Breaking News
Oplus_131072

रानीधारा के बांशिदों ने निकाय चुनाव के ​बहिष्कार की दी चेतावनी, कहा- शासन-प्रशासन की उदासीनता के खिलाफ हाईकोर्ट में दायर करेंगे पीआईएल

अल्मोड़ा: रानीधारा सड़क मार्ग की बदहाली समेत कई समस्याओं से परेशान रानीधारा के लोगों के सब्र का बांध अब टूट रहा है। जल्द समस्याओं का समाधान नहीं होने पर आगामी निकाय चुनाव के बहिष्कार की चेतावनी दी है। शासन-प्रशासन की उदासीनता के खिलाफ नैनीताल हाईकोर्ट में जनहित याचिका डालने का भी मन बना लिया है।

रानीधारा नागरिक सेवा समिति द्वारा छह सूत्रीय मांगों को लेकर रानीधारा क्षेत्र के करीब 150 लोगों का हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन जिलाधिकारी विनीत तोमर को सौंपा। साथ ही स्थानीय विधायक मनोज तिवारी को भी ज्ञापन प्रेषित किया गया है।

ज्ञापन के माध्यम से दो वर्ष से सीवर लाइन एवं पेयजल लाईन के कारण क्षतिग्रस्त रानीधारा सड़क मार्ग को धार की तूनी से लेकर साईं बाबा कालॊनी तक शीघ्र जीर्णोद्धार करने, ऐतिहासिक रानीधारा नौले के संरक्षण, जीर्णोद्धार एवं पेयजल की शुद्धता की जांच करने, रानीधारा नौले के ऊपर स्थित हीराडुंगरी क्षेत्र से हो रहे कटान, मलबा एवं पानी के निकासी के लिए नौले के पास से आरसीसी नाले का शीघ्र निर्माण करने, सिंचाई विभाग के अन्तर्गत रानीधारा क्षेत्र के बंद पड़े दोनों नालों का शीघ्र निर्माण करने, सीवर खुदाई के कारण घरों में घुस रहे पानी से घरों में बड़े पैमाने से आ रही सीलन को रोकने के लिए शीघ्र धरातलीय स्तर पर जांच करके उचित एवं त्वरित उपाय करने, क्षतिग्रस्त रानीधारा सड़क मार्ग में सड़क मानकों की खुलेआम धज्जियाँ उड़ा रहे पिकअप वाहनों एवं सवारी वाहनों पर दुर्घटना की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए अविलम्ब कार्यवाही करने, क्षतिग्रस्त डेयरी विभाग से रानीधारा सड़क तक सम्पर्क मार्ग का शीघ्र निर्माण करने, रानीधारा क्षेत्र में आतंक का पर्याय बने कटखने बंदरों एंव लंगूरों को पकड़ने के लिए विशेष अभियान शुरू करने आदि मांगें उठाई गई।

समिति द्वारा विधायक मनोज तिवारी से मांगों के साथ-साथ रानीधारा सड़क मार्ग में चोरी की घटनाओं एवं महिलाओं, युवतियों के साथ छेड़खानी और उत्पीड़न की घटनाओं को रोकने के लिए तीन स्थानों पर विधायक निधि से सीसीटीवी कैमरों की स्वीकृति करने की मांग की है।

समिति के महासचिव त्रिलोचन जोशी ने बताया कि अगर शासन-प्रशासन 25 जून तक रानीधारा क्षेत्र की क्षतिग्रस्त सड़क एंव अन्य महत्वपूर्ण मांगों पर कोई कार्यवाही नहीं करता है, तो जनहित में मानवीय मूल्यों की रक्षा के लिए शासन-प्रशासन की उदासीनता के खिलाफ नैनीताल हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की जाएगी। साथ ही वृहद जनांदोलन की तैयारी की जाएगी। ज्ञापन में समिति ने मांगों पर कार्यवाही नहीं होने पर आगामी निकाय चुनाव बहिष्कार की चेतावनी दी है।

ज्ञापन देने वालों में रानीधारा नागरिक समिति के अध्यक्ष डा. अरूण पंत, महासचिव त्रिलोचन जोशी, व्यवस्थापक नरेन्द्र दरम्वाल, कोषाध्यक्ष वीरेन्द्र बिष्ट, एड. कविन्द्र पंत, कमला दरम्वाल, स्मिता जोशी, हरीश चन्द्र जोशी, राजन बिष्ट, मुकुल पंत, दीपा जोशी, विमला मठपाल, भगवती डोगरा, जानकी बिष्ट, हंसा रावत, प्रतिमा देवी, उमा अल्मियां, विजय तिवारी, राँबिन भण्डारी, संदीप दरम्वाल, प्रदीप रावत, ज्ञान बुधोडी, हरीश जोशी, नवीन पाठक, हरीश चन्द्र जोशी सहित अनेक लोगों ने मौजूद रहे।

Check Also

बिनसर हादसा अपडेट:: पल भर में खत्म हुई 4 जिंदगियां, ऐसे आग की चपेट में आए कर्मचारी.. जानिए अफसरों ने क्या कहा

अल्मोड़ा: बिनसर वन्य जीव विहार में गुरुवार शाम हुई दर्दनाक हादसे ने लोगों को झकझोर …