Breaking News

Jagdish murder case: पुलिस पर लग रहे आरोपों पर SSP ने दी सफाई, जानें क्या कहा

अल्मोड़ाः भिकियासैंण में उपपा नेता की हत्या मामले ने हर किसी को हिला केे रख दिया। मांग के बाद भी दंपति को काननूी सुरक्षा मुहैया नहीं कराये जाने पर अब पुलिस व प्रशासन पर जमकर आरोप लग रहे है। उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी समेत कई संगठनों ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए है। मामला तूल पकड़ते देख एसएसपी को प्रेस कान्फ्रेंस बुलानी पड़ी।

शनिवार को पुलिस कार्यालय में प्रेस वार्ता कर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रदीप कुमार राॅय ने कहा कि 27 अगस्त 2022 को उन्हें मृतक जगदीश की पत्नी गीता उर्फ गुड्डी का पत्र प्राप्त हुआ था। पत्र में दो पते थे, जो भतरौंजखान क्षेत्र के थे। जिस कारण पत्र को भतरौंजखान थाना पुलिस को भेजा गया था। मामले में भतरौंजखान इंस्पेक्टर द्वारा जांच की गई तो नव दंपति पत्र में लिखे गए दोनों पते पर नहीं मिले। पुलिस द्वारा लगातार संपर्क किया जा रहा था। ताकि दंपति से संपर्क होने पर उन्हें सुरक्षा मुहैया कराई जा सके।

एसएसपी राॅय ने कहा बीते 1 सितंबर 2022 को उनके फोन पर दो काॅल आई। जो कि नारायण राम व पी.सी तिवारी की काॅल थी। फोन पर उन्हें बताया गया कि नारायण राम के घर पर दूसरे पक्ष के कुछ लोग गए है। जिस पर तत्काल एक्शन लेते हुए पुलिस को एक्टिव किया गया। और सुरक्षा की दृष्टि से नारायण राम के घर पर गाॅर्ड को तैनात किया गया। एसएसपी ने कहा कि इसी मामले में एक शिकायती पत्र भी उन्हें प्राप्त हुआ था। जिस पर तत्काल एक्शन लिया गया और मामले में कोतवाली अल्मोड़ा में एफआईआर दर्ज कराई गई।

एसएसपी ने कहा कि इसी दौरान उन्हें भतरौंजखान क्षेत्र से एक युवक के अपहरण होने की सूचना मिली। जिसके बाद तुरंत रेगुलर पुलिस को मौके पर भेजा गया। जबकि मामला राजस्व क्षेत्र का था। और रेगुलर पुलिस द्वारा राजस्व पुलिस को युवक की तलाशी के लिए पूरी मदद की गई।

सीओ अल्मोड़ा को सौंपी जांच

एसएसपी प्रदीप कुमार राॅय ने कहा कि इस प्रकरण में पुलिस ने पूरी मुस्तैदी से अपना काम किया। अगर इसके बाद भी अगर किसी स्तर पर कोई लापरवाही हुई है तो उसकी जांच कराई जा रही है। एसएसपी ने सीओ अल्मोड़ा विमल प्रसाद को मामले का विवेचनाधिकारी नियुक्त किया है।

सीओ रानीखेत करेंगे जगदीश हत्याकांड की जांच

जगदीश हत्याकांड मामले में राजस्व पुलिस ने बीते शुक्रवार को मुकदमा दर्ज कर लिया था। मामले में राजस्व पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया है। एसएसएपी प्रदीप कुमार राय ने बताया कि विवेचना अब राजस्व पुलिस से रेगुलर पुलिस को स्थानांतरित कर दी गई है। सीओ रानीखेत तिलक राम वर्मा को मामले की विवेचना सौंपी गई है। वही,सीओ रानीखेत तिलक राम वर्मा ने फाॅरेंसिक टीम व पुलिस बल के साथ आज सेलापानी भिकियासैंण रोड घटनास्थल का निरीक्षक किया और जरूरी साक्ष्य जुटाए।

 

हमसे व्हाट्सएप पर जुड़ें

https://chat.whatsapp.com/IZeqFp57B2o0g92YKGVoVz

हमसे यूट्यूब पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

 

Check Also

कुमाउं में बड़ा सड़क हादसा, पर्यटकों की कार गहरी खाई में गिरी, मची चीख-पुकार

-हादसे की जांच में जुटी पुलिस, घायलों की स्थिति गंभीर   नैनीताल: उत्तराखंड के नैनीताल …