Breaking News

भू माफियाओं के खिलाफ लड़ी जाएगी आर पार की लड़ाई

अल्मोड़ा: ‘भू माफिया भगाओ पहाड़ बचाओ’ को लेकर नगरपालिका के स्व. विजय जोशी सभागार में खुली बैठक हुई। जिसमें प्रदेश सरकार पर भू माफियाओं की आपराधिक गतिविधियों पर तुरंत प्रभावी रोक लगाने की मांग की गई और चेतावनी दी गई कि यदि सरकार ने उत्तराखंड की जमीनों व प्राकृतिक संसाधनों पर बाहरी पूंजीपतियों, माफियाओं के कब्जे करने पर लगाम नहीं लगाई तो उत्तराखंड की जनता को आर पार की लड़ाई लड़ने को मजबूर होना होगा।

उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी, सालम समिति, भूमि बचाओ संघर्ष समिति फलसीमा एवं उत्तराखंड छात्र संगठन की ओर से संयुक्त रूप से आयोजित इस बैठक को संबोधित करते हुए उपपा के केंद्रीय अध्यक्ष पी.सी तिवारी ने कहा भू माफियाओं को सरकार और राजनीतिक दलों के प्रत्यक्ष और परोक्ष समर्थन और कथित जनप्रतिनिधियों की रहस्यमय चुप्पी के कारण आज उत्तराखंड गंभीर संकट में फंस गया है। इससे मुक्ति के लिए सरकार व समाज को कठोर निर्णय लेने की जरूरत है।

सालम समिति के अध्यक्ष राजेंद्र रावत ने कहा सौर ऊर्जा के नाम पर बाहर की तमाम कंपनियां भोले भाले ग्रामीणों को बहला कर, साम दाम दण्ड भेद और दबंगई से बड़े पैमाने पर जमीनें हथिया रही हैं।

बैठक में फलसीमा, चितई, सालम व तमाम गांवों व उत्तराखंड में भूमाफियाओं की बढ़ती गतिविधियों पर चिंता व्यक्त करते हुए सरकार से राज्य में भूमि बंदोबस्त करने, सरकार की अनुमति का दुरुपयोग कर बड़े-बड़े निर्माण करने वाली संस्थाओं की संपत्तियों को जब्त करने की मांग की गई।

बैठक में राज्य में बेनाप जमीनों को ग्राम समाज को सौंपने, भाजपा के त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार द्वारा कृषि भूमि की असीम खरीद करने वाले काले कानून को निरस्त करने, उत्तराखंड को संविधान की धारा 371 का संरक्षण प्रदान करने, गोल खातों, बे बंटवारा जमीनों को लेकर कब्जा करने की साजिशों को तत्काल रोकने की मांग की गई।

बैठक में प्लीजेंट वैली फाउंडेशन की आपराधिक गतिविधियों की उच्च स्तरीय जांच करने, ए.बी. प्रेमनाथ एवं केंद्रीय गृह मंत्रालय में अपने प्रभाव का दुरुपयोग करने वाले तत्वों के खिलाफ उच्च स्तरीय जांच करने की मांग की गई।

बैठक में महिला कल्याण संस्था की रीता दुर्गापाल, पुष्पा सती, बाल प्रहरी के संपादक उदय किरौला, जागेश्वर के कौस्तुभानंद भट्ट, फलसीमा के बलवंत सिंह, मदन मोहन सिंह, दीवान सिंह, विनोद सिंह बिष्ट ने भू माफियाओं की गतिविधियों के खिलाफ एकजुट होने की अपील की।

इस मौके पर डॉ. जे.सी दुर्गापाल ने कहा कि भू माफियाओं को मदद कर रहे सरकारी कर्मचारियों को भी चिन्हित कर बेनकाब करना चाहिए।

बैठक में उपपा की चंपा सुयाल, हेमा पांडे, मोहम्मद साकिब, धीरेंद्र मोहन पंत एवं उपपा के केंद्रीय महासचिव एडवोकेट नारायण राम ने कहा कि भूमाफिया भगाओ पहाड़ बचाओ आंदोलन को तेज करने की जरूरत है।

कार्यक्रम में उत्तराखंड छात्र संगठन की भावना पांडे, दीपांशु पांडे, लमगड़ा के प्रताप सिंह बगडवाल समेत वरिष्ठ पत्रकार प्रकाश पांडे, ममता चौहान, उलोवा के दया कृष्ण कांडपाल समेत बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।

 

हमसे व्हाट्सएप पर जुड़ें

https://chat.whatsapp.com/IZeqFp57B2o0g92YKGVoVz

हमसे यूट्यूब पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

Check Also

Big news

उत्तराखंड-(बड़ी खबर): 46 महाविद्यालयों के लिए 5 करोड़ की धनराशि स्वीकृत

  देहरादून: प्रदेश के 46 राजकीय महाविद्यालयों में संचालित विभिन्न विषयों की प्रयोगशालाएं नवीन उपकरणों …