Breaking News

Almora: नगरपालिका की बोर्ड बैठक में सभासदों का हंगामा, चैयरमैन बोले- पालिका की हालत अत्यंत नाजुक

अल्मोड़ा: नगरपालिका सभागार में गुरुवार को आयोजित बोर्ड बैठक हंगामेदार रही। जनहित की समस्याओं का समाधान नहीं होने व अतिक्रमण पर कोई कार्रवाई नहीं किए जाने का आरोप लगाते हुए कई सभासदों ने बैठक का ​बहिष्कार कर दिया। जिसके बाद बहिष्कार करने वाले सभासदों ने सभागार के बाहर जमकर नारेबाजी। बोर्ड बैठक के दौरान कई प्रस्ताव पास हुए।

पालिकाध्यक्ष प्रकाश चन्द्र जोशी की अध्यक्षता में नगर पालिका परिषद की मासिक बैठक आहूत की गई। जिसमें माह जून व जुलाई 2023 के आय-व्यय का विवरण सदन के समक्ष प्रस्तुत किया गया।

अधिशासी अधिकारी द्वारा सदन में बताया गया कि वन विभाग द्वारा बन्दरों को पकड़ने व नगरपालिका परिषद द्वारा आवारा गोवंश को गो-सदन ज्योली भेजने की कार्यवाही शुरू कर दी गई है।

बैठक में सदन द्वारा अधिशासी अधिकारी, कर निरीक्षक को निर्देश दिये गये कि पालिका द्वारा स्थाई निवास प्रमाण पत्र व भवन कर की नकल एवं भवन मानचित्र की प्रमाणित प्रति जारी करने से पूर्व बकाया भवन कर के ऐरियर की समस्त राशि जमा करने के बाद ही जारी करें, साथ ही भवन नामांकन से पूर्व ही बकाया भवन कर जमा करवाये जाने के भी निर्देश दिये गये।

ये प्रस्ताव हुए पास

सदन द्वारा बरसात के मौसम को देखते हुए डेंगू मच्छर की रोकथाम व नियंत्रण के लिए दवाई व कैमिकल (रसायन) खरीदे जाने, ठोस अपशिष्ठ कार्य हेतु कार्य योजना तैयार करने, पथ प्रकाश (स्ट्रीट लाईट) की व्यवस्था हेतु उपयोग किये जा रहे पोलों पर नम्बरिंग कर पंजिका तैयार करने, पं0 दीनदयाल उपाध्याय पार्क में ओपन जिम लगवाये जाने, हाईस्कूल व इण्टर मीडिएट के मेघावी छात्रों एवं बॉडी बिल्डर शुभम मेहरा को सम्मानित करने आदि प्रस्ताव पास किए गए।

बैठक में पालिकाध्यक्ष प्रकाश चन्द्र जोशी, सभासद दीपा साह, दीप्ती सोनकर, आशा रावत, राजेन्द्र तिवारी, हेम चन्द्र तिवारी, जगमोहन विष्ट, तरन्नुम बी, रेखा अल्मियां तथा अधिशासी अधिकारी भरत त्रिपाठी एवं पालिका के समस्त अनुभागाध्यक्ष मौजूद रहे।

सभासदों ने किया बोर्ड बैठक का बहिष्कार

बोर्ड बैठक के दौरान कुछ सभासदों ने जमकर हंगामा काटा और बोर्ड बैठक का बहिष्कार कर जमकर नारेबाजी की। लक्ष्मेश्वर वार्ड से सभासद अमित साह ने कहा कि रानीधारा सड़क, ग्रेस स्कूल के सामने की दीवार लम्बे समय से क्षतिग्रस्त है लेकिन कई बार चेताने के बाबजूद नगरपालिका आंखें मूंदे बैठी है। बीते दिनों तेज तेज बारिश से लोगों के घरों में, स्थानीय नौले में मलबा और पानी घुस गया। लेकिन नगरपालिका के अधिकारियों ने अभी तक रानीधारा जाकर देखने की जहमत तक नहीं उठाई। उन्होंने कहा कि आज साढ़े चार साल बीत जाने के बाद भी स्थितियां जस की तस हैं। शहर के अधिकांश हिस्सों में अतिक्रमण हुआ है लेकिन जिम्मेदार कोई कार्रवाई नहीं कर रहे। उन्होंने कहा कि यदि नगरपालिका ने प्रशासन के साथ कल रानीधारा क्षेत्र का दौरा नहीं किया तो वे धरना देने को बाध्य होंगे।

बहिष्कार करने वालों में लक्ष्मेश्वर वार्ड से सभासद अमित साह, बद्रेश्वर वार्ड के सभासद मनोज जोशी, मुरली मनोहर वार्ड की सभासद दीप्ति सोनकर, दुगालखोला की सभासद आशा रावत, एनटीडी वार्ड के सभासद सौरभ वर्मा, सेलाखोला वार्ड की सभासद दीपा साह के अलावा नामित सभासद दीपक वर्मा व अर्जुन बिष्ट आदि शामिल रहे।

पालिका की ​वित्तीय स्थिति अत्यंत नाजुक: जोशी

नगरपालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी ने कहा कि वर्तमान में नगरपालिका परिषद की स्थिति बड़ी दयनीय है। कर्मचारियों को पेंशन व वेतन देने के लिए बजट तक नहीं है। उन्होंने कहा कि पिछले साल की 15वें वित्त की टाइड व अनटाइड दोनों मदों की किस्त अभी तक पालिका को नहीं मिल पाई है। वर्ष 2023 के सात माह बीत चुके है, बावजूद इसके इस वर्ष की किस्त नहीं मिली है। ऐसे में कैसे विकास कार्य होंगे। उन्होंने कहा कि हाल यह है कि पिछले साल आपदा से हुए नुकसान के क्षतिग्रस्त रास्तों की मरम्मत तक नहीं हो पाई है। पालिका इस ओर लगातार प्रयासरत है। शासन व केंद्र को कई बार पत्राचार किया जा चुका है। लेकिन मामले का संज्ञान नहीं लिया जा रहा है।

 

हमसे whatsapp पर जुड़े

हमसे youtube पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

 

Check Also

leopard 1

अल्मोड़ा में गुलदार ने शख्स पर किया अटैक, 200 मीटर तक घसीट कर ले गया गुलदार, लोगों ने ऐसे बचाई जान

  अल्मोड़ा: प्रदेश में मानव-वन्यजीव संघर्ष की घटनाएं थम नहीं रही है। खूंखार जंगली जानवर …