Breaking News

कानूनी संरक्षण के अभाव में मारा गया जगदीश? जानिए दंपति की सुरक्षा पर क्या बोली पुलिस

अल्मोड़ाः जिले के भिकियासैंण क्षेत्र में उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी के दलित नेता की नृशंस हत्या के बाद पुलिस व प्रशासन सवालों के घेरे में है। पीड़िता गीता उर्फ गुड्डी ने बीते 27 अगस्त को अपने सौतेले बाप व भाई से खुद को तथा अपने पति को जान माल का खतरा बताते हुए पुलिस व प्रशासन से सुरक्षा की गुहार लगाई थी। बावजूद इसके दंपति के लिए सुरक्षा की कोई व्यवस्था नहीं की गई और वैसा ही हुआ जिसका विवाहिता ने अंदेशा जताया था। ठीक 6 दिन बाद जगदीश की निर्मम हत्या कर दी गई।

पीड़िता गीता के सुरक्षा और कानूनी कार्रवाई की गुहार के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। अगर बीते 27 अगस्त को आरोपितों पर कानूनी कार्रवाई हो जाती तो इतनी बड़ी घटना नहीं होती। पुलिस व प्रशासन मामले की संवेदनशीलता को समझने में ही चूक कर गई। अगर चूक नहीं करती तो जगदीश चंद्र व गीता को कम से कम पुलिस सुरक्षा तो मिल ही जाती। गीता की आशंका सच निकली। गीता के सौतेला बाप व भाई ने बीते 1 सितंबर को उसके पति जगदीश चंद्र की हत्या कर दी।

उपपा ने कार्रवाई नहीं करने का लगाया आरोप

उत्तराखण्ड परिवर्तन पार्टी ने प्रशासन व पुलिस की चूक पर गंभीर आरोप लगाए है। पार्टी ने कहा कि दंपति को सुरक्षा अब तक नहीं मिली। अगर सुरक्षा मिली होती तो शायद जगदीश की हत्या नहीं होती। उपपा के केंद्रीय अध्यक्ष पी.सी. तिवारी ने कहा कि शादी रचाने के बाद से ही प्रेमी युगल को उसके सौतेले बाप व भाई द्वारा धमकियां मिल रही थीं। वे उसे ढूंढ रहे थे। जिसके कारण पीड़िता ने 27 अगस्त को जिलाधिकारी व एसएसपी को अपनी जान माल की सुरक्षा को लेकर प्रार्थना पत्र दिया था। उन्होंने आरोप लगाया है कि प्रशासन व पुलिस ने प्रार्थना पत्र पर कोई कार्यवाही नहीं की। तिवारी ने कहा कि यह घटना बताती है कि उत्तराखंड में कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है। उन्होंने घटना की उच्च स्तरीय जांच कराने व लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों के ख़िलाफ़ तत्काल कार्रवाई की मांग की है।

पुलिस बोली राजस्व क्षेत्र का था मामला

एसएसपी प्रदीप कुमार राॅय ने बताया कि पीड़िता गीता द्वारा अपने पति जगदीश चंद्र व खुद की जान माल की सुरक्षा के लिए प्रार्थना पत्र पुलिस को दिया गया था। मामला राजस्व क्षेत्र का है। बावजूद इसके उनकी ओर से स्थानीय पुलिस को एक्टिवेट कर दिया गया था। और स्थानीय पुलिस को राजस्व पुलिस की मदद करने के निर्देश दिए गए। उन्होंने यह भी बताया कि जगदीश व उसकी पत्नी गीता के अल्मोड़ा लोकल में ठहरने की जानकारी पुलिस को नहीं थी। अगर जगदीश ने भिकियासैंण क्षेत्र में जाने से पहले पुलिस को बता दिया होता तो पुलिस द्वारा उन्हें जरूर कानूनी सुरक्षा दी जाती।

सौतेला बाप, भाई और मां गिरफ्तार

उपजिला मजिस्ट्रेट भिकियासैण शिप्रा जोशी ने बताया कि राजस्व उपनिरीक्षक क्षेत्र बगोड़ा में धारा 302, 364, 34 आईपीसी व धारा 03 (2) (5) एस.सी. एस.टी. एक्ट पंजीकृत कर गोविन्द सिंह पुत्र जोगा सिंह, पिता जोगा सिंह व माता भावना देवी निवासी ग्राम बेल्टी को गिरफ्तार कर लिया गया है। राजस्व पुलिस की पूछताछ में सौतेला पिता ने बताया उसकी बेटी गीता उर्फ गुड्डी ने दलित युवक से पिछले दिनों शादी रचा ली थी इसकी वजह से वारदात हुई है। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है।

ये है मामला-

1 सितम्बर 2022 को वादिनी कविता मनराल पत्नी श्याम सुन्दर मनराल, निवासी ग्राम इनोली हाल निवासी भिकियासैण द्वारा राजस्व उपनिरीक्षक बंगोड़ा को समय 7 बजे सूचना दी गयी कि उनके साथ जल जीवन मिशन अन्तर्गत सरकारी निर्माण कार्य के ठेके में साथ कार्य करने वाले जगदीश चन्द्र पुत्र केश राम निवासी ग्राम पनुवाद्योखन थाना भतरौंजखान उप तहसील मछोड़ एवं भगीरथ के साथ कुछ लोगों ने सेलापानी पुल के पास मारपीट की है और जगदीश चन्द्र को उठा कर ले गये है।

सूचना पर नायब तहसीलदार निशा रानी के निर्देशन में में राजस्व टीम गठित कर घटना स्थल की ओर भेजा गया। टीम द्वारा खोजबीन के दौरान ग्राम इण्डा पटवारी क्षेत्र डोब की सीमा अन्तर्गत वाहन संख्या यू.के.19टीए-0389 को रोककर पूछताछ की गयी। वाहन में जगदीश चन्द्र उपरोक्त को अचेतावस्थ में बरामद किया गया। उन्होंने बताया कि जगदीश चन्द्र को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भिकियासैण में लाया गया। जहां जांच के दौरान चिकित्सकों द्वारा उसे मृत घोषित कर दिया गया।

उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी से दो बार विधानसभा चुनाव लड़ चुके सल्ट के पनुवाद्योखन निवासी जगदीश चंद्र पुत्र केशराम और भिकियासैंण की गीता उर्फ गुड्डी ने 21 अगस्त 2022 को अल्मोड़ा गैराड़ मंदिर में प्रेम विवाह किया था। शादी से पहले गुड्डी अपने सौतेले पिता जोगा सिंह और सौतेले भाई गोविंद सिंह के साथ रहती थी। एक दलित से शादी करना उसके सौतेले भाई और पिता को रास नहीं आया और दोनों ने मिलकर जगदीश की हत्या कर दी।

 

हमसे व्हाट्सएप पर जुड़ें

https://chat.whatsapp.com/IZeqFp57B2o0g92YKGVoVz

हमसे यूट्यूब पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

Check Also

Badrinath-Mangalore by-election:: विधानसभा उपचुनाव को लेकर BJP प्रवक्ता सुरेश जोशी ने किया यह बड़ा दावा, पढ़ें पूरी खबर

अल्मोड़ा: उत्तराखंड की बद्रीनाथ व मंगलौर सीट पर उपचुनाव की तारीख नजदीक आते ही सियासी …