Breaking News

अगस्त क्रांति दिवसः अल्मोड़ा की ऐतिहासिक जेल में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को किया गया याद

अल्मोड़ा। आजादी के संघर्ष की गवाह रही अल्मोड़ा की ऐतिहासिक जेल (Historical Jail of Almora) में मंगलवार को अगस्त क्रांति दिवस (august revolution day) धूमधाम से मनाया गया। इस दौरान आजादी के नायकों को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की गई। प्रत्येक वर्ष 9 अगस्त को मनाये जाने वाले अगस्त क्रांति दिवस कोरोना संक्रमण के चलते पिछले दो साल से सादगी के साथ मनाया गया। लेकिन कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम होने के चलते इस बार जेल परिसर के नेहरू वार्ड में कई रंगारंग कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।

मुख्य अतिथि मंगल दीप विद्या मंदिर की प्रबंधक मनोरमा जोशी तथा नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी, पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चौहान व उपजिलाधिकारी सदर गोपाल सिंह चौहान ने नेहरू वार्ड स्थित देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के चित्र पर दीप जलाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

ऐतिहासिक अल्मोड़ा जेल में पंडित जवाहर लाल नेहरू, बद्रीदत्त पांडे, हरगोविंद पंत, सैयद अली जहीर, खान अब्दुल गफ्फार खान, दुर्गा सिंह रावत समेत अन्य क्रांतिकारी नेता निरुद्ध रहे थे। साथ ही आाजदी की लड़ाई में अग्रणी भूमिका निभाने वाली कई महिला स्वतंत्रता संग्राम सेनानी भी इस जेल में रहे थे।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी ने कहा कि भारत छोड़ो आंदोलन की याद में प्रत्येक वर्ष 9 अगस्त को अगस्त क्रांति दिवस मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि देश की आजादी के लिए हमारे महान स्वतंत्रता सेनानियों की कुर्बानी के सम्मान को बनाए रखने हेतु सभी नागरिकों को अपने अपने कर्तव्यों का पालन करना चाहिए। उनके आदर्शों का सम्मान करना चाहिए।

पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चौहान ने कहा कि भारत की स्वतंत्रता के लिए बहुत से स्वतंत्रता सेनानियों ने बलिदान दिया है। उन्होंने कहा कि भारत आजादी की 75 वीं वर्षगांठ मानने जा रहा है। बीते 75 वर्षों से लेकर आज तक भारत ने बहुत से कीर्तिमान स्थापित किए हैं। उन्होंने कहा कि 9 अगस्त का दिन भारत छोड़ो आंदोलन की अगस्त क्रांति में अपने प्राण न्यौछावर करने वाले सैनानियों को याद करने का दिन है।

कार्यक्रम की मुख्य अतिथि मंगल दीप विद्या मंदिर की प्रबंधक मनोरमा जोशी ने कहा कि सभी को अपने ह्रदय में संकल्प लेकर देश हित के लिए कार्य करने चाहिए।

उपजिलाधिकारी गोपाल सिंह चौहान ने कहा कि प्रत्येक नागरिक अपने अपने कर्तव्यों का ईमानदारी से पालन करते हुए देश भक्ति तथा देश के विकास में योगदान दे सकता है। उन्होंने अगस्त क्रांति के नायकों तथा देश की आजादी के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर करने वाले सेनानियों को श्रद्धांजलि दी।

इस दौरान सभी वक्ताओं ने भारत छोड़ो आंदोलन के इतिहास, तत्कालीन परिस्थितियों आदि के बारे में अपने अपने विचार रखे तथा कहा कि अल्मोड़ा की जेल एक ऐतिहासिक जेल है। इस जेल से बहुत से वीर स्वतंत्रता सेनानियों का इतिहास जुड़ा हुआ है।

 

कार्यक्रम में एडम्स कॉलेज, मंगल दीप स्कूल, मानस पब्लिक स्कूल, कुर्मांचल पब्लिक स्कूल के बच्चों द्वारा सुंदर प्रस्तुतियां देकर सभी का मन मोहित किया गया। इस दौरान बच्चों ने देशभक्ति गीत, नृत्य तथा भाषण के माध्यम से समा बांधा। मंगल दीप स्कूल के मूक बधिर बच्चों ने भी देश भक्ति गीत एवं नृत्य किए।

इस दौरान कारागार प्रशासन द्वारा जेल रेडियो का आयोजन कर जेल परिसर की दिनचर्याओं के बारे में विस्तार से बताया गया। जेल अधीक्षक जयंत पांगती ने कहा कि आज परिस्थितियां पूर्व की अपेक्षा काफी बदल गई हैं। उन्होंने जेल के बारे में कहा कि यह बंदी गृह न होकर सुधार गृह है। यहां अपराधियों को स्वसुधार हेतु प्रेरित किया जाता है।

कार्यक्रम का संचालन गिरीश मल्होत्रा द्वारा किया गया। इस दौरान जिला विकास अधिकारी केएन तिवारी, जिला अस्पताल की सीएमएस कुसुमलता, तहसीलदार कुलदीप पांडे, रेड क्रॉस के चेयरमैन मनोज सनवाल, डॉ जे.सी दुर्गापाल, हयात सिंह रावत, पीसी तिवारी, एडवोकेट जमन सिंह बिष्ट समेत कई लोग मौजूद रहे।

Check Also

जीआईसी लोधिया में PTA-SMC का हुआ गठन, राजेंद्र व हरीश अध्यक्ष पद पर हुए मनोनीत

अल्मोड़ा: नगर से लगे राजकीय इंटर कालेज लोधिया में विद्यालय प्रबंधन समिति (SMC) तथा शिक्षक-अभिभावक …