Breaking News

अच्छी खबर: अल्मोड़ा में ग्रामीण एंबुलेंस सेवा शुरू… ग्रामीणों को घर के पास ही मिलेगी चिकित्सा सेवा

नेशनल हार्ट इंस्टिटयूट के सहयोग से उत्तरायण फाउण्डेशन ने की शुरूआत

अल्मोड़ा: उत्तरायण फाउण्डेशन(Uttarayan Foundation) ने जिले में पहली बार ग्रामीण एम्बुलेंस सेवा(Rural Ambulance Service) शुरू कर दी है। नेशनल हार्ट इंस्टिटयूट नई दिल्ली के सहयोग से एम्बुलेंस आपके द्वार नामक इस सेवा को चिकित्सक के साथ गांव-गांव भेजने की योजना है।

उत्तरायण फाउण्डेशन के सचिव महिपाल पिलख्वाल(Mahipal Pilkhwal, Secretary, Uttarayan Foundation) ने बताया कि बीते 2 माह पहले से इस सेवा का ट्रायल शुरू किया गया। अब विधिवत रूप से दक्ष चिकित्सक डाॅ. मुकेश चंद्र भट्ट के नेतृत्व में चिकित्सा टीम के साथ यह एम्बुलेस बसोली और काफलीगैर क्षेत्र में गई। कपड़खान क्षेत्र में दिनेश पिलख्वाल, गोविंद सिंह पिलख्वाल, खडक सिंह पिलख्वाल, कुंदन भण्डारी, हर्ष पिलख्वाल, नंदन सिंह, गंगाराम, सुरेश सिंह, भीम राम, निखिल, प्रताप सिंह भोज, पुष्कर देवड़ी आदि ने इस सेवा का स्वागत किया और इसे रवाना किया।

इस अवसर पर कपड़खान में 18 लोगों को स्वास्थ्य लाभ दिया गया। इसके बाद बसौली में 10 व काफलीगैर में 35 से अधिक लोगों को स्वास्थ्य लाभ दिया गया। करीब 5 दर्जन से अधिक लोगों की चिकित्सक डाॅ. भटट द्वारा जांच कर उन्हें आवश्यक दवाएं दी गई।क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों ने भी ग्रामीण स्वास्थ्य सेवाओं को देखते हुए इस सेवा का स्वागत किया।

सचिव पिलख्वाल ने बताया कि उत्तरायण फाउण्डेशन की अब प्रत्येक रविवार को उत्तरायण चिकित्सालय के स्थान पर ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर कैंप लगाने की योजना हैं। माह के प्रथम रविवार को पनुवानौला, दन्या मार्ग, द्वितीय रविवार को बसौली, काफलीगैर, तृतीय रविवार को धौलछीना सेराघाट व चौथे रविवार को लमगड़ा विकासखण्ड के विभिन्न क्षेत्रों में यह हेल्थ वेन जाकर ग्रामीणों को यथा स्थान चिकित्सा सेवा देगी।

कैंपों में लोगों को आकस्मिक उपचार के तरीके, खान पान, विभिन्न जाॅचों के साथ गुणवत्तापूर्ण दवा देने का प्रयास किया जा रहा है। कैंप शुल्क मात्र 20 रुपये रखा गया है और दवाएं व जांच निशुल्क किए जा रहे हैं।

उन्होंने बताया कि आक्सीजन, वायरल जाॅच, एक्स-रे आदि सुविधाओं से हेल्थ वेन को लैस किया गया है। आने वाले समय में इसे और आधुनिक और इमेरजेंसी रेस्पांस सिस्टम से जोड़ने की योजना है।

उन्होंने बताया कि अल्मोड़ा में हिमालयन मेडिकल सेंटर और उत्तरायण हाॅस्पिटल, पपरसैली में लगातार ओपीड़ी सेवाओं की व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि अल्मोड़ा सेंटर में टेलीमेडिसन की सेवा भी जो कोविड संकट काल में स्थगित की गई थी को दोबारा शुरू किया जा रहा है। इसके अलावा एनएचआई प्रमुख डाॅ. ओ.पी यादव भी समय-समय पर यहां आकर स्वयं लोगों को स्वास्थ्य लाभ देंगें।

 

 

हमसे व्हाट्सएप पर जुड़ें

https://chat.whatsapp.com/IZeqFp57B2o0g92YKGVoVz

हमसे यूट्यूब पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

Check Also

कुमाउं में बड़ा सड़क हादसा, पर्यटकों की कार गहरी खाई में गिरी, मची चीख-पुकार

-हादसे की जांच में जुटी पुलिस, घायलों की स्थिति गंभीर   नैनीताल: उत्तराखंड के नैनीताल …