Breaking News
india bharat news logo
india bharat news logo

क्षेत्र की समस्याओं को लेकर SBI के एजीएम से मिले गेवाड़ विकास समिति चौखुटिया के अध्यक्ष गजेंद्र सिंह नेगी, उठाई यह मांग

 

अल्मोड़ा: गेवाड़ विकास समिति चौखुटिया के अध्यक्ष गजेंद्र सिंह नेगी ने क्षेत्र की समस्याओं को लेकर जिला मुख्यालय में क्षेत्रीय सहायक महाप्रबंधक, भारतीय स्टेट बैंक से मुलाकात की। इस दौरान उन्हें समस्याओं को लेकर अवगत कराया। जिस पर एजीएम ने शीघ्र समस्याओं के निस्तारण का आश्वासन दिया है।

समिति के अध्यक्ष गजेंद्र सिंह नेगी ने एजीएम को बताया कि भारतीय स्टेट बैंक की चौखुटिया शाखा में नया आधार कार्ड निर्माण तथा आधार कार्ड संबंधी समस्याओं के निराकरण के लिए नियुक्त कर्मचारी करीब एक माह से अनुपस्थित चल रहा है, जिस कारण नये आधार कार्ड निर्माण तथा आधार कार्ड से संबंधित समस्याओं का निराकरण नहीं हो पा रहा है। विकास खंड चौखुटिया में एकमात्र आधार कार्ड निर्माण केंद्र होने के कारण वो भी बंद होने से जनता को भारी परेशानी हो रही है।

 

 

एजीएम ने उन्हें बताया कि संबंधित कर्मचारी को ब्लैक लिस्टेड कर दिया गया है और उसे हटा दिया गया है। अब नये कर्मचारी को नियुक्त करने हेतु आधार कार्ड निर्माण संस्थान से पत्राचार किया गया है। अगले सप्ताह तक नया कर्मचारी नियुक्त हो जाएगा।

इसके अलावा अध्यक्ष गेवाड़ विकास समिति चौखुटिया ने भारतीय स्टेट बैंक की रामपुर शाखा में रखी एटीएम मशीन में बार-बार तकनीकि खराबी आने के समस्या के बारे में भी एजीएम को अवगत कराया। उन्होंने कहा कि एटीएम मशीन खराब होने से क्षेत्रीय जनता को परेशानी हो रही है, जिससे बैंक के प्रति जनता का भरोसा कम होता जा रहा है एवं नाराजगी उत्पन्न हो रही है। जिस पर एजीएम ने उन्हें बताया कि एटीएम मशीन काफी पुरानी हो चुकी है, जिसके चलते उसमें खराबी आ रही है। उन्होंने जल्द ही एटीएम मशीन को बदलकर नया एटीएम मशीन लगाने का आश्ववासन दिया है।

अध्यक्ष गजेंद्र सिंह नेगी ने क्षेत्रवासियों एवं सीमांत क्षेत्र गैरसैंणवासियों से अनुरोध किया है कि वह अपना नया आधार कार्ड निर्माण एवं निराकरण के लिए 22 मार्च 2024 के बाद भारतीय स्टेट बैंक शाखा चौखुटिया से संपर्क करें।

 

 

 

Check Also

अल्मोड़ा-(बिग ब्रेकिंग):: एक स्मैक खरीदकर लाता था तो दूसरा पुड़िया बनाकर बेचता था; लाखों रुपये कीमत की स्मैक के साथ दो तस्कर गिरफ्तार

अल्मोड़ा: पहाड़ में नशे का कारोबार तेजी से बढ़ रहा है। आलम ये है कि …