Breaking News

शिक्षक सचिन टम्टा के निधन पर जताया शोक

अल्मोड़ा: हवालबाग विकासखंड के राजकीय प्राथमिक विद्यालय, बसगांव में तैनात शिक्षक सचिन टम्टा के आकस्मिक निधन पर विद्यालय में शोक सभा का आयोजन किया गया। आयोजित शोकसभा में बड़ी संख्या में पहुंचे ग्रामीणों ने दो मिनट का मौन रखकर उनके आत्मा की शांति की कामना की। उससे पूर्व उनके चित्र पर श्रद्धासुमन अर्पित कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई।

इस दौरान बसगांव निवासी मोहन चन्द्र काण्डपाल ने कहा कि स्व. टम्टा का निधन ग्रामीणों के लिए बड़ी क्षति है। अपने व्यवहार व कार्यो से उन्होंने लोगों के दिलो पर एक अलग छाप छोड़ी। जिसे शायद ही गांव का कोई व्यक्ति कभी भुला सकता है। लोगों के लिए वह गांव के एक सदस्य जैसे थे। अचानक उनके निधन से ग्रामीण स्तब्ध है।

ग्राम प्रधान बाला दत्त काण्डपाल ने कहा कि स्व. टम्टा ने एक शिक्षक के रूप में अपनी भूमिका बखूबी निभाई। साथ ही गांव के हर व्यक्ति के साथ उनके अच्छे संबंध रहे। गांव के सभी कार्यो में वह बढ़चढ़ कर हिस्सा लेते थे।

इस मौके शिक्षक प्रदीप मेहता, लीलाधर काण्डपाल, भुवन चन्द्र भटृ, शंकर दत्त भटृ, रमेश चन्द्र काण्डपाल, नन्दा बल्लभ काण्डपाल, सुरेश काण्डपाल, हरीश काण्डपाल, जगदीश भटृ, खीमा नन्द भट्ट, विनोद काण्डपाल, भाष्कर काण्डपाल, दयाकिशन काण्डपाल, चन्द्रमणी काण्डपाल, कृष्ण भटृ, ख्याली राम भटृ, माया देवी, गीता देवी, भगवती देवी, कमला देवी, जानकी देवी, आनन्दी देवी, बिमला देवी, दीपा देवी, मुन्नी देवी, गीता, दीपा, पूजा समेत अन्य कई ग्रामीण मौजूद रहे।

भीम राव अम्बेडकर आयोजन समिति ने जताया शोक

शिक्षक सचिन टम्टा के निधन पर भीम राव अम्बेडकर आयोजन समिति ने शोक व्यक्त किया है। समिति के अध्यक्ष एडवोकेट अखिलेश टम्टा ने कहा कि सचिन टम्टा के निधन से समाज को जो क्षति पहुंची है उसकी भरपाई नहीं हो सकती।

शोक व्यक्त करने वालो में भूपाल कोहली, दिगपाल प्रसाद, महेंद्र प्रकाश, प्रकाश चंद्र आर्य, राजेंद्र प्रसाद, किशन लाल, रघुवीर प्रसाद, सुभाष चन्द्र, नवीन चंद्र आर्य, राहुल कुमार, नवीन चंद्र, मनोज कुमार आदि शामिल है।

Check Also

ADR report

ADR की रिपोर्ट में खुलासा, राज्यसभा चुनाव के 36 फीसदी उम्मीदवारों का क्रिमिनल रिकॉर्ड, इतने अरबपति

नई दिल्ली: चुनाव से जुड़े तथ्यों का अध्ययन करने वाली संस्था- एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स …