Breaking News

अल्मोड़ा संसदीय सीट पर UKD ने उपपा प्रत्याशी को दिया समर्थन, यूकेडी नेता काशी सिंह ऐरी ने किया ऐलान

 

अल्मोड़ा: लोकसभा चुनाव 2024 की तारीखों का ऐलान होते ही सियासी पारा चढ़ गया है। अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ संसदीय सीट में कुल 7 प्रत्याशी चुनावी मैदान में है। उत्तराखंड क्रांति दल का चुनाव चिन्ह फ्रीज होने के चलते यूकेडी प्रत्याशी अर्जुन कुमार देव ने अपना नामांकन वापस ले लिया था। यूकेडी ने अब इस सीट पर उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी की प्रत्याशी किरन आर्या को अपना समर्थन दिया है। उत्तराखंड क्रांति दल व उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी की संयुक्त पत्रकार वार्ता में यूकेडी के संस्थापक सदस्य व संरक्षक काशी सिंह ऐरी ने इसका ऐलान किया।

गुरुवार को नगर के एक होटल में आयोजित पत्रकार वार्ता में यूकेडी नेता काशी सिंह ऐरी ने कहा कि यूकेडी ने पौड़ी, हरिद्वार व नैनीताल सीट पर अपने प्रत्याशी चुनाव में उतारे है। जबकि अल्मोड़ा से परिवर्तन पार्टी की प्रत्याशी किरन आर्या व टिहरी से बेरोजगार संघ के अध्यक्ष बॉबी पवार का अपना समर्थन दिया हैं।

ऐरी ने कहा कि अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ संसदीय सीट पर किरन आर्या एकमात्र महिला उम्मीदवार है। जो बेहद कर्मठ व जुझारू नेत्री है। जो लंबे समय से जनसरोकारों से जुड़ी हैं। और हर जनांदोलन में भागीदारी करती है।

ऐरी ने कहा कि भाजपा-कांग्रेस ने खोखले वायदे कर उत्तराखंड की जनता को छलने का काम किया है। जिसे जनता अब अच्छी तरह समझ चुकी है। उन्होंने कहा कि सशक्त भू—काननू, स्थाई राजधानी गैरसैंण, अंकिता भंडारी हत्याकांड, महंगाई, बेरोजगारी समेत तमाम मुद्दों को लेकर वह जनता के बीच जाएंगे। और भाजपा की जनविरोधी नीतियों से जनता का अवगत कराएंगे।

ऐरी ने कहा कि अंकिता भंडारी हत्याकांड में वीवीआईपी का नाम सामने आया था। लेकिन भाजपा सरकार ने आज तक उस वीवीआईपी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। आरोपियों को बचाने के लिए सबूतों को नष्ट करने का काम किया गया।

यूकेडी नेता ऐरी ने कहा कि उत्तराखंड राज्य को बने 24 साल हो गए। लेकिन प्रदेश में बारी-बारी से राज करने वाली भाजपा—कांग्रेस गैरसैंण को स्थाई राजधानी नहीं बना पाईं। उन्होंने कहा कि कौशिक आयोग की रिपोर्ट के अनुसार उत्तराखंड की 65 प्रतिशत आबादी गैरसैंण को स्थाई राजधानी बनाने के पक्ष में थी। लेकिन भाजपा-कांग्रेस को सिर्फ चुनाव के समय गैरसैंण की याद आती हैं। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड छोटा राज्य है व आर्थिक तौर पर बहुत सक्षम नहीं है। प्रदेश दो राजधानी का बोझ नहीं सह सकता। सरकार को चाहिए कि वह गैरसैंण को स्थाई राजधानी का दर्जा दे।

उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष पी सी तिवारी ने कहा कि उपपा केवल चुनाव नहीं लड़ रही बल्कि, उत्तराखंड व हिमालय को बचाने की लड़ाई लड़ रही है। आगामी चुनाव में प्रदेश की जनता ने बड़ा बदलाव करने का मन बना लिया है।

तिवारी ने कहा कि आज उत्तराखंडी अस्मिता खतरे में है। भाजपा सरकार पहाड़ के संसाधनों को पूंजीपतियों के हवाले कर रही है। अतिक्रमण के नाम पर गरीबों के घरों पर बुलडोजर चलाया जा रहा है। लेकिन शासन-प्रशासन के नाक के नीचे पिछले 14 सालों से डांडा-कांडा में कब्जा जमाये पूर्व प्रशासनिक अधिकारी की अवैध संपत्ति पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

तिवारी ने कहा कि भाजपा-कांग्रेस ने उत्तराखंड को बर्बाद कर दिया है। राज्य को बचाने के लिए आज जनता को एकजुट होने की जरूरत है। उन्होंने जनता से आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा-कांग्रेस को इसका मुंहतोड़ जवाब देने व उपपा प्रत्याशी के पक्ष में मतदान करने की अपील की है।

पत्रकार वार्ता में यूकेडी के जिलाध्यक्ष दिनेश जोशी, उपपा की लोकसभा प्रत्याशी किरन आर्या, नारायण राम, भावना पांडे, राजू गिरी गोस्वामी आदि मौजूद रहे।

 

Check Also

breaking

Road accident:: अल्मोड़ा में सड़क हादसा, यात्रियों में मची चीख पुकार, पढ़ें पूरी खबर

-आमने-सामने टक्कर में दोनों वाहनों के आगे का हिस्सा हुआ क्षतिग्रस्त अल्मोड़ा: नगर से लगे …