Breaking News
binsar accident
binsar accident

बिनसर हादसा:: मृतकों व घायलों के परिजनों से मिली कैबिनेट मंत्री रेखा आर्य, जानिए मंत्री ने क्या कहा

अल्मोड़ा: बिनसर में बीते दिनों हुए दर्दनाक हादसे के बाद मृतकों के गांव में मातम पसरा हुआ है। महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्य ने सोमवार को वनाग्नि से जान गंवाने वाले मृतकों व घायलों के परिजनों से मुलाकात की। पीड़ित परिवारों के प्रति शोक संवेदनाएं प्रकट करते हुए हर संभव मदद का भरोसा दिया। उन्होंने मृतक और घायल वनकर्मियों के परिजनों को आर्थिक सहायता राशि के चेक वितरित किए।

मंत्री रेखा आर्य ने कहा कि सीएम पुष्कर सिंह धामी द्वारा बिनसर में हुई घटना का तुरंत संज्ञान लेते हुए घायलों को एम्स दिल्ली रेफर करने के साथ ही उचित मुआवजा दिया गया। साथ ही दोषी अधिकारियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की गई।

मंत्री ने मृतक और घायल वनकर्मियों के परिजनों को राज्य सरकार के आर्थिक सहायता राशि के चेक वितरित किए। साथ ही मृतक पीआरडी जवान के परिजनों को 1.50 लाख और घायल पीआरडी जवान के परिजनों को 50 हजार की आर्थिक सहायता राशि के अतिरिक्त चेक भी वितरित किए। उन्होंने डीओ पीआरडी प्रशांत कुमार चौहान को निर्देश दिए कि घायल पीआरडी स्वयं सेवक कुंदन सिंह नेगी को उनके इलाज की अवधि तक पूरा वेतन दिया जाए। मंत्री ने कहा कि मृतक पीआरडी जवान के आश्रित को मृतक आश्रित कोटे से नौकरी दी जाएगी।

इस दौरान प्रमुख वन संरक्षक कपिल जोशी, वन संरक्षक विनय भार्गव, डीएफओ सिविल सोयम वन प्रभाग हेम चन्द्र गहतोड़ी, तहसीलदार अल्मोड़ा ज्योति धपवाल, वन क्षेत्राधिकारी मनोज सनवाल, भाजपा जिला महामंत्री धर्मेंद्र बिष्ट, प्रदेश मंत्री भाजपा अनुसूचित मोर्चा नरेंद्र आगरी आदि मौजूद रहे।

 

ये है मामला-

बीते 13 मई की शाम को बिनसर वन्यजीव विहार में जंगल की आग बुझाने पहुंचे वन विभाग के एक वन बीट अधिकारी, दो फायर वाचर समेत चार लोगों की जलकर मौत हो गई थी। जबकि चार गंभीर हैं। जिनका दिल्ली एम्स में उपचार चल रहा है। आग इतनी विकराल थी कि फायर वाचरों और पीआरडी के जवानों को इससे बचने का मौका तक नहीं मिला। वन विभाग के अधिकारियों को टीम के जंगल में फंसे होने की जानकारी मिली तो वन क्षेत्राधिकारी मनोज सनवाल और अन्य कर्मचारी मौके पर पहुंचे। तब तक चार लोगों की मौत हो चुकी थी।

इनकी हुई मौत-

वनाग्नि में वन बीट अधिकारी बिनसर रेंज त्रिलोक सिंह मेहता (40) पुत्र नारायण सिंह, निवासी उडलगांव बाड़ेछीना, दैनिक श्रमिक दीवान राम (35) पुत्र पदी राम निवासी ग्राम सौड़ा कपड़खान, फायर वाचर करन आर्या (21) पुत्र बिशन राम निवासी भेटुली कफड़खान और पीआरडी जवान पूरन सिंह (50) पुत्र दीवान सिंह निवासी ग्राम कलौन की मौके पर ही मौत हो गई।

ये हुए घायल-

फायर वाचर कृष्ण कुमार (21) पुत्र नारायण राम निवासी ग्राम भेटुली, पीआरडी जवान कुंदन सिंह नेगी (44) पुत्र प्रताप नेगी निवासी ग्राम खांखरी वाहन चालक भगवत सिंह भोज (38) पुत्र बची सिंह निवासी ग्राम भेटुली, दैनिक श्रमिक कैलाश भट्ट (54) पुत्र बद्रीदत्त भट्ट निवासी ग्राम धनेली, अल्मोड़ा गंभीर रूप से झुलस गए।

Check Also

police

Uttarakhand:: दारोगा पर महिला पटवारी से गाली गलौज करने का आरोप, डीएम ने बैठाई जांच, जानिए पूरा मामला

इंडिया भारत न्यूज डेस्क: उत्तराखंड पुलिस के एक सब इंस्पेक्टर पर महिला पटवारी के साथ …