कहा कि अगर जबरन व्यापारियों के प्रतिष्ठानों को नुकसान पहुंचाया गया तो वह उग्र आंदोलन करेंगे। व्यापारियों ने अतिक्रमण कार्रवाई के विरोध में अपने प्रतिष्ठान भी बंद रखें। इस दौरान भाजपा-कांग्रेस नेताओं समेत अन्य संगठनों के सदस्यों ने व्यापारियों के प्रदर्शन को समर्थन दिया।

गौरतलब है कि हाईकोर्ट के निर्देश पर मौजूदा समय में पूरे प्रदेशभर में अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई चल रही है। राष्ट्रीय हाईवे व राज्य मार्गो पर हुए अवैध अतिक्रमण को चिन्हित करते हुए ध्वस्त करने की कार्रवाई की जा रही है। शुरूआत में जब विभाग ने सल्ट, मरचूला, द्वाराहाट में अतिक्रमण कार्रवाई शुरू की तो स्थानीय व्यापारियों व अन्य लोगों ने इसका विरोध किया और जुलूस निकाले। एनएच की ओर से अब नगर क्षेत्र में चिन्हित अतिक्रमण को ध्वस्त करने की कार्रवाई शुरू कर दी है। बीते बुधवार को लोअर माल रोड में बेस क्षेत्र में अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई शुरू की तो व्यापारी भड़क उठे। मौके पर भारी विरोध के बाद कार्रवाई को रोक दिया गया। गुरुवार को इसी मामले में बेस के पास व्यापारियों ने एकजुट होकर धरना-प्रदर्शन कर नारेबाजी की।

 

इस दौरान व्यापारियों के समर्थन में भाजपा-कांग्रेस के नेताओं समेत कई जनसंगठनों के लोग पहुंचे। सभी ने व्यापारियों के​ हित में एकजुट होकर इस लड़ाई को लड़ने की बात कही। हालांकि, व्यापारियों को समर्थन देने आए भाजपा नेता धरना स्थल पर फ्रंट में आने व मोबाइल में कैद होने से बचते रहे।

 

अतिक्रमण कार्रवाई के विरोध में व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रखे। जिससे बेस अस्पताल आए मरीजों, तीमारदारों व अन्य स्थानीय लोगों को दवाईयों समेत अन्य कई जरूरी सामान उपलब्ध नहीं हो पाया। जिससे उन्हें इधर-उधर भटकना पड़ा।

विधायक मनोज तिवारी ने कहा कि प्रदेश के अंदर कई ऐसे लोग है जो अपनी दुकानों से अपनी रोजी रोटी चलाते है। लेकिन नैनीताल हाईकोर्ट ने एक आदेश दिया है कि एनएच व एसएच के किनारे अतिक्रमण को चिन्हित कर उसे तोड़ा जाए। विधायक तिवारी ने कहा कि वह हाईकोर्ट पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते लेकिन यह जनहित से जुड़ा मामला है तो सरकार से उनका अनुरोध है कि वह जनता की ओर से न्यायालय में पैरवी करे। उन्होंने कहा कि विधानसभा सत्र आहूत करके इस जनहित के फैसले को कैसे सुरक्षित रखा जाए सरकार इस पर एक आर्डिनेंस बिल लाने का प्रयास करें।

नगर व्यापार मंडल अध्यक्ष सुशील साह ने कहा कि एनएच द्वारा अतिक्रमण के नाम पर व्यापारियों व लोगों में भय का माहौल पैदा किया जा रहा है। व्यापारियों के पक्ष को नहीं सुना जा रहा है। उन्होंने कहा कि अगर विभाग का यही रूख रहा तो व्यापारी हित में उग्र आंदोलन कर इसे व्यापक रूप दिया जाएगा।

बिट्टू कर्नाटक ने कहा कि वह हाईकोर्ट के फैसले के विरोध में नहीं है लेकिन जहां किसी व्यक्ति का आशियाना व उसका रोजगार छीन ​जाए, वह इसके विरोध में है। उन्होंने लोगों से अतिक्रमण कार्रवाई के खिलाफ राजनीति को परे रखते हुए एकजुट होने व मिलकर इस संघर्ष को आगे बढ़ाने की अपील की।

धरना स्थल पर पहुंचे एसडीएम जयवर्द्धन ने कहा कि हाईकोर्ट के ​निर्णय के बाद ही अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जा रही है। पहले चरण में सिर्फ प्रतिष्ठानों से बाहर आई झाप, फर्स, सीढ़ियो व अन्य अवैध निर्माण को तोड़ने पर फोकस किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रतिष्ठान स्वामी खुद भी मौजूद रहें। उन्हीं के सामने अतिक्रमण हटाया जाएगा।

ये लोग रहे मौजूद-

क्षेत्रीय विधायक मनोज तिवारी, डीसीबी अध्यक्ष ललित लटवाल, नगर व्यापार मंडल अध्यक्ष सुशील साह, कांग्रेस जिलाध्यक्ष भूपेंद्र भोज, भाजपा नगर अध्यक्ष व सभासद अमित साह, पूर्व दर्जा राज्य मंत्री बिट्टू कर्नाटक, पूर्व प्रधान हरीश कनवाल, पूर्व ज्येष्ठ प्रमुख आनंद कनवाल, उक्रांद जिलाध्यक्ष दिनेश जोशी, प्रताप कनवाल, गजेंद्र सिंह कनवाल, बी.एस मनकोटी, भूपेंद्र सिंह कनवाल, अमन नज्जौन, प्रत्येश पांडे, मनोज सिंह बिष्ट, मनोज अरोड़ा, हर्ष कनवाल, कार्तिक साह, पुष्कर सिंह कनवाल, संदीप कनवाल, आनंद बिष्ट, नवीन चंद्र सुयाल, जगदीश नगरकोटी, दीवान सिंह कनवाल, राजेंद्र सिंह कनवाल, गोविंद सिंह, नवीन सिंह कनवाल, अर्जुन सिंह, गोधन सिंह, हरीश रावत, मुन्ना लटवाल, गोपाल बिष्ट, अर्जुन कनवाल, गिरीश लाल, महेंद्र सिंह, हितेश नेगी, कुंदन खोलिया, सुंदर कनवाल, गोविंद बिष्ट, जगत कनवाल, हरीश सिंह कनवाल, नरेंद्र सिंह, ललित कनवाल, भुवन भास्कर राठौर, राजेंद्र कनवाल, राहुल, आनंद सिंह कनवाल, विनय किरौला, मनोज सिंह कनवाल, राजेंद्र प्रसाद, मयंक बिष्ट, नासिर, नसीम अहमद, राहुल बोहरा, अरूण वर्मा, रामू कनवाल, वीरेंद्र सिंह कनवाल, प्रताप सिंह, मनीष कनवाल, सुंदर लटवाल, विपिन बिष्ट, अर्जुन बिष्ट, देब सिंह समेत कई व्यापारी मौजूद रहे।

 

हमसे whatsapp पर जुड़े

हमसे youtube पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

 

Check Also

अल्मोड़ा घनेली हादसा अपडेट: मृतक की हुई शिनाख्त, कैंटर चालक फरार… पढ़ें पूरी खबर

  अल्मोड़ा: अल्मोड़ा-ताकुला मोटर मार्ग में घनेली के पास हुए सड़क हादसे में जान गंवाने …