Breaking News
Big news
Big news logo

अब रेगुलर पुलिस करेगी दलित दूल्हे को घोड़ी से उतारने मामले की जांच.. SSP ने इस अधिकारी को किया जांच अधिकारी नामित

अल्मोड़ा। सल्ट तहसील के थला तडिय़ाल मौडाली में दलित दूल्हे को घोड़ी से उतारने की कोशिश मामले की जांच अब रेगुलर पुलिस करेगी। राजस्व पुलिस ने यह मामला अब सिविल पुलिस को हस्तांतरित कर दिया है। एसएसपी प्रदीप कुमार रॉय ने मामले की जांच के लिए सीओ रानीखेत को जांच अधिकारी नामित किया है।

दरअसल, सल्ट तहसील के ग्राम थला तड़ियाल( मैडाली) निवासी दर्शन लाल ने तहसील में ज्ञापन दिया था। जिसमें उन्होंने कहा कि बीते 2 मई को उनके पुत्र विक्रम कुमार का विवाह था। उनका आरोप है कि बारात प्रस्थान के वक्त लगभग साढ़े 4 बजे थला तड़ियाल गांव के मझबाखली तोक के सवर्ण जाति के कुछ महिलाओं और कुछ पुरुषों द्वारा दूल्हे को अनुसूचित जाति का होने के कारण घोड़े से जबरन उतारने और बारात रोके जाने की कोशिश की गई। यही नही उनका आरोप है कि उनके द्वारा जाति सूचक शब्दो का इस्तेमाल कर यह धमकी दी गयी कि अगर बारात नहीं रोकी गयी तो, सभी बारातियों को कफल्टा कांड की तरह जान से मार दिया जाएगा। दर्शन लाल ने इस मामले में सल्ट एसडीएम , अल्मोड़ा डीएम , एससी-एसटी आयोग, उत्तराखंड राज्यपाल से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक शिकायती पत्र भेजकर आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग की थी।

ये भी पढ़ें-

अल्मोड़ा- (बड़ी खबर): दलित दूल्हे को घोड़ी से उतारने का आरोप, पीएम मोदी से की शिकायत

इस मामले के सामने आने के बाद प्रशासन से लेकर शासन तक हड़कंप मच गया। मामले में उत्तराखंड अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष मुकेश कुमार ने भी डीएम और कप्तान को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। बीते बुधवार को राजस्व पुलिस टुकरा (सल्ट) द्वारा तारा देवी पत्नी कुबेर सिंह, जिबुली देवी पत्नी रमेश सिंह, रुपा देवी पत्नी शिव सिंह, भगा देवी पत्नी आनन्द सिंह, मना देवी पत्नी रतन सिंह, कुबेर सिंह पुत्र मुकुंद सिंह, निवासी मझबाखली, ग्राम सभा थला मनराल, सल्ट के विरुद्ध धारा 504 506 आईपीसी, 3(X), 3(XIV) SC/ST एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया था। लेकिन अब तक किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

ये भी पढ़ें-

अल्मोड़ा ब्रेकिंग- ​दलित दूल्हे को घोड़ी से उतारने का मामला, पांच महिलाओं समेत 6 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

गुरुवार यानि आज मामले को अब रेगुलर पुलिस को हस्तांतरित कर दिया गया है। एसएसपी प्रदीप कुमार राय ने बताया कि राजस्व पुलिस ने बीती बुधवार को ही मुकदमा दर्ज कर लिया था। पूरे प्रकरण की जांच अब रेगुलर पुलिस को मिल गई है। एसएसपी ने बताया कि मामले की जांच के लिए सीओ रानीखेत तपेश चंद्र को जांच अधिकारी नामित किया है। सीओ को निष्पक्ष जांच के निर्देश दिए है।

Check Also

अल्मोड़ाः जयंती पर भाजपाईयों ने गांधी-शास्त्री को किया नमन, चलाया स्वच्छता अभियान

🔊 इस खबर को सुने अल्मोड़ाः राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 153 जयंती तथा देश के …