Breaking News

Haldwani violence: मृतकों की संख्या, नाम समेत जाने अब तक के बड़े अपडेट्स

 

हल्द्वानीः बनभूलपुरा में बीते गुरुवार को कथित अवैध मदरसे में हुई बोलडोजर कार्यवाही के बाद हुई हिंसा में कम से कम पांच लोगो की मौत हो गई। जबकि 100 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हुए है। मृतकों में 16 व 24 साल का युवक भी शामिल है।

शुक्रवार सुबह नैनीताल की डीएम वंदना ने 2 मौतों की पुष्टि की। हालांकि, जिला प्रशासन द्वारा अब 5 मौतों की सूचना दी गई है। प्रशासन ने 5 मौतों की पुष्टि कर दी है।

हल्द्वानी के एसटीएच अस्पताल में 5 शवों का पॉस्टमॉर्टम किया गया है। जो लोग मारे गए हैं उनकी पहचान फईम 30 निवासी लाइन नम्बर 16 गांधीनगर, जाहिद उर्फ जॉनी 45 निवासी गफूर बस्ती, अनस 16 पुत्र जाहिद उर्फ जॉनी, सीवान 22 निवासी लाइन नम्बर 9 और प्रकाश 24 निवासी बाजपुर के रूप में हुई है। अभी यह साफ नहीं है कि इन लोगों की मौत कैसे हुई। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

किसी को बख्शा नहीं जाएगाः सीएम धामी

हिंसा की घटना के बाद सीएम पुष्कर सिंह धामी हल्द्वानी पहुंचे और यहां घायलों व पीड़ितों से कुशलक्षेम पूछी। साथ ही पुलिस अधिकारियों से इस मामले की जानकारी भी ली। उन्होंने कहा कि अतिक्रमण हटाने का काम कोर्ट के आदेश पर पहले से हो रहा था। लेकिन यह हमला सुनियोजित था। जिस तरह से हमारी पुलिस पर हमला हुआ है। यह बहुत ही दुख की बात है। यह देवभूमि है। इन लोगों ने कानून तोड़ा है और देवभूमि की छवि को खराब करने का काम किया है। कई पत्रकारों को भी बुरी तरह से पीटा गया है। जिस तरह से उनकी हत्या का प्रयास हुआ है। जिन लोगों ने संपत्ति जलाई है। वीडियो फुटेज के आधार पर कठोर कार्रवाई की जाएगी। वहां जो भी सामान एकत्रित किया गया था उस पर कार्रवाई होगी।

मुख्य सचिव राधा रतूड़ी व डीजीपी अभिवन कुमार ने भी हल्द्वानी पहुंच हालात का जायजा लिया। साथ ही घायलों का हालचाल जाना। वही, जिला प्रशासन व पुलिस से घटना से संबंधित अपडेट जाना।

 

18 नामजद समेत 5 हजार उपद्रवियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

बनभूलपुरा हिंसा मामले में पुलिस ने 18 नामजद समेत 5 हजार उपद्रवियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। पुलिस नुकसान का आकलन कर रही है। एक अनुमान के मुताबिक 1 करोड़ से ज्यादा का नुकसान पुलिस को हुआ है। इस बीच शहर में दूसरे शहरों से पुलिस फोर्स और पीएसी के जवानों की आमद बनी हुई है।

 

इंटरनेट के बाद टीवी का प्रसारण भी रोका

हल्द्वानी में हिंसा के बाद इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई थी। वहीं, इसके साथ ही केबल टीवी का प्रसारण भी रोक दिया गया।

पैरामिलिट्री फोर्स ने संभाला हल्द्वानी में मोर्चा

भड़की हिंसा के बाद पैरामिलिट्री फोर्स ने हल्द्वानी में मोर्चा संभाला लिया है। 6 जिलों से भारी फोर्स मंगाई गई है। वहीं पुलिस ने उपद्रवियों का चिह्नीकरण शुरू कर दिया है। कल तक सेना भी पहुंच जाएगी।

 

राज्यपाल से मिले सीएम धामी

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राजभवन में राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह से मुलाकात की। उन्होंने राज्यपाल को बनभूलपुरा की मौजूदा स्थिति के बारे में जानकारी दी।

 

पुलिस के पास पहले ही था बड़ी घटना होने का इनपुट!

हल्द्वानी में मदरसा और नमाज स्थल तोड़े जाने के बाद जिस तरह के हालत बने, उसका अंदाजा पुलिस को पहले से ही था। बताया तो यहां तक जा रहा है कि इंटेलिजेंस ने भी पुलिस को कुछ महत्वपूर्ण इनपुट दिए थे, लेकिन जिला प्रशासन और पुलिस उसे समय रहते भांप नहीं पाये। जिसका परिणाम ये हुआ कि गुरुवार रात तक हल्द्वानी में हालात बेकाबू हो गए थे और शहर जल उठा। उत्तराखंड पुलिस के प्रवक्ता आईजी नीलेश भरणे ने खुद इसकी पुष्टि की है। उत्तराखंड पुलिस के प्रवक्ता और आईजी नीलेश भरणे ने शांति व्यवस्था कायम होने के बाद इस पर अलग से जांच होने की भी बात कही है।

 

हमसे whatsapp पर जुड़े

हमसे youtube पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7Di

 

 

Check Also

बेरोजगार संघ का CM आवास कूच, पुलिस व प्रदर्शनकारियों के बीच धक्का-मुक्की

  देहरादूनः उत्तराखंड बेरोजगार संघ के बैनर तले बेरोजगारों ने शनिवार केा सीएम आवास कूच …