Breaking News

निजी स्कूलों की मनमानी को लेकर आक्रोश, सामाजिक कार्यकर्ता विनय किरौला ने दी आंदोलन की चेतावनी

 

अल्मोड़ा: निजी स्कूलों की बढ़ती फीस, ड्रेस और महंगी किताबों की मनमानी को लेकर लोगों में आक्रोश पनपने लगा है। सामाजिक कार्यकर्ता विनय किरोला के नेतृत्व में पांच सदस्यीय डेलिगेशन जिला प्रशासन से मिला। और प्राइवेट विद्यालयों द्वारा वसूल किए जा रहे मनमाने शुल्क, ड्रेस और फीस मामले को लेकर जिलाधिकारी को संबोधित ज्ञापन सौंपा गया। सामाजिक कार्यकर्ता विनय किरौला ने मामले में कार्यवाही नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

ज्ञापन में कहा कि नए सत्र में इन दोनों विद्यालयों में प्रवेश प्रक्रिया चल रही है। निजी शिक्षण संस्थाओं द्वारा मनमाने शुल्क वसूले जाने को लेकर के अभिभावक खासा परेशान है। सामाजिक कार्यकर्ता विनय किरौला ने कहा कि पिछले एक सफ्ताह से दर्जनों अभिभावकों ने उनसे संपर्क कर बताया कि उनके साथ प्राइवेट स्कूलों द्वारा खुली लूट की जा रही है। किरौला ने कहा कि इसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। निम्न व माध्यम वर्ग के विद्यार्थियों से शिक्षा का अधिकार छीनने व विद्यार्थियों को हीनता का शिकार करने के लिए प्राइवेट स्कूल प्रबंधन अपनी मनमानी पर उतर आए हैं। उन्होंने कहा कि यदि जिला प्रशासन इस विषय पर शीघ्र कोई ठोस निर्णय नहीं लेता तो उन्हें उग्र आंदोलन करने के लिए बाध्य होना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि सभी अभिभावक उनके साथ है।

डेलीगेशन में मौजूद राष्ट्र नीति संगठन के अध्यक्ष विनोद तिवारी ने खुलेआम हो रही इस अनियमितता पर हैरानी जताई और कहा कि भारतीय संविधान के अनुच्छेद 21 (A) में 6 से 14 साल तक के बच्चों को शिक्षा का अधिकार दिया गया है और मनमाना शुल्क वसूल करना उनके मूल अधिकारों का हनन है।

इस दौरान विशाल वर्मा, गिरीश चंद्रा, के पी जोशी समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

Check Also

breaking

Road accident:: अल्मोड़ा में सड़क हादसा, यात्रियों में मची चीख पुकार, पढ़ें पूरी खबर

-आमने-सामने टक्कर में दोनों वाहनों के आगे का हिस्सा हुआ क्षतिग्रस्त अल्मोड़ा: नगर से लगे …