Breaking News
Featured Video Play Icon

Almora: हरीश रावत बोले- ‘अग्निपथ उत्तराखंड के लिए बर्बादी का पथ’.. गैरसैंण को लेकर कही यह बड़ी बात

अल्मोड़ा। केंद्र सरकार की सेना भर्ती की नई स्कीम अग्निपथ योजना को लेकर उत्तराखंड कांग्रेस भाजपा सरकार पर हमलावर है। इसी क्रम में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अग्निपथ योजना को लेकर केंद्र की भाजपा सरकार को आड़े हाथ लिया है। हरीश रावत ने कहा कि अग्निपथ योजना के माध्यम से जो अग्निवीर तैयार किए जा रहे है यह उत्तराखंड के लिए बर्बादी का पथ होगा। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना का सिपाही व एक सेवानिवृत्त सिपाही होना एक गौरव का विषय है। लेकिन अग्निपथ योजना में सैनिक को 4 साल बाद रिटायर्ड कर दिया जाएगा। जिसके बाद वह अग्निवीर के नाम से जाना जाएगा।

अग्पिपथ योजना के विरोध में शुक्रवार को हरीश रावत के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पदयात्रा निकाली। शिखर तिराहे स्थित स्व. जनरल बीसी जोशी शहीद पार्क से पंडित गोविंद बल्लभ पंत पार्क तक पदयात्रा निकाली गई। इस दौरान कांग्रेसजनों ने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। पदयात्रा के दौरान हरीश रावत ने चौघानपाटा स्थित गांधी पार्क में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर व पंडित गोविंद बल्लभ पंत की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान सभा का आयोजन किया गया। जहां कई वक्ताओं ने अपने विचार रखें। इस दौरान हरीश रावत के नेतृत्व में कांग्रेसजनों ने अग्निपथ योजना के विरोध में राष्ट्रपति के नाम संबोधित एक ज्ञापन जिला प्रशासन से सभा स्थल पहुंचे तहसीलदार कुलदीप पांडे को सौंपा।

इस दौरान पूर्व सीएम हरीश रावत ने भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला। हरीश रावत ने कहा कि उत्तराखंड एक सैन्य बाहुल्य प्रदेश है। यहां हर घर से एक युवा सरहद पर तैनात है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने अग्निपथ योजना लागू कर उत्तराखंड के नागरिकों से उनकी पहचान को छीनने का काम किया है और यहां की सैन्य परंपरा को तोड़ने का काम कर रही है।

हरीश रावत ने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार नौकरी देने के नाम पर युवाओं से झूठ बोल रही है। उन्हें गुमराह करने का काम रही है। कहा कि अगर नौकरियां है तो सरकार युवाओं को नौकरी क्यों नहीं दे रही। उन्होंने कहा कि सरकार आरक्षण देने की बात कर रही है। जबकि संविधान सम्मत जितना आरक्षण है वह पूरा हो चुका है ऐसे में सरकार आरक्षण के नाम पर युवाओं को भ्रमित कर रही है।

पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि आज देश में बेरोजगारी चरम पर है। इसलिए जाहिर से बात है कि युवा भारी संख्या में अग्निवीर के लिए आवेदन करेंगे। कहा कि कांग्रेस किसी भी युवा को अग्निवीर बनने से नहीं रोक रही वह उनका अपना निर्णय है। लेकिन कांग्रेस उत्तराख्ंड की सैन्य परंपरा, नौजवानों के भविष्य व गौरवशाली इतिहास के लिए चिंतित है।

गैरसैंण को भुलाकर इतिहास बनाना चाहती है भाजपा

उत्तराखंड की स्थायी राजधानी के सवाल पर पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि भाजपा सरकार भराणीसैंण गैरसैंण को भुलाकर उसे इतिहास बना देना चाहती है। कहा कि गैरसैंण उत्तराखंड की स्थायी राजधानी हो, यह उत्तराखंड के शहीदों व आंदोलनकारियों का सपना था। कांग्रेस सरकार के समय में गैरसैंण को लेकर कई कदम उठाएं गए। कांग्रेस सरकार ने गैरसैंण में विधानसभा भवन बनाने के साथ ही सचिवालय के लिए 55 करोड़ रूपये देने समेत कई कार्य वहां पर कराए। लेकिन बीजेपी सरकार आने के बाद गैरसैंण में कोई कार्य नहीं हुआ। हरीश रावत ने कहा कि भाजपा ने ग्रीष्मकालीन राजधानी की घोषणा तो कर दी लेकिन गैरसैंण में दो साल से न एसडीएम है न तहसीलदार है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने उत्तराखंड के शहीदों के बलिदान का मजाक किया है। लेकिन कांग्रेस शहीदों के सपनों को साकार करने के लिए स्थायी राजधानी की लड़ाई लड़ती रहेगी।

पदयात्रा में ये हुए शामिल

पूर्व राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल, विधायक मनोज तिवारी, जिलाध्यक्ष कांग्रेस पीतांबर पांडेय, नगरपालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी, नगर अध्यक्ष कांग्रेस पूरन रौतेला, निर्मल रावत, तारा चंद्र जोशी, परितोष जोशी, शोभा जोशी, गोपाल सिंह चौहान, प्रशांत भैसोड़ा, जिलाध्यक्ष महिला कांग्रेस लता तिवारी, गीता मेहरा, केवल सती, राधा बिष्ट, जया टम्टा, महिपाल प्रसाद, त्रिलोचन जोशी, मनोज सनवाल, दीवान सतवाल, धीरेंद्र गैलाकोटी, राहुल खोलिया, विपुल कार्की, देवेंद्र सिंह बिष्ट, भूपेंद्र भोज, सचिन टम्टा समेत कई कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Check Also

कुमाउं में बड़ा सड़क हादसा, पर्यटकों की कार गहरी खाई में गिरी, मची चीख-पुकार

-हादसे की जांच में जुटी पुलिस, घायलों की स्थिति गंभीर   नैनीताल: उत्तराखंड के नैनीताल …