Breaking News

अल्मोड़ा-(बड़ी खबर): बेस अस्पताल में इलाज के दौरान 5 माह के बच्चे की मौत, कई घंटे तक हुआ हंगामा

अल्मोड़ा: राजकीय मेडिकल कॉलेज से संबद्ध बेस अस्पताल में बीती रात उपचार के दौरान एक पांच माह के बच्चे की मौत हो गई। जिससे परिजन उग्र हो गए और रातभर हंगामा काटा। परिजनों ने अस्पताल स्टाफ पर लापरवाही का आरोप लगाया है।

दरअसल, ग्राम गौड़, बानठौक निवासी चंद्रशेखर अपने 5 माह के बच्चे उत्कर्ष की तबीयत बिगड़ने पर बीते 20 सितंबर को उसे बेस अस्पताल लाए थे। डॉक्टरों ने बच्चे को अस्तपाल में भर्ती किया था। बच्चे का पीडियाट्रिक आईसीयू में उपचार चल रहा था।

बच्चे के पिता चंद्रशेखर ने बताया कि बच्चे को सर्दी जुकाम लगा था। वह उसे बेस अस्पताल उपचार के लिए लाए थे। उपचार के बाद बच्चा पहले से काफी स्वस्थ्य हो गया था। उसकी खांसी भी बंद हो गई थी। उन्होंने पीडियाट्रिक आईसीयू में तैनात स्टाफ पर आरोप लगाते हुए कहा कि रात में नर्स ने उन्हें बाहर जाने के लिए बोला। जिसके बाद वह बाहर ​चले गए। इसके कुछ देर बाद बच्चे की मौत हो गई।

अपने कलेजे के टुकड़े की मौत से मां व पिता रात भर अस्पताल में रोते बिलखते रहे। साथ में आए परिजनों ने कई घंटों तक अस्पताल में हंगामा काटा। हंगामा बढ़ते देख अस्पताल प्रबंधन को पुलिस बुलानी पड़ी।

सूचना पर बेस चौकी प्रभारी कृष्ण कुमार पुलिस टीम के साथ अस्पताल पहुंचे। एमएस डॉ. अशोक कुमार भी मौके पर अस्पताल पहुंचे। पुलिस व अस्पताल प्रबंधन के समझाने के बाद करीब चार घंटे बाद मामला शांत हुआ।

इधर, पीडियाट्रिक्स में तैनात असिस्टेंट प्रोफेसर ममता निखुर्पा ने बताया कि बच्चा पांच माह का था। जिसे गंभीर निमोनिया था। निमोनिया के साथ ही बच्चे की सांस काफी तेज चल रही थी। उम्र के हिसाब से बच्चे का वजन भी कम था। निमोनिया गाइडलाइन व प्रोटोकॉल के तहत बच्चे का उपचार किया जा रहा था। उन्होंने बताया कि सांस की गति तेज होने की वजह से ऐसा प्रतीत हो रहा है कि बच्चे को हार्ट से संबंधित कुछ समस्या रही होगी। या फिर हो सकता है हार्ट पर अधिक जोर पड़ने से बच्चे की सांसे रूक गई हो।

डॉ. निखुर्पा ने कहा कि परिजनों ने बीती रात उपचार के दौरान लापरवाही के जो भी आरोप लगाए है वह निराधार है। सभी उपचार चार्ट देख लिए गए है। बच्चा शुरू से गंभीर था। जिसके चलते उसे पहले दिन से ही पीडियाट्रिक आईसीयू में बच्चे को भर्ती किया गया था। बच्चे को माता-पिता को इसकी जानकारी दी थी।

फिलहाल मामले में पीड़ित पक्ष की ओर से पुलिस व अस्पताल प्रबंधन को कोई​ शिकायती पत्र नहीं दिया गया है।

 

हमसे whatsapp पर जुड़े

हमसे youtube पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

 

Check Also

Almora-(big breaking): बीच सड़क पर पलटा बोलेरो वाहन, पढ़ें पूरी खबर

  अल्मोड़ा: जिले में आज एक बड़ा सड़क हादसा होने टल गया। सेराघाट के पास …