Breaking News

नवनियुक्त कुलपति प्रो. ​एस.एस बिष्ट ने संभाला पदभार, कहा- विवि में मैनपॉवर की कमी को दूर करने का करेंगे प्रयास, बताईं ये प्राथमिकताएं

 

अल्मोड़ा: अल्मोड़ा: सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय, अल्मोड़ा के नवनियुक्त कुलपति प्रोफेसर सतपाल सिंह बिष्ट ने शुक्रवार को विधिवत रूप से पदभार ग्रहण कर लिया है। विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन पहुंचने पर प्राध्यापकों ने उनका पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया।

मीडिया से बातचीत में कुलपति प्रो. सतपाल बिष्ट ने कहा कि विश्वविद्यालय को शैक्षणिक व शोध के रूप में उन्नत करना उनकी पहली प्राथमिकता होगी। अच्छी गुणवत्ता के शोध, शिक्षण कार्य व खेल गतिविधियां इस विश्वविद्यालय में हो, इस पर उनका पूरा फोकस रहेगा। ताकि विश्वविद्यालय को राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय पटल पर एक पहचान मिल पाए। उन्होंने कहा कि प्रवेश, परीक्षा व परिणाम तीनों में तालमेल किया जाएगा। ताकि तीनों चीजें एक तय समय पर हो।

विश्वविद्यालय में मैनपॉवर की कमी के सवाल पर कुलपति प्रो. बिष्ट ने कहा कि सोबन सिंह जीना परिसर साल 2012 में जब से अविभाजित कुमाउं विश्वविद्यालय का हिस्सा था तब से आज तक पिछले 11 सालों से यहां पर कोई भर्ती नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि वह कोशिश करेंगे की जल्द ही विश्वविद्यालय में शिक्षकों व कर्मचारियों की भर्ती पूरी पारदर्शिता के साथ हो। इसके लिए शासन स्तर पर जो भी कार्य होंगे उसके लिए प्रयास किए जाएंगे।

 

एसएसजे परिसर पहुंचने पर कुलपित प्रो.एस.एस बिष्ट का स्वागत करते प्राध्यापक

 

कुलपति ने कहा कि गुणवत्तापरक शिक्षा, विश्वविद्यालय में सूचना एवं प्रौद्योगिकी को दुरूस्त किया जाएगा। कार्यालयों को पेपरलैस बनाया जाएगा। भविष्य में होने वाली नैक विजिट के लिए तैयारिया एवं प्रयास किए जाएंगे। शिक्षकों के कैरियर एडवांसमेंट स्कीम की प्रक्रिया को पूर्ण किया जाएगा। शिक्षकों के समायोजन के लिए प्रयास किए जाएंगे। व्यावसायिक शिक्षा को बढ़ावा दिए जाने के लिए मूलभूत संसाधनों को शिक्षक, कर्मी आदि के सहयोग से पूर्ण किया जाएगा।

कुलपति प्रो. बिष्ट ने कहा कि विश्वविद्यालय को उत्कृष्ट शोध एवं अकादमिक केंद्र के रूप में स्थापित करना, राष्ट्रीय शिक्षा नीति के व्यावहारिक क्रियान्वयन के लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग एवं राज्य सरकार के शासनादेशों के समग्र अध्ययन के बाद छात्र केंद्रित पाठ्यक्रमों का संचालन, विश्वविद्यालय की कार्यप्रणाली को डिजिटाइज करते हुए विश्वविद्यालय के कार्य पारदर्शिता एवं तत्परता से अधिनियमों एवं परिनियमों के अनुरूप निष्पादित करना, विश्वविद्यालय के परीक्षा ढांचे को सुधारते हुए छात्रों के परीक्षाफल एवं उपाधियों को तत्परता से उपलब्ध करवाना, राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (नैक) तथा एनआईआरएफ रैंकिग (राष्ट्रीय संस्थागत रैंकिग फ्रेम वर्क) में विश्वविद्यालय की वर्तमान स्थिति को बेहतर करने के लिए इनोवेशन और इनक्यूबेशन की कार्य संस्कृति को प्रोत्साहित करना, विश्वविद्यालय के परिसरों में शिक्षक एवं कार्मिकों के समायोजन के लंबित प्रक्रिया आदि कार्य उनकी प्राथमिकताओं में रहेंगी।

एसएसजे परिसर के निवर्तमान कुलपति प्रो. जगत सिंह बिष्ट ने कुलपति प्रो. सतपाल सिंह बिष्ट को विश्वविद्यालय से संबंधित विविध जानकारियां दी। कार्यभार ग्रहण करने से पूर्व कुलपति प्रो. बिष्ट द्वारा एसएसजे परिसर स्थित स्व. सोबन सिंह जीना की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। जहां संगीत विभाग के विद्यार्थियों ने उनका स्वागत किया।

कार्यभार ग्रहण के दौरान निर्वतमान कुलपति प्रो. जगत सिंह बिष्ट, परीक्षा नियंत्रक डाॅ. मुकेश सामंत, परिसर निदेशक प्रो. प्रवीण सिंह बिष्ट, पूर्व परीक्षा नियंत्रक प्रो. सुशील कुमार जोशी, प्रो. नीरज तिवारी, डाॅ. महेंद्र राणा, ​सेवानिवृत्त प्रोफेसर डॉ. देवसिंह पोखरिया, प्रो. इला साह, डाॅ. ममता असवाल, शिक्षा संकायाध्यक्ष प्रो. भीमा मनराल प्रो. सोनू द्विवेदी, वैयक्तिक सहायक कुलपति विपिन जोशी, प्रकाश सती, त्रिलोक सिंह बिष्ट, देवेंद पोखरिया, आनंद बिष्ट, गोविंद मेर, आलोक वर्मा, डाॅ. हेमचंद्र दुबे, डाॅ. हेमचंद्र पांडे, डाॅ. धनी आर्या, डाॅ. बलवंत कुमार, डॉ. ललित जोशी आदि सहित विश्वविद्यालय के अधिकारी, समस्त शिक्षक, कर्मचारी एवं छात्र मौजूद रहे।

 

हमसे whatsapp पर जुड़े

हमसे youtube पर जुड़ें

https://youtube.com/channel/UCq06PwZX3iPFsdjaIam7DiA

Check Also

अल्मोड़ा-(बड़ी खबर):: अराजक तत्वों ने शिक्षा के मंदिर में लगाई आग, ग्रामीणों की सूझ-बूझ से टला बड़ा हादसा, जानिए पूरा मामला

अल्मोड़ा। स्कूल शिक्षा का पवित्र मंदिर माना जाता है। जहां देश के भविष्य का निर्माण …