Breaking News

नहीं रहे ‘स्पिन के जादूगर’ शेन वॉर्न.. शेन वॉर्न की वह एक गेंद जिसे देख दुनिया रह गई थी हैरान

डेस्क। दुनिया के बेहतरीन स्पिनरों में शुमार आस्ट्रेलिया के दिग्गज शेन वॉर्न का 52 साल की उम्र में निधन हो गया। उनके निधन से क्रिकेट जगत समेत उनके प्रशंसकों में शोक की लहर है। उनके निधन पर भारत समेत दुनियाभर के क्रिकेटरों ने दुख जताया है।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक शेन वॉर्न थाइलैंड के कोह समुई में अपने विला में अचेत अवस्था में पाए गए। उनकी मौत की वजह हार्ट अटैक बताया जा रहा है। स्पिन के जादूगर शेन वार्न का जन्म 13 सितंबर 1969 को विक्टोरिया (आस्ट्रेलिया) में हुआ था और आज 4 मार्च 2022 को उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया।

मुरलीधरन के बाद सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड—

वॉर्न के नाम श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन के बाद सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड है। उन्होंने 1992 से 2007 तक 145 टेस्ट मैच खेले थे, जिसमें उन्होंने 25.41 की गेंदबाज़ी औसत से 708 विकेट लिये। मुरलीधरन ने टेस्ट में 800 विकेट लिए थे। 1993 से 2005 तक वॉर्न ने 194 वनडे में 293 विकेट लिये। 1999 क्रिकेट विश्व कप की विजेता ऑस्ट्रेलियाई टीम में उनका अहम योगदान था। वॉर्न मुरलीधरन के बाद दुनिया के दूसरे गेंदबाज बने थे, जिन्होंने टेस्ट और वनडे मैचों को मिलाकर 1000 से अंतरराष्ट्रीय विकेट लिए।

ये गेंद थी बॉल ऑफ द सेंचुरी

30 साल पहले मैनचेस्टर में इंग्लैंड के खिलाफ एशेज सीरीज के टेस्ट मैच में इंग्लैंड के बल्लेबाज माइक गैटिंग को क्लीन बोल्ड कर वार्न ने दुनिया को चौंका दिया था। वार्न द्वारा फेंकी गई जादुई गेंद गैटिंग के ऑफ स्टंप को हिट करने के लिए 90 डिग्री मुड़ी थी। इस गेंद ने दुनिया में तहलका मचा दिया था।
एक इंटरव्यू में शेन वार्न ने कहा था कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि वह ऐसी गेंद भी फेंक सकते हैं। उन्होंने कहा कि वह सिर्फ लेग ब्रेक गेंदबाजी करने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन गेंद 90 डिग्री घूम गई। वह अविश्वसनीय था। वॉर्न ने ‘बॉल ऑफ द सेंचुरी’ को भी अपनी जिंदगी का सबसे खास पल बताया था।

Check Also

Almora breaking:: वन रेंजर की कार दुर्घटनाग्रस्त, बड़ा हादसा टला, ऐसे बची दो लोगों की जान

अल्मोड़ा: जिले में सड़क हादसों का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है। वन क्षेत्राधिकारी की …