Breaking News

अल्मोड़ा-(बड़ी खबर): वन विभाग की टीम की ताबड़तोड़ छापेमारी, अब इस फैक्ट्री में मारा छापा, भारी मात्रा में लीसा बरामद

अल्मोड़ा: जिले में वन विभाग के नियमों के विरूद्ध अवैध लीसे का खेल जोरों से चल रहा है। शिकायत पर वन विभाग की टीम ने देवलीखान स्थित एक फैक्ट्री में छापेमारी की। जहां भारी मात्रा में लीसा, वार्निस, तारपीन तेल व बिरोजा बरामद हुआ है। टीम द्वारा फैक्ट्री में स्टॉक का मिलान व रिकॉर्ड खंगाले जा रहे है। इधर वन विभाग की इस कार्रवाई के बाद लीसा कारोबारियों में हड़कंप मचा हुआ है।

दरअसल, व​न विभाग को लंबे समय से लीसा फैक्ट्रियों में वन विभाग के मानकों के खिलाफ अवैध लीसा एकत्रित किए जाने की शिकायत मिल रही थी। वन प्रभाग अल्मोड़ा की टीम ने देवलीखान स्थित एक लीसा फैक्ट्री में अचानक छापेमारी की। जहां भारी मात्रा में लीसा, वार्निस, तारपीन व बिरोजा पाया गया।

डीएफओ महातिम यादव ने बताया कि देवलीखान स्थित लीसा फैक्ट्री में स्टॉक का मिलान कार्य जारी है। साथ ही कागजों व अभिलेखों की जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि स्टॉक अधिक मात्रा में होने के चलते मिलान कार्य में समय लग रहा है।​ रिकॉर्ड के मिलान व दस्तावेजों की जांच के बाद ही स्टॉक से संंबंधित सही जानकारी मिल सकेगी। जांच के बाद ही मामले में अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि बीते मंगलवार को सिविल सोयम वन प्रभाग की टीम ने धौलादेवी स्थित अर्जुन वार्निस लीसा फैक्ट्री में छापेमारी की थी। छापेमारी के दौरान फैक्ट्री से अवैध लीसे की बड़ी खेप बरामद हुई थी। फैक्ट्री का निरीक्षण करने पर टीम को 496 टिन लीसा व 195 टिन बिरोजा बरामद हुआ। फैक्ट्री के स्टॉक में भी कई गड़बड़िया पाई गई। रेंज कार्यालय के रिकॉर्ड के अनुसार फैक्ट्री में 275 टिन अवैध लीसा व 6 ड्रम तारपीन तेल अवैध पाया गया था। जांच के बाद वन विभाग ने फैक्ट्री को सीज कर दिया था।

इधर वन विभाग की ताबड़तोड़ कार्रवाई से लीसा कारोबारियों में हड़कंप मचा हुआ है। डीएफओ महातिम यादव ने बताया कि छापेमारी की कार्यवाही आगे भी जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि नियमों के विरूद्ध कार्य करने वालोंं को कतई बख्शा नहीं जाएगा। ऐसे लोगों के खिलाफ वन अधिनियम के तहत आवश्यक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

 

 

हमसे व्हाट्सएप पर जुड़ें

https://chat.whatsapp.com/IZeqFp57B2o0g92YKGVoVz

हमसे यूट्यूब पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

Check Also

धौलछीना हादसा अपडेट: हादसे में जान गंवाने वाली महिला व घायलों के नाम सामने आएं, पढ़ें पूरी खबर

-प्राथमिक उपचार के बाद तीनों घायलों को हायर सेंटर रेफर किया, पूजा पाठ के लिए …