Breaking News

बागेश्वर हादसा अपडेट: पल भर पहले मौज, और फिर मौत… मातम में बदली ‘जन्मदिन’ की खुशियां

इंडिया भारत न्यूज डेस्क: जिंदगी का कोई भरोसा नहीं। कभी सेहत का रिस्क तो कभी कोई दुर्घटना या लापरवाही मौत का कारण बन जाती है। सूरज, गबर व उसके साथी बर्थडे मनाने खुशी-खुशी घर से निकले थे। लेकिन एक छोटी सी लापरवाही ने चंद मिनट में जन्मदिन की खुशियों को मातम में बदल दिया।

बागेश्वर जिले के गरुड़ तहसील के मेगडी, पटवारी क्षेत्र पिंगलो में शुक्रवार को तालाब में नहाने के दौरान दो युवकों की मौत हो गई। यह दोनों युवक नरसिंह मंदिर के निकट तालाब में नहाने उतरे थे। नहाने के दौरान दोनों डूब गए और उनकी मौत हो गई। मृतकों की पहचान सूरज गुसाई (28) पुत्र बलबीर सिंह व गबर सिंह (28) गुसाई पुत्र मनोहर सिंह के रूप में हुई है। दोनों चमोली जिले के थराली क्षेत्र के ग्राम तुगेश्वर हरचंद के रहने वाले थे।

बताया जा रहा है कि 16 जून यानि आज सूरज का जन्मदिन था। बर्थडे सेलिब्रेट करने के लिए सूरज अपने चार अन्य दोस्तों के साथ पिकनिक मनाने यहां आया था। बर्थडे के जश्न को लेकर सभी दोस्त काफी खुश थे। तालाब में नहाने से पहले सभी नरसिंह मंदिर में दर्शन के लिए गए। जिसके बाद सभी ने तालाब में नहाने की प्लानिंग की। जिसके बाद पांचों तालाब में नहाने उतर गए। गहराई का अंदाजा नहीं होने पर सूरज व गबर डूबने लगे। दोस्तों ने उन्हें बचाने की कोशिश की लेकिन वह उन्हें नहीं बचा पाए। दोस्तों के चिल्लाने की आवाज सुन आस पास के ग्रामीण मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों ने किसी तरह दोनों को तालाब से बाहर निकाला। लेकिन तब तक उनकी सांसे थम चुकी थी।

जहां चंद मिनट पहले जन्मदिन की खुशियां थी, इस घटना के बाद वहां मातम पसर गया। परिजनों को जब घटना की सूचना मिली तो कोहराम मच गया। मृतकों के गांव में मातम पसरा हुआ है। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

ये भी पढ़ें

कुमाऊं-(बिग ब्रेकिंग): पिकनिक मनाने आए 2 युवकों की तालाब में डूबने से मौत, प्रशासन व पुलिस टीम मौके ​के लिए रवाना

 

तहसीलदार बागेश्वर दीपिका आर्या ने बताया कि मृतक सूरज का जन्मदिन मनाने के लिए पांचों दोस्त यहां आए थे। जिसमें सूरज व गबर की तालाब में डूबने से मौत हो गई। जबकि तीन अन्य युवक सुरक्षित है। उन्होंने बताया कि सूरज व गबर गांव में ही दुकान चलाते थे।

तहसीलदार दीपिका ने बताया कि पंचायतनामा की कार्यवाही के बाद शवों को पोस्टमार्टम के लिए बागेश्वर जिला अस्पताल भेजा गया हैं। आज रात में ही दोनों शवों का पोस्टमार्टम होगा। जिसके बाद शव परिजनों को सौंप दिए जाएंगे। इधर, मृतकों के स्वजन बागेश्वर पहुंच चुके हैं।

प्रशासन व पुलिस की चेतावनी के बाद भी अक्सर कई लोग खासतौर पर युवा नदी, तालाब व नालों का रूख करते है। लेकिन लोगों की यह जिद उनकी जिंदगी में भारी पड़ जाती है और एक छोटी सी लापरवाही मौत की वजह बनती है।

 

हमसे whatsapp पर जुड़े

हमसे youtube पर जुड़ें

Check Also

leopard 1

अल्मोड़ा में गुलदार ने शख्स पर किया अटैक, 200 मीटर तक घसीट कर ले गया गुलदार, लोगों ने ऐसे बचाई जान

  अल्मोड़ा: प्रदेश में मानव-वन्यजीव संघर्ष की घटनाएं थम नहीं रही है। खूंखार जंगली जानवर …