Breaking News

आनन्द बल्लभ उप्रेती स्मृति समारोह: पत्रकार चंदन बंगारी सहित 12 लोग ‘आनन्दश्री सम्मान’ से सम्मानित

 

हल्द्वानी: वरिष्ठ कथाकार, पत्रकार स्व. आनन्द बल्लभ का 11वां स्मृति समारोह रविवार को पीलीकोठी स्थित हरगोविन्द सुयाल इण्टर कालेज के केशव सभागार में आयोजित किया गया। साथ ही ‘हिमालयी संस्कृति और लला जसुली’ विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस मौके पर अमर उजाला, उधम सिंह नगर जिले के ब्यूरो चीफ चंदन बंगारी समेत जन सरोकारों से जुड़े 12 लोगों को आनन्दश्री सम्मान से नवाजा गया।

रेलवे के उच्चाधिकारी रहे मंगल सिंह कुटियाल व उच्च शिक्षा उत्तराखण्ड के निदेशक डा. सी.डी.सूंठा व अतिथियों ने दीप जलाकर राष्ट्रीय संगोष्ठी का शुभारम्भ किया। आयोजन सचिव डा.पंकज उप्रेती, फली सिंह दताल, धीरज उप्रेती ने सभी अतिथियों का स्वागत किया।

 

 

समारोह की अध्यक्षता कर रहे उच्च शिक्षा उत्तराखण्ड के प्रथम निदेशक प्रोफेसर पी.सी. बाराकोटी, मुख्य अतिथि मंगल सिंह गर्ब्याल, राम सिंह धर्मशक्तू सहित वक्ताओं ने वरिष्ठ कथाकार पत्राकार स्व. आनन्द बल्लभ उप्रेती का स्मरण करते हुए कहा कि उन्होंने निडरता के साथ जनपक्षीय पत्रकारिता की और हिमालय की संस्कृति के लिये कभी समझौता नहीं किया। साथ ही दारमा घाटी की महान दानवीरांगना जसुली बूढ़ी शौक्याणी का स्मरण करते हुए उनके द्वारा बनवाई गई धर्मशालाओं को संरक्षित करने और पड़ावों की प्रचीन परम्पराओं को संजोए रखने की अपील की। शोध पत्र वाचकों ने ‘भोटिया पड़ाव’ शब्द की सार्थकता को बनाए रखने की बात कही।

संगोष्ठी के विषय ‘हिमालयी संस्कृति और लला जसुली’ पर अपने व्याख्यान में राजकीय महाविद्यालय मालधन, रामनगर के प्रोफेसर जी.सी. पन्त ने कहा कि, भारतवर्ष में आर्यों के आगमन के पूर्व से शौका समुदाय करीब पूर्व वैदिक काल से हिमालय की गोद में भीषण तम भौगोलिक परिस्थितियों में भी न केवल अपना अस्तित्व बनाए रख सका बल्कि अपनी गौरवमयी अतीत की सांस्कृतिक धरोहर को संरक्षित रखने में भी सपफल रहा है।

इन्हें मिला ‘आनन्दश्री सम्मान’-

पत्रकार इलेक्ट्रानिक मीडिया भूपेश रावत, विनोद काण्डपाल, पत्रकार प्रिन्ट मीडिया संदीप मेवाड़ी, मोहन भट्ट व चन्दन बंगारी, डा. सी.डी.सूंठा, निदेशक उच्चशिक्षा उत्तराखण्ड, सहा. आयुक्त सेलटेक्स बागेश्वर अशोक गर्ब्याल, अध्यक्ष भू.पू. सैनिक वेलपफेयर सोसाइटी बेरीनाग लक्ष्मण सिंह डांगी, सेनि. अधकारी एवं जनसरोकारों से जुड़े राम सिंह सोनाल, लोक संस्कृति संरक्षण में अग्रणीय जीवन सिंह सीपाल, ऐतिहासिक फोटो संकलक चन्द्र सिंह सीपाल, प्रोफेसर दीपा गोबाड़ी।

 

 

ये लोग रहे मौजूद-

समारोह में प्रो.चन्द्रा खाती, डा.अनीता जोशी, देवेन्द्र सिंह धर्मशक्तू, मनोहर सिंह मर्तोलिया, गोपाल सिंह मर्तोलिया, डा. आशा हर्बोला, डा. जयश्री भण्डारी, डा. मीना राणा, एनसी तिवारी, प्रोफेसर अतुल जोशी, राजेन्द्र प्रसाद पांडेय, प्रोफेसर एचडी , तिवारी, डा. जेसी जोशी, डा. विक्रम सिंह राठौर, डा. सुमन कुमारी, डा. कल्पना साह, अशोक जोशी, डा. निर्मला जोशी, डा. पूनम रौतेला, डा. रोमा साह, गीता उप्रेती, आरती उप्रेती, हरीश पंत, जगमोहन रौतेला, भुवन कांडपाल आदि मौजूद रहे।

 

Check Also

Good news:: अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज में जल्द शुरू होगा ब्लड बैंक… ब्लड के साथ प्लाज्मा, प्लेटलेट्स की भी मिलेगी सुविधा

अल्मोड़ा: अल्मोड़ा मेडिकल कालेज के अधीन बेस अस्पताल में जल्द ब्लड बैंक शुरू होने की …