Breaking News

दूसरे दिन भी हड़ताल पर रहे डाक कर्मचारी, अल्मोड़ा मंडल में इतने करोड़ का लेनदेन हुआ प्रभावित

अल्मोड़ा। केंद्रीय नेतृत्व के आह्वान पर डाक विभाग के कर्मचारियों ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। अल्मोड़ा मंडल से जुड़े कर्मचारियों ने आज यहां माल रोड स्थित प्रधान डाकघर के परिसर में प्रदर्शन किया। इस दौरान कर्मचारियों ने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। अल्मोड़ा मंडल के कर्मचारियों के हड़ताल में जाने के बाद जहां अल्मोड़ा व बागेश्वर के कई डाकघरों में कार्य ठप पड़ गया है वही, लोगों को भी खासा दिक्क्तों का सामना करना पड़ रहा है।

जिला मुख्यालय स्थित प्रधान डाकघर में प्रदर्शन कर कर्मचारियों ने केंद्र सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों का खुलकर विरोध किया। साथ ही सरकार को चेताते हुए कहा कि जल्द ही कर्मचारियों की मांगों को लेकर उचित निर्णय नहीं लिया तो सरकार को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

बताते चले कि 14 सूत्रीय मांगों को लेकर डाक विभाग में कार्यरत ग्रामीण डाक सेवक, पोस्टमैन व समूह ग के कर्मचारी दो दिवसीय हड़ताल पर है। अल्मोड़ा मंडल के दो जिलों अल्मोड़ा व बागेश्वर के 1260 कर्मचारी हड़ताल पर है। हड़ताल के चलते अल्मोड़ा प्रधान डाकघर व रानीखेत डाकघर दोनों बंद है। इसके अलावा दोनों जिलों के 51 उप डाकघरों में से 49 उप डाकघर व 418 शाखाओं में से 282 शाखाओं में कार्य पूरी तरह बंद है। बागेश्वर के कमेड़ीदेवी व बैजनाथ उप डाकघर के अलावा 136 शाखाओं में काम जारी है।

प्रदर्शन करने वालों में अध्यक्ष एआईपीईयू गोविंद सिंह, पोस्टमैन एमटीएस यूनियन के अध्यक्ष प्रकाश सिंह राणा, जीडीएस यूनियन के अध्यक्ष भुवन चंद्र सिंह नेगी, सचिव जय गिरी गोस्वामी, महेंद्र नाथ गोस्वामी, बीपी डंगवाल, शंकर लाल, विशाल साह, ठाकुर सिंह बगड़वाल, भुवन लोहनी, भूपाल सिंह मेहता, दर्शन सिंह, मनोज सिंह, पिंकी आर्य, भवानी गुंज्याल, अमृता, हिमानी बंगारी, बीना जोशी समेत कई कर्मचारी मौजूद थे। सभा की अध्यक्षता हरीश सिंह कोरंगा व संचालन गिरजा शंकर पांडे ने किया।

यह कार्य हुए प्रभावित—

डाक कर्मचारियों की हड़ताल में जाने से डाकघरों, उप डाकघरों व शाखाओं में सभी कार्य प्रभावित हुए है। जिसमें स्पीड पोस्ट, बचत का लेनदेन, पासपोर्ट सेवाएं, रेलवे, आधार, सीएचसी से जुड़े कार्य समेत अन्य कार्य ठप पड़े है।

साढ़े 3 करोड़ का लेनदेन प्रभावित

डाक कर्मचारियों की दो दिवसीय हड़ताल से ​विभागीय सेवाएं ठप पड़ी है। अल्मोड़ा मंडल में भी करोड़ों का लेन देन प्रभावित हुआ है। सहायक डाक अधीक्षक सुशील वर्मा के मुताबिक दो दिवसीय हड़ताल से अल्मोड़ा मंडल (अल्मोड़ा व बागेश्वर) में करीब साढ़े तीन करोड़ का लेन देन प्रभावित हुआ है।

ये है मांगें—

डाकघरों में पांच दिन का कार्य सप्ताह लागू किया जाए
पुरानी पेंशन योजना लागू किया जाए
जीडीएस कर्मचारियों के लिए ​गठित कमलेश चंद्र कमेटी की बाकी सभी सिफारिशें लागू की जाए
फिनेकल तथा सैप सर्वर की क्षमता बढ़ायी जाए
कोविड संबंधी मुद्दों का शीघ्र निस्तारण
18 माह के देय महंगाई भत्तों के भुगतान पर रोक को खत्म किया जाए
डाक लेखा कार्यालयों के विकेंद्रीकरण को बंद किया जाए
सर्किल आ​फिस एवं एसबीसीओ के सहायकों का डाक सहायक कैडर में विलय के प्रस्ताव को समाप्त किया जाए
एमससीपी प्रोन्नति के लिए वैरी गुड बेंच मार्क को खत्म किया जाए
आरएमएस के ट्रांजिट सेक्सन को फिर शुरू करो
एल 2 मेल कार्यालयों को बंद तथा विलय करना बंद करो
अव्यवहारिक व्यावसायिक लक्ष्य देना बंद करो

Check Also

binsar accident

बिनसर हादसा:: मृतकों व घायलों के परिजनों से मिली कैबिनेट मंत्री रेखा आर्य, जानिए मंत्री ने क्या कहा

अल्मोड़ा: बिनसर में बीते दिनों हुए दर्दनाक हादसे के बाद मृतकों के गांव में मातम …